Wednesday, Aug 21 2019 | Time 18:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बीएसएफ के जवानों ने जीते 31 स्वर्ण सहित 57 पदक
  • मोदी ने देश की चिरलंबित मांग को पूरा किया: शिवराज
  • तंबाकू उत्पादों पर एक हेल्पलाइन भी होगी
  • डॉक्सऐप ने शुरू किया बात तो करो अभियान
  • दहेज के लिए प्रताड़ित महिला ने 3 बच्चों के साथ की आत्महत्या
  • जैसन रॉय को नेट्स में सिर पर लगी गेंद
  • शिक्षक की गोली मारकर हत्या
  • ड्रूम ने इलेक्ट्रिक व्हीलचेयर कैटेगरी लॉंच की
  • पाकिस्तानी सैनिकों ने राजौरी में की गोलीबारी
  • प्रकाशोत्सव के लिए 100 करोड़ रूपये जारी करे केन्द्र: चन्नी
  • भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने जीता ओलंपिक टेस्ट इवेंट
  • नीतीश ने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के निधन पर जताया शोक
  • वेडिंग्ज़डॉटइन का देश के 30 में विस्तार
  • राजीव आवास योजना के दोषियों के मामले में सरकार से मांगा जवाब
  • भोजपुर में माले नेताओं और समर्थकों पर मुकदमा निंदनीय : कुणाल
खेल


हरियाणा के सभी खेल संघ आरटीआई के दायरे में

हरियाणा के सभी खेल संघ आरटीआई के दायरे में

हिसार, 11 जुलाई (वार्ता) हरियाणा के तमाम खेल संघ, निजी स्कूल-कॉलेज, धर्मशालाएं आदि जो हरियाणा रजिस्ट्रेशन एंड रेगुलेशन ऑफ सोसायटीस एक्ट 2012 के तहत पंजीकृत हैं, को सूचना अधिकार (आरटीआई) के प्रावधानों का पालन करना अनिवार्य होगा।

संस्था की कोई भी जानकारी विद्यार्थी, खिलाड़ी, अभिभावक या कोई अन्य कभी भी एक आवेदन के साथ 10 रुपए फीस जमा कराकर संस्था के प्रधान या सचिव से सूचना मांग सकते हैं।

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) से मान्यता प्राप्त हरियाणा शतरंज एसोसिएशन (एचसीए) एवं भारतीय शतरंज संघ (एआईसीएफ) के राष्ट्रीय महासचिव कुलदीप ने आज बताया कि इस संबंध में पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय का एक आदेश आया है जिसकी प्रति एसोसिएशन को भी मिली है।

पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने इस संबंध में एक फैसला दो मई को दिया था और हरियाणा सरकार को दो महीने के भीतर इसे अमल में लाना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया था।

अदालत का आदेश सरस्वती वेल्फेयर एसोसिएशन, गुरूग्राम बनाम प्रदीप कुमार रापड़िया एवं अन्य के प्रकरण में आया है। याचिकाकर्ता (एसोसिएशन) ने याचिका में हरियाणा सूचना आयोग के इसी साल 22 जनवरी को दिये एक फैसले को इस आधार पर चुनौती दी थी कि आयोग ने प्रकरण में 2012 अधिनियम के तहत पंजीकृत सभी संस्थाओं को सूचना अधिकार अधिनियम 2005 के प्रावधानों की अनुपालना के निर्देश दिये थे। यह आदेश याचिकाकर्ता एसोसिएशन पर लागू नहीं हो सकता क्योंकि वह उक्त प्रकरण में पक्ष भी नहीं थी।

अदालत ने यह याचिका खारिज कर दी और आयोग के 22 जनवरी के आदेश को यह कहते हुए सही करार दिया कि सूचना अधिकार अधिनियम 2012 अधिनयम पर लागू होता है अर्थात उक्त अधिनियम के तहत पंजीकृत सभी संस्थाओं को सूचना अधिकार अधिनियम के प्रावधानों का पालन करना होगा।

सूचना आयोग के 22 जनवरी को सुनाये फैसले के अनुसार अब 2012 अधिनियम के तहत पंजीकृत सभी संस्थाओं को अपनी संस्था में सूचना अधिकारी, प्रथम अपीलय प्राधिकारी की नियुक्ति करनी होगी तथा सूचना अधिकार के तहत जानकारी मुहैया कराने के लिए यदि संस्था ने कोई शुल्क तय नहीं किया है तो हरियाणा सूचना अधिकार नियमों के अनुसार निर्धारित फीस पर अमल करना होगा।

कुलदीप ने कहा कि उच्च न्यायालय का यह फैसला संस्थाओं के कार्य में पारदर्शिता और जवाबदेही लायेगा और वह इसका स्वागत करते हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 50 से ज्यादा मान्यता प्राप्त राज्य खेल संघों के अलावा सैकड़ों गैर मान्यता प्राप्त खेल संघ हैं।

 

More News
  तो मैं शायद कभी ओपनर नहीं बन पाता : सहवाग

तो मैं शायद कभी ओपनर नहीं बन पाता : सहवाग

21 Aug 2019 | 6:49 PM

नयी दिल्ली, 21 अगस्त (वार्ता) भारत के सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाजों में से एक वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि यदि उनके समय में सेलेक्टर एप जैसी कोई चीज होती तो वह ओपनर नहीं बन पाते।

see more..
ट्रायल के बारे में मुझसे नहीं फेडरेशन से पूछो : मैरीकॉम

ट्रायल के बारे में मुझसे नहीं फेडरेशन से पूछो : मैरीकॉम

21 Aug 2019 | 5:46 PM

नयी दिल्ली, 21 अगस्त (वार्ता) छह बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक पदक विजेता एमसी मैरीकॉम ने हाल के उनके चयन ट्रायल को लेकर उठे विवाद पर बुधवार को कहा कि इस बारे में उनसे नहीं बल्कि भारतीय मुक्केबाजी महासंघ से सवाल पूछा जाना चाहिए।

see more..
नाडा के पता ठिकाना नियम पर क्रिकेटरों को होगी आपत्ति : सहवाग

नाडा के पता ठिकाना नियम पर क्रिकेटरों को होगी आपत्ति : सहवाग

21 Aug 2019 | 5:34 PM

नयी दिल्ली, 21 अगस्त (वार्ता) भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड क्रिकेटरों के डोप टेस्ट राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) के तहत कराने के लिए तैयार हो गया है लेकिन पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का मानना है कि क्रिकेटरों को नाडा के पता ठिकाना नियम को लेकर गहरी आपत्ति होगी।

see more..
image