Tuesday, Nov 19 2019 | Time 10:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रूसी कॉलेज के सुरक्षा गार्ड को दो माह की हिरासत
  • इंदिरा गांधी की जयंती पर मोदी ने किया नमन
  • सोनिया, प्रणव, मनमोहन ने इंदिरा को दी श्रद्धांजलि
  • इंदिरा गांधी की जयंती पर मोदी ने किया नमन
  • नेतन्याहू ने पोम्पिओ के बयान पर ट्रंप से की बातचीत
  • माली में गश्ती दल पर हमले में 24 जवानों की मौत 29घायल
  • अमेरिका में ओक्लाहोमा प्रांत के वॉलमार्ट स्टोर में गोलीबारी में तीन की मौत
  • लीबिया में बिस्कुट कारखाने में हवाई हमले में 10 की मौत
India


राममंदिर निर्माण के फैसले के बाद नागरिकों पर राष्ट्रनिर्माण का दायित्व बढ़ा: मोदी

राममंदिर निर्माण के फैसले के बाद नागरिकों पर राष्ट्रनिर्माण का दायित्व बढ़ा: मोदी

नयी दिल्ली, 09 नवंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या में रामजन्मभूमि को लेकर उच्चतम न्यायालय के फैसले को इतिहास का एक स्वर्णिम अध्याय करार दिया है और कहा है कि इस फैसले के बाद देश के नागरिकों पर नये भारत के निर्माण के लिए जुटने की जिम्मेदारी बढ़ गयी है।
श्री मोदी ने यहां राष्ट्र के नाम संदेश देते हुए कहा कि आज उच्चतम न्यायालय ने एक ऐसे महत्वपूर्ण मामले पर फैसला सुनाया है, जिसके पीछे सैकड़ों वर्षों का एक इतिहास है। पूरे देश की ये इच्छा थी कि इस मामले की अदालत में हर रोज़ सुनवाई हो, जो हुई, और आज निर्णय आ चुका है।
उन्होंने कहा कि जो भी भारत के प्राणतत्व को समझना चाहेगा, उसे आज के दिन और आज की घटना का उल्लेख करना पड़ेगा। सवा सौ करोड़ भारतीय इतिहास रच रहे हैं। भारत की न्यायपालिका के इतिहास में भी आज का ये दिन एक स्वर्णिम अध्याय की तरह है। इस विषय पर सुनवाई के दौरान उच्चतम न्यायालय ने सबको सुना, बहुत धैर्य से सुना और सर्वसम्मति से फैसला दिया।
उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने इस फैसले के पीछे दृढ़ इच्छाशक्ति दिखाई है। इसलिए देश के न्यायाधीश, न्यायालय और हमारी न्यायिक प्रणाली अभिनंदन के अधिकारी हैं। फैसला आने के बाद जिस प्रकार हर वर्ग ने, हर समुदाय ने, हर पंथ के लोगों ने, पूरे देश ने खुले दिल से इसे स्वीकार किया है, वो भारत की पुरातन संस्कृति, परंपराओं और सद्भाव की भावना को प्रतिबिंबित करता है।
श्री मोदी ने कहा कि आज अयोध्या पर फैसले के साथ ही 9 नवंबर की ये तारीख हमें साथ रहकर आगे बढ़ने की सीख भी दे ही है। नए भारत में भय, कटुता, नकारात्मकता का कोई स्थान नहीं है। इस फैसले ने यह संदेश दिया है कि कठिन से कठिन समस्या का समाधान कानून एवं संविधान के दायरे में संभव है।
उन्होंने कहा कि सर्वोच्च अदालत का ये फैसला हमारे लिए एक नया सवेरा लेकर आया है। इस विवाद का भले ही कई पीढ़ियों पर असर पड़ा हो, लेकिन इस फैसले के बाद हमें ये संकल्प करना होगा कि अब नई पीढ़ी, नए सिरे से नये भारत के निर्माण में जुटेगी। अपना विश्वास एवं विकास इस प्रकार से करना है कि साथ चलने वाला कोई पीछे नहीं छूटे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि राममंदिर निर्माण का फैसला आने के बाद हर नागरिक पर राष्ट्र निर्माण की जिम्मेदारी बढ़ गयी है। देश की न्यायपालिका का सम्मान करने का दायित्व बढ़ गया है। अब समाज के नाते, हर भारतीय को अपने कर्तव्य, अपने दायित्व को प्राथमिकता देते हुए काम करना है। हमारे बीच का सौहार्द, हमारी एकता, हमारी शांति, देश के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।
सचिन सत्या
वार्ता

More News
इंदिरा गांधी की जयंती पर मोदी ने किया नमन

इंदिरा गांधी की जयंती पर मोदी ने किया नमन

19 Nov 2019 | 9:52 AM

नयी दिल्ली 19 नवंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की पहली महिला प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी को उनकी जयंती पर मंगलवार को नमन किया एवं उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

see more..
मोदी से मिले बिल गेट्स

मोदी से मिले बिल गेट्स

18 Nov 2019 | 10:53 PM

नयी दिल्ली, 18 नवंबर (वार्ता) सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से यहां मुलाकात की और उन्हें ‘सुधारों का वैश्विक गोलकीपर’ बताया।

see more..
कोविंद मंगलवार से केरल की दो दिवसीय यात्रा पर

कोविंद मंगलवार से केरल की दो दिवसीय यात्रा पर

18 Nov 2019 | 9:37 PM

नयी दिल्ली, 18 नवंबर (वार्ता) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद केरल की दो दिवसीय यात्रा पर कल रवाना होंगे।

see more..
image