Sunday, Jul 12 2020 | Time 19:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जमैका की फ्रेजर प्राइस ने 11 सेकंड में लगाया 100 मी का फर्राटा
  • जौनपुर में 49 और कोरोना पॉजिटिव,संख्या हुई 750
  • कोरोना के खिलाफ जंग में हम अच्छे मुकाम पर खड़े हैं : शाह
  • उप्र के प्रमुख नगरों का आज का तापमान इस प्रकार रहा
  • कर्नाटक पीयूसी के नतीजे 18 जुलाई को
  • फर्रूखाबाद में आठ और कोरोना संक्रमित मिले,संख्या 253 हुई
  • अमेरिका में कोरोना मामले 32 47 लाख के पार, रिकवरी दर महज 30 फीसदी
  • टीआरएस की हिन्दू विरोधी ताकतों ने किया हमला : संजय कुमार
  • कोश्यारी पूरी तरह स्वस्थ, मीडिया पर चल रही अफवाहों का किया खंडन
  • डॉ हर्षवर्धन ने मानवाधिकार मुद्दे के रूप में परिवार नियोजन पर जोर दिया
  • उप्र में कोरोना के मद्देनजर जारी एडवाइजरी का उल्लंघन,24,05,523 का चालान
  • कपिल देव और मुरली कार्तिक ने चैरिटी गोल्फ में लिया हिस्सा
  • कपिल देव और मुरली कार्तिक ने चैरिटी गोल्फ में लिया हिस्सा
  • संभल में बढ़ा कोरोना संक्रमण 38 और मिले पॉजिटिव,संख्या हुई 520
  • ओडिशा के मलकानगिरी में दो माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण
भारत


सुरक्षित घर और पड़ोस बनाने की आवश्यकता:ईरानी

सुरक्षित घर और पड़ोस बनाने की आवश्यकता:ईरानी

नयी दिल्ली 19 नवंबर (वार्ता) केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को कहा कि महिलाओं और बच्चों को हिंसा और दुर्व्यवहार से बचाने के लिए उनके घरों और पास पड़ोस में सुरक्षा सुनिश्चित करना तात्कालिक आवश्यकता है।

श्रीमती ईरानी ने यहां महिला और बाल विकास मंत्रालय तथा सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक द्वारा आयोजित दूसरे दक्षिण एशिया सुरक्षा शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं के विरूद्ध दर्ज अपराध के तीन लाख मामलों में अपराधी पति और संबंधी थे। इसलिए महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा का विषय घर के नजदीक होता है। उन्होंने बताया कि आंकड़ों के अनुसार 42 प्रतिशत पुरुष घरेलू हिंसा को उचित बताते हैं और 62 प्रतिशत महिलाएं घरेलू हिंसा का समर्थन करती हैं।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि स्थानीय क्षेत्र में महिलाओं की आवश्यकताओं के लिए वन-स्टॉप सेंटर जैसे अनेक कदम उठाए गए हैं। प्रत्येक महीने 10 वन-स्टॉप सेंटर खुल रहे हैं और इस वर्ष के अंत तक प्रत्येक जिले में एक वन-स्टॉप सेंटर होगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिले में तस्करी विरोधी इकाइयां होंगी। थानों तक महिलाओं और बच्चों की पहुंच को सहज बनाने के लिए प्रत्येक थाने में महिला सहायता डेस्क स्थापित किया जा रहा है क्योंकि अपनी सुरक्षा और जीवन को खतरा मानते हुए महिलाएं जब कभी संकट से घिरी होती हैं वे पहले थाना पहुंचती हैं।

सम्मेलन में 125 नागरिक संगठन, महिला अधिकार समूह, बाल सुरक्षा विशेषज्ञ तथा शिक्षाविद लैंगिग समस्या तथा जनसंचार पर विचार कर रहे हैं। इस सम्मेलन में सुरक्षा व्यवहारकर्ता, मानसिक स्वास्थ्य तथा आत्महत्या निरोधक संगठन, दिव्यांगजन अधिकार समूह भाग ले रहे हैं।

सत्या

वार्ता

More News
कोरोना के 19,000 से ज्यादा मरीज ठीक, रिकवरी दर 62.93 प्रतिशत

कोरोना के 19,000 से ज्यादा मरीज ठीक, रिकवरी दर 62.93 प्रतिशत

12 Jul 2020 | 6:15 PM

नयी दिल्ली,12 जुलाई (वार्ता) देश में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के कुल 19,235 रोगी ठीक हुए हैं और इसके परिणामस्वरूप रविवार तक कोविड-19 के ठीक होने मामलों की संख्या बढ़कर 5,34,620 हो गई है। इस समय (रिकवरी) की दर बढ़कर 62.93 प्रतिशत हो गई है।

see more..
गहलोत ने विधायकों की खरीद फरोख्त मामले में एसओजी के नोटिस को सामान्य बताया

गहलोत ने विधायकों की खरीद फरोख्त मामले में एसओजी के नोटिस को सामान्य बताया

12 Jul 2020 | 3:39 PM

नयी दिल्ली, 12 जुलाई (वार्ता) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि विधायकों की खरीद फरोख्त के मामले में केवल सामान्य बयान देने के लिए राज्य पुलिस की स्पेशल आपरेशन ग्रुप (एसओजी) की ओर से उन्हें और अन्य कई कांग्रेसी नेताओं को नोटिस दिया गया है।

see more..
image