Thursday, Oct 17 2019 | Time 09:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रिश्वत कांड में अखबार का संपादक गिरफ्तार
  • इजरायली सेना से झड़पों में 18 फिलीस्तीनी घायल
  • फिलीपींस में भूकंप से मरने वालों की संख्या 5 हुई
  • इराक ने आईएस के कई आतंकवादी हिरासत में लिए
  • अमेरिकी सांसद तुर्की के खिलाफ प्रतिबंध लगाने पर प्रस्ताव पेश करेंगे
  • सऊदी अरब में सड़क हादसे में 35 की मौत
  • ईयू द्वारा अमेरिकी कंपनियों पर डिजिटल टैक्स से ट्रंप नाखुश
  • फिलीपींस में भूकंप से एक की मौत,कई घायल
  • भाजपा ने देश को कांग्रेस के चंगुल से बचाया : स्मृति ईरानी
  • सीरिया में सैन्य गठबंधन ने अपने सैन्य शिविर को नष्ट किया
राज्य » उत्तर प्रदेश


हत्या करने वाले गिरोह का इनामी बदमाश गिरफ्तार

लखनऊ, 20 जून (वार्ता) उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने हत्या करने वाले गिरोह के एक इनामी बदमाश को गुरुवार को प्रयागराज के करछना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया।
एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हत्या की घटना को
अन्जाम देने वाले गिरोह के 25 हजार रुपये के इनामी शातिर अपराधी शिव भोले उर्फ भोली दुबे को प्रयागराज के करछना इलाके से गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से एक तमंचा और कुछ कारतूस बरामद किए हैं।
उन्होंने बताया कि एसटीएफ को सूचना मिली थी कि हत्या करने वाले गिरोह का इनामी बदमाश शिव भोले करछना इलाके में पचदेउरा चौराहा पर मौजूद है और कहीं भागने की फिराक में है। इस सूचना पर एसटीएफ0 की टीम स्थानीय पुलिस को साथ लेकर बताये गये स्थान पर पहुंची और घेराबन्दी कर उसे शाम करीब सवा चार बजे गिरफ्तार कर लिया।
श्री सिंह ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश ने पूछताछ करने पर बताया कि 23 फरवरी 2018 को शातिर अपराधी राजा पाण्डेय उर्फ लवकुश निवासी बीरपुर के साथ आठ-दस की संख्या में हम लोग, विजय पाण्डेय की तलाश करते हुये उसके पैतृक घर बीरपुर पहुंचे, जहां विजय के पिता लालता प्रसाद पाण्डेय मौजूद मिले। लालता प्रसाद पाण्डेय से राजा
पाण्डेय ने विजय पाण्डेय के बारे में पूछाताछ की। लालता प्रसाद पाण्डेय ने कहा कि वह यहां घर के अन्दर नही है, कहीं बाहर गया है। इस पर राजा पाण्डेय ने कहा कि तुम झूठ बोल रहे और उसे गोली मार दी,जिससे उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गयी।
उन्होंने बताया कि उसके बाद यह वहां से भाग निकला और इधर-उधर छिपकर रह रहा था। राजा पाण्डेय एवं विजय पाण्डेय दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं । दोनों के बीच पुरानी दुश्मनी चल रही थी। कुछ वर्ष पहले विजय पाण्डेय ने राजा पाण्डेय के पेट में गोली मार दी थी, जिसमें राजा पाण्डेय बाल-बाल बचा था। उसका इलाज काफी लम्बे समय तक
चला। उसी का बदला लेने के लिये राजा पाण्डेय ने विजय पाण्डेय की तलाश करते हुये उसके घर पर पहुंच गया एवं विजय पाण्डेय के घर पर मौजूद नहीं मिलने पर उसके पिता को ही गोली मार दी थी।
त्यागी
वार्ता
image