Friday, Dec 6 2019 | Time 19:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जल और हरियाली के बिना जीवन की परिकल्पना बेमानी : नीतीश
  • अविनाश खन्ना हरियाणा और गोवा प्रदेशाध्यक्षों के चुनाव हेतु पर्यवेक्षक नियुक्त
  • वित्त आयोग ने वर्ष 2020-21 के लिए रिपोर्ट वित्त मंत्री को सौंपी
  • आदि महोत्सव में 20 करोड़ रुपए की बिक्री
  • संवाद से रखी जाती है बेहतर भविष्य की नींव : मोदी
  • अजहरुद्दीन के नाम पर स्टैंड का अनावरण
  • कारागार सुधार गृह हैं, इन्हें अपराध का गढ़ नहीं बनने दिया जाएगा:योगी
  • लालू की जमानत याचिका खारिज
  • राहत नहीं मिलने पर बंद हो सकती वोडाफोन आइडिया : बिरला
  • खट्टर का सात दिसम्बर को गुरूग्राम दौरा, देंगे अनेक परियोजनाओं की सौगात
  • विशेष अभियान में दो इन्सास राइफल समेत भारी मात्रा में कारतूस बरामद
  • छोटे कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों के पुलिस स्टेशन अव्वल
  • क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के सीईओ मोरोए निलंबित
  • कच्चे तेल में नरमी से रुपया मजबूत
  • एक्सपायरी इंजेक्शन से महिला की मौत पर परिजनों ने नर्सिंग होम में की तोडफोड़
मनोरंजन


सिनेमा धर्म जाति और नस्ल से परे: अमिताभ

पणजी 21 नबम्बर (वार्ता) सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने कहा है कि तेजी से विखंडित होती दुनिया में केवल सिनेमा ही एक ऐसा माध्यम है जो लोगों को आपस मे बांधे रख सकता है क्योंकि सिनेमा भाषा,जाति, धर्म और नस्ल से परे होता है।
दादा साहब फाल्के अवार्ड के लिए चयनित बिग बी ने अपनी फिल्मों के पुनरावलोकन का उद्घाटन करते हुए यह टिप्पणी की। कल से यहां शुरू हुए 50 वां दादा साहब फाल्के अवार्ड में श्री बच्चन की छह फिल्में दिखाई जा रही हैं। पुनरावलोकन का आगाज़ उनकी ‘पा’ फ़िल्म से हुआ।
श्री बच्चन ने दादा साहब फाल्के अवार्ड के लिए सरकार के प्रति धन्यवाद व्यक्त करते हुए कहा कि वह इस प्रतिष्ठित सम्मान को प्राप्त करके कृतज्ञ महसूस कर रहे हैं।उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा लग रहा है कि वह इस सम्मान के वास्तविक हकदार नही हैं फिर भी लोगों के प्यार को देखते हुए इस पुरस्कार ले रहे हैं। उन्होंने सिनेमा को विश्वव्यापी माध्यम बताते हुए कहा,“जब हम एक बन्द हाॅल में अंधेरे में बैठकर सिनेमा देखते हैं तो बगल में बैठे व्यक्ति की जाति नस्ल को भूल जाते हैं। सिनेमा भी भाषाओं के बंधन से परे होता है।”
उन्होंने कहा,“सिनेमा एक ऐसा माध्यम है जो तेजी से विखंडित होती दुनिया को बचाने का काम करता है ओर लोगों को जोड़कर रखता है। हमें शांतिप्रिय दुनिया बनाने के लिये के दूसरे का हाथ थामे आपस मे मिलकर रहना होगा।”उन्होंने कहा कि वह ऐसी फिल्में बनाएंगे जो लोगों को जोड़कर रखें। श्री बच्चन ने फ़िल्म समारोह की तारीफ करते हुए कहा कि यह 50 वां समारोह है। हर साल इसके डेलिगेट्स की संख्या बढ़ती जा रही है।वह इसके सुंदर आयोजन के लिए सरकार को बधाई देते हैं। पुनरावलोकन में उनकी ‘दीवार’, ‘शोले’ ‘पीकू’ ‘बदला’ और ‘ब्लैक’ फिल्में भी दिखाई जाएगी।
अविन्द आशा
वार्ता
More News
रणवीर ने अर्जुन को पानीपत के लिये दी शुभकामनायें

रणवीर ने अर्जुन को पानीपत के लिये दी शुभकामनायें

06 Dec 2019 | 11:01 AM

मुंबई, 06 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह ने अपने दोस्त अर्जुन कपूर को उनकी फिल्म ‘पानीपत’ के लिये शुभकामनायें दी है।

see more..
‘आज कल’ का लास्ट सीन शूट कर भावुक हुए कार्तिक आर्यन

‘आज कल’ का लास्ट सीन शूट कर भावुक हुए कार्तिक आर्यन

06 Dec 2019 | 10:55 AM

मुंबई, 06 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता कार्तिक आर्यन अपनी आने वाली फिल्म ‘आज कल’ का लास्ट सीन शूट करने के दौरान भावुक हो गये।

see more..
ऋषि कपूर ने रणबीर का निक नेम नहीं रखने की वजह बताई

ऋषि कपूर ने रणबीर का निक नेम नहीं रखने की वजह बताई

06 Dec 2019 | 10:48 AM

मुंबई, 06 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर का कहना है कि उन्हें निक नेम अच्छे नहीं लगते हैं इसलिये उन्होंने अपने बेटे रणबीर कपूर का निक नेम नहीं रखा।

see more..
बाबा साहब का किरदार निभाना ईश्वर का उपहार: जवादे

बाबा साहब का किरदार निभाना ईश्वर का उपहार: जवादे

05 Dec 2019 | 10:58 PM

लखनऊ, 05 दिसम्बर (वार्ता) बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के किरदार को छोटे पर्दे पर जीवंत करने का मौका मिलने को मराठी टीवी आर्टिस्ट प्रसाद जवादे ईश्वर का उपहार मानते है।

see more..
अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनायी शेखर कपूर ने

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनायी शेखर कपूर ने

05 Dec 2019 | 11:16 AM

मुंबई 05 दिसंबर (वार्ता) शेखर कपूर का नाम एक ऐसे फिल्म निर्देशक के रूप में शुमार किया जाता है जिन्होंने न सिर्फ बाॅलीवुड में बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी खास पहचान बनायी है।

see more..
image