Wednesday, Jul 8 2020 | Time 15:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नये नियमों के साथ ओवर रेट बनाये रखना मुश्किल: अजहर
  • सरकारी अस्पतालों के चिकित्सकों को टेली-परामर्श देंगे एम्स के डॉक्टर
  • रूस में कोरोना के रिकॉर्ड 6,562 नए मामले, संक्रमितों की कुल संख्या सात लाख के पार
  • ओडिशा में कोरोना के 527 नये मामले, छह और लोगों की मौत
  • पहले टेस्ट के टॉस में विलम्ब
  • पहले टेस्ट के टॉस में विलम्ब
  • लगातार तीसरे दिन टूटा रुपया
  • छात्रों की चिंताओं का समाधान करने की करूंगा पहल : धनखड़
  • बीएस4 वाहन : नाराज सुप्रीम कोर्ट ने आदेश वापस लिया
  • तमिलनाडु में बिजली मंत्री और उनका बेटा कोराना संक्रमित
  • प्रयागराज में बढ़ते कोरोना मरीजो को देखते हुए बेली अस्पताल में उपचार शुरू
  • ओली का भविष्य तय करने वाली एनसीपी की बैठक शुक्रवार तक स्थगित
  • भारतीय क्रिकेट को संकट के भंवर से बाहर निकाल लाये थे गांगुली
  • भारतीय क्रिकेट को संकट के भंवर से बाहर निकाल लाये थे गांगुली
राज्य » अन्य राज्य


हाईकोर्ट ने मेलवलाव हत्याकांड के दोषियों की रिहाई के मामले में मांगा स्पष्टीकरण

मदुरै, 20 नवंबर (वार्ता) मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै खंडपीठ ने बुधवार को तमिलनाडु सरकार को मेलवलावु जनसंहार मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 13 दोषियों की समय पूर्व रिहाई के कारणों पर स्पष्टीकरण दायर करने का निर्देश दिया।
न्यायमूर्ति एस. वैद्यनाथन और न्यायमूर्ति एन. आनंद वेंकटेश की खंडपीठ ने कहा कि अदालत यह जानना चाहती है कि दोषियों को रिहा करने के लिए किस आधार पर सरकारी आदेश जारी किया गया।
इस मुद्दे की गंभीरता और संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए अदालत ने राज्य के गृह सचिव को दोषियों की रिहाई का कारण बताते हुए स्पष्टीकरण दायर करने का आदेश दिया।
अदालत के पहले के निर्देशों के अनुरूप राज्य सरकार ने आज मामले में सभी 13 दोषियों की रिहाई से संबंधित सरकारी आदेश और अन्य दस्तावेज प्रस्तुत किए। सरकार की ओर से पेश दस्तावेजों की जांच के बाद न्यायाधीशों ने सवाल किया कि क्या सरकारी आदेश जारी करने से पहले मेलावलावु गांव में दलित लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखा गया।
यामिनी.श्रवण
जारी वार्ता
image