Tuesday, Jul 23 2019 | Time 21:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • केशव दत्ता का सम्मान करेगा मोहन बगान
  • केशव दत्ता का सम्मान करेगा मोहन बगान
  • पीलीभीत से एसटीएफ ने किया 50 हजार के इनामी को गिरफ्तार
  • कुमारस्वामी ने दिया इस्तीफा, राज्यपाल ने किया मंजूर
  • भाजपा के भ्रष्टाचार से कर्नाटक में हारा लोकतंत्र : कांग्रेस
  • ग्वालियर मामले में कमलनाथ ने दिए तुरंत कार्रवाई के निर्देश
  • बिहार विधानसभा में चालू वित्त वर्ष का प्रथम अनुपूरक बजट पारित
  • कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमार स्वामी ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंपा
  • चंदौली में असलहा तस्कर गिरफ्तार, बड़ी संख्या में हथियार बरामद
  • कर्नाटक में सियासी नाटक का पटाक्षेप,कुमारस्वामी सरकार गिरी
  • दलित मुस्लिम आरक्षण की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट का घेराव
  • कर्नाटक में सियासी नाटक का पटाक्षेप,कुमारस्मामी सरकार गिरी
  • जलवायु परिवर्तन पर लक्ष्य से बेहतर कर सकता है भारत : एल्बा
  • उत्तर प्रदेश में अगले तीन दिन में भी कुछ जिलों में होगी भारी बारिश
  • जलवायु परिवर्तन पर लक्ष्य से बेहतर कर सकता है भारत : एल्बा
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


80 साल की उम्र में पिता बनने वाले मोहिंद्र सिंह का ‘फादर्स डे‘ पर सम्मान

हिसार, 16 जून (वार्ता) तीन साल पहले अस्सी साल की उम्र में पिता बने अमृतसर के मोहिंद्र सिंह का आज ‘फादर्स डे‘ के अवसर पर सम्मान किया गया।
सम्मान समारोह भारतीय चिकित्सा परिषद, गुरूद्वारा सिंह सभा आदि सामाजिक संगठनों ने किया था।
आईएमए के अध्यक्ष डा. जेपीएस नलवा ने कहा कि बुजुर्ग दंपत्ति ने उम्र के इस पड़ाव में भी आईवीएफ तकनीक से संतान पैदा करके दिखा दिया है कि यदि व्यक्ति का इरादा बुलंद हो और कुछ पाने की तमन्ना हो तो कुछ भी असंभव नहीं है।
इस अवसर पर 83 वर्षीय मोहिन्द्र सिंह व उनकी पत्नी 73 वर्षीय दलजिंदर कौर के साथ तीन साल का बच्चा भी मौजूद था। दलजिंदर कौर ने बताया कि बच्चे बच्चे की पूर्णरुप से देख-रेख स्वयं मोहिन्द्र सिंह ही करते हैं। उन्होंने कहा कि बच्चे को नहलाने, स्कूल के लिए तैयार करने, खाना खिलाने से लेकर स्कूल ले जाने व लाने की सारी जिम्मेवारी स्वयं महेन्द्र सिंह ही निभाते हैं। बच्चे के साथ खेलने व उसे गुरुद्वारे ले जाने कार्य भी स्वयं महेन्द्र सिंह करते हैं। बड़ी बात यह है कि जब तक मोहिन्द्र सिंह का बच्चा स्कूल में होता है, तब तक वह अपने बच्चे का स्कूल के बाहर ही इंतजार करते हैं।
श्री सिंह ने कहा कि संतान प्राप्ति के बाद वह एक बार फिर से जवान हो गए लगते हैं। उन्हें यह आभास ही नहीं होता कि उनकी उम्र आज 83 वर्ष है।
श्री सिंह और कौर तीन साल पहले तब चर्चा में आये थे जब उन्होंने शादी के 46 साल बाद हिसार के नेशनल फर्टिलिटी सेंटर में आईवीएफ तकनीक से संतान पैदा करने का निर्णय किया।
सं महेश
वार्ता
More News
घग्गर नदी में जलस्तर वृद्धि के बाद ओटू हेड के कपाट खोले

घग्गर नदी में जलस्तर वृद्धि के बाद ओटू हेड के कपाट खोले

23 Jul 2019 | 8:20 PM

सिरसा, 23जुलाई (वार्ता) हरियाणा में सिरसा के साथ से बह रही घग्गर नदी में जलस्तर में निरंतर बढ़ोतरी के कारण आज ओटू हेड के सारे कपाट पूरी तरह खोल दिए गए जिससे राजस्थान की ओर पानी का बहाव बढ़ गया है।

see more..
image