Tuesday, Jun 25 2019 | Time 09:20 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ईरान समेत कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगे ट्रम्प और पुतिन
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 26 जून)
  • मुजफ्फरनगर मुठभेड़ में सवा लाख का इनामी बदमाश ढेर
  • ईरान के खिलाफ आक्रमण के लिए कांग्रेस की मंजूरी की जरूरत नहीं: ट्रम्प
  • कराची में पुलिस ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया
  • अमेरिका की धमकी के आगे नहीं झुकेगा ईरान, नहीं करेगा वार्ता: रवांची
  • सुरक्षा परिषद की ब्रीफिंग में भाग लेने से रोक रहा है अमेरिका: ईरान
  • शाह और नड्डा सहित भाजपा के अन्य नेताओं ने दी सैनी को श्रद्धांजलि
  • अमेरिका ने ईरान पर लगाये नये प्रतिबंध
  • कजाकस्तान के सैन्य डिपो में विस्फोट,एक की मौत, 70 घायल
राज्य


पिछले पंद्रह सालों में 14,667 किसानों ने की अात्महत्या

पिछले पंद्रह सालों में 14,667 किसानों ने की अात्महत्या

मोगा ,10सितंबर (वार्ता) पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के सर्वे के मुताबिक पिछले पंद्रह सालों में करीब 14,667 किसानों तथा खेत मजदूरों ने आत्महत्या की ।

यह जानकारी पीएयू के कृषि पत्रकारिता विभाग के प्रो0 सरबजीत सिंह ने आज यहां दी । उन्होंने बताया कि यह सर्वे 2000 -2015 के दौरान घर -घर जाकर कराया गया था। उन्होंने कहा कि कृषि विश्विद्यालय ने गैर सरकारी संगठनों तथा अन्य सामाजिक क्षेत्र से जुड़े नेताओं के सहयोग से अाज वर्ल्ड सुसाइड प्रीवेंशन डे मनाया ।

प्रो0 सिंह ने बताया कि मालवा क्षेत्र के छह जिले लुधियाना ,संगरूर , मानसा , बठिंडा , बरनाला ,मोगा, लुधियाना में किये गये सर्वे से पता चला है कि कम से कम तीन किसान रोजाना आत्महत्या करते हैं तथा करीब 83फीसदी आत्महत्यायें कर्ज के कारण होती हैं । इसके अलावा 75 फीसदी आत्महत्या करने वालों में सीमांत ,छोटे तथा मंझोले किसान

हैं ।

उन्होंने कहा कि किसान आत्महत्यायें रोकने के लिये उठाये गये कदमों के तहत नेशनल एग्रीकल्चरल साइंस की आेर से पीयू ,तेलंगाना ,मराठवाडा कृषि विश्वविद्यालय को लीड सेंटर चुना गया है ।

सं शर्मा विक्रम

वार्ता

image