Friday, Feb 28 2020 | Time 23:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दुष्कर्म मामले में पूर्व भाजपा विधायक पर मामला दर्ज
  • वेंकैया का परंपरा और तकनीक को जोड़ने का आह्रान
  • बैंक धोखाधड़ी मामलों में तीन स्थानों पर सीबाआई के छापे
  • पुलवामा हमला मामले में एनआईए को मिली बड़ी सफलता
  • झांसी: नौकरी का झांसा देकर लूटने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार
  • देशद्रोह मामले में शरजील न्यायिक हिरासत में
  • साइप्रस निशानेबाजी विश्व कप से हटा भारत
  • साइप्रस निशानेबाजी विश्व कप से हटा भारत
  • दिल्ली सरकार ने दबाव में जेएनयू मामले में मुकदमा चलाने की अनुमति दी: जावड़ेकर
  • तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डा अडाणी को देने के खिलाफ याचिका हाईकोर्ट वापस
  • परीक्षा की शुचिता प्रभावित करने वाले विद्यालयों को किया जा रहा है नौटिस जारी:शर्मा
  • मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं देने से नाराज भाजपा सदस्यों का हंगामा
  • डिब्रूगढ़ राजधानी में बम होने की फैलाई गई अफवाह
  • आर्थिक मोर्चे पर ‘करो ना’ संक्रमण से पीड़ित मोदी सरकार:कांग्रेस
  • सुल्तानपुर पुलिस ने किए दो इनामी बदमाश गिरफ्तार
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


सिलावट ओझा के परिजनों से मिले व शोक संवेदना व्यक्त की

शिवपुरी, 21 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने आज यहां बालचंद्र ओझा के घर पहुंचकर शोक संवेदना व्यक्त की तथा उनके आश्रितों को दो लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है।
श्री सिलावट ने बताया कि जिला चिकित्सालय उपचार के दौरान बालचंद्र ओझा की मृत्यु हो जाने पर उनका शव वार्ड में बिस्तर पर पड़ा रहने एवं चीटिंयां लगने के मामला सामने आने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस मामले में कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए थे।
श्री सिलावट ने जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया गया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए। उन्होंने बताया कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को सर्वोपरि रखा गया है। सरकारी अस्पतालों में हर गरीब को पर्याप्त उपचार मिलना चाहिए। साथ ही उनके साथ सहानुभूति पूर्वक व्यवहार किया जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में मेडिकल स्टाफ एवं पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती शीघ्र ही की जा रही है जिससे स्वास्थ्य सेवाएं और ज्यादा बेहतर होंगी। चिकित्सकों के साथ ही नर्सों की भर्ती भी बड़ी संख्या में की जा रही है। उन्होंने जिला चिकित्सालय में कुपोषण से पीड़ित आदिवासी बच्ची मुस्कान को भी देखा तथा उसके उपचार के लिए निर्देश दिए।
सं नाग
वार्ता
image