Friday, Aug 7 2020 | Time 15:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दिल्ली श्रमिक बोर्ड मजदूरों के साथ कर रहा है खिलवाड़
  • नाकाबंदी में पकड़े गये तीन युवक, बताया जुलाई में कर चुके हैं दो हत्याएं
  • ‘सनफीस्ट इंडिया रन एज वन’ में भाग लेंगे अभिनव बिंद्रा
  • पुडुचेरी में कोरोना के 244 नए मामले, पांच की मौत
  • जिंसों में टिकाव
  • लोगों के प्यार के साथ पुरस्कार, से मिलती है लेखनी को मजबूती: कुलदीप राघव
  • मणिपुर में लॉकडाउन कुछ ढील के साथ 15 अगस्त तक बढ़ाया
  • पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मौसम शुष्क रहेगा
  • रुपया एक पैसा मजबूत
  • रुपया एक पैसा मजबूत
  • बिजली अभियंता 18 अगस्त को विरोध दिवस मनाएंगे
  • मोदी सरकार बुनकर समुदाय के समग्र विकास के प्रति कटिबद्ध: शाह
  • चंपावत में कार खाई गिरी, एक की मौत, दूसरा घायल
  • जम्मू कश्मीर की जनता के हित में संवैधानिक अधिकारों का उपयोग करेंगे: सिन्हा
States » Other states


“चिदम्बरम धरती पर बोझ हैं”: पलानीस्वामी

“चिदम्बरम धरती पर बोझ हैं”: पलानीस्वामी

सलेम, 13 अगस्त (वार्ता) तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. के. पलानीस्वामी ने मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि वह “धरती पर बोझ हैं।”
श्री चिदम्बरम की इस टिप्पणी पर कि तमिलनाडु को भी यदि केन्द्र सरकार की ओर से केन्द्र शासित प्रदेश बनाया जाता है तो भी अन्नाद्रमुक विरोध नहीं करेगी, पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए श्री पलानीस्वामी ने कहा,“श्री चिदम्बरम ने राज्य के विकास के लिए कुछ नहीं किया और वह सिर्फ धरती पर बोझ हैं।”
मुख्यमंत्री ने कहा कि लम्बे समय तक केन्द्रीय मंत्री रहने के बावजूद श्री चिदम्बरम तमिलनाडु के लिए कोई कल्याणकारी योजनाएं नहीं लाये। श्री पलानीसामी ने पूछा कि केंद्रीय मंत्री रहते हुए वह राज्य के विकास के लिए कितनी योजनाएं लाये।
क्या उन्होंने वित्त मंत्री का पद संभालने के बाद राज्य को आवश्यक धन आवंटित किया और राज्य में नए उद्योग लगाए। उन्होंने क्या कावेरी जैसे अंतरराज्यीय जल विवादों को हल करने के लिए कोई आवश्यक कदम उठाए।
श्री पलानीस्वामी ने कहा कि श्री चिदम्बरम देश नहीं केवल अपने हितों के बारे में चिंतित हैं और इसलिए जनता ने उन्हें नकार दिया है।
जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने पर अन्नाद्रमक के समर्थन का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अन्नाद्रमुक का कदम 35 साल पहले दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के रुख के अनुरूप था।
सुश्री जयललिता ने सांसद के रूप में 26 जुलाई 1984 को राज्यसभा में एक चर्चा में शामिल होते केन्द्र सरकार से कहा था,“ जम्मू-कश्मीर के मामले में क्यों देरी हो रही है, भारत के संविधान के तहत अन्य राज्यों के अनुरूप इस राज्य को संविधान के दायरे में क्यों नहीं लाया जा रहा।”
उप्रेती.श्रवण
जारी वार्ता

More News
‘मुंसिफ’ के मुख्य संपादक खान लतीफ मोहम्मद खान का  शिकागो में निधन

‘मुंसिफ’ के मुख्य संपादक खान लतीफ मोहम्मद खान का शिकागो में निधन

07 Aug 2020 | 3:14 PM

हैदराबाद 07 अगस्त (वार्ता) उर्दू दैनिक अखबार मुंसिफ एवं सुल्तान उल उलूम एजूकेशन सोसइटी के अध्यक्ष खान लतीफ माेहम्मद खान का शुक्रवार को अमेरिका के शिकागो में बीमारी के कारण निधन हो गया। वह 80 वर्ष के थे।

see more..
image