Tuesday, Jul 23 2024 | Time 16:29 Hrs(IST)
image
राज्य


ओडिशा में पहले चार घंटों में रिकार्ड 21.07 प्रतिशत मतदान

ओडिशा में पहले चार घंटों में रिकार्ड 21.07 प्रतिशत मतदान

भुवनेश्वर 20 मई (वार्ता) ओडिशा में लोकसभा चुनाव के पांचवे चरण में सोमवार को 35 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे मतदान के पहले चार घंटों में 21.07 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया है।

चुनाव अधिकारी निंकुज बिहारी ढाल ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बलांगिर लोकसभा क्षेत्र में 11 बजे तक सबसे कम 17.90 प्रतिशत मतदान हुआ जबकि सबसे अधिक बारागाढ़ में 22.95 प्रतिशत मतदान हुआ। इसके बाद सुंदरगढ़ में 22.19 प्रतिशत, अस्का में 21.53 और कंधमाल में 21.19 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और नौ बजे तक 9.31 प्रतिशत मतदान हुआ। इसके बाद मतदान धीरे-धीरे जोर पकड़ने लगा।

उन्होंने बताया कि 11 बजे तक झारसुगुड़ा विधानसभा सीट पर सबसे अधिक 25.32 प्रतिशत मतदान हुआ, इसके बाद सुंदरगढ में 22.19 प्रतिशत, बारागढ़ में 22.06 प्रतिशत, गंजाम में 21.98 प्रतिशत, बौध में 21.75 प्रतिशत मतदान हुआ।

इसी तरह बलांगिरर विधानसभा में सबसे कम 17.16 प्रतिशत मतदान हुआ।

मतदाता हिंजिली और कांटाबांजी विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ रहे मुख्यमंत्री नवीन पटनायक एवं उनके छह मंत्रिपरिषद, दो पूर्व केंद्रीय मंत्रियों जुएल ओरम और दिलीप रे, ओडिशा के चार पूर्व मंत्रियों और कई मौजूदा विधायकों , सांसद जुएल ओराम, (सुंदरगढ़) संगीता सिंगदेव (बोलनगीर) और अच्युत सामंत (कंधमाल) के चुनावी भाग्य का फैसला करेंगे।

राज्य में 2019 के आम चुनावों में पांच लोकसभा सीटों में से, भाजपा ने सुंदरगढ़, बलांगिर और बारगढ़ सीटें जीती, जबकि सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) ने कंधमाल और अस्का लोकसभा सीटें जीतीं।

इसी तरह, 35 विधानसभा सीटों में से सत्तारूढ़ बीजद ने 2019 के चुनाव में 26 विधानसभा सीटें जीती थीं, उसके बाद भाजपा और कांग्रेस दोनों ने चार-चार सीटें और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने एक सीट जीती थी।

जांगिड़, यामिनी

वार्ता

More News
कर्नाटक उच्च न्यायालय ईडी अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी की समीक्षा करेगा

कर्नाटक उच्च न्यायालय ईडी अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी की समीक्षा करेगा

23 Jul 2024 | 4:10 PM

बेंगलुरु 23 जुलाई (वार्ता) कर्नाटक उच्च न्यायालय करोड़ों रुपये के आदिवासी कल्याण बोर्ड घोटाले के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दो अधिकारियों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी की समीक्षा करने के लिए तैयार है।

see more..
image