Thursday, Jun 13 2024 | Time 13:28 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


अमृतपाल फरार, पकड़ने की कोशिशें जारी : पुलिस

अमृतपाल फरार, पकड़ने की कोशिशें जारी : पुलिस

चंडीगढ़ 19 मार्च (वार्ता) पंजाब पुलिस ने रविवार शाम स्पष्ट किया कि अमृतपाल सिंह पकड़ा नहीं रिपीट नहीं गया है और वह फरार है तथा उसे पकड़ने की कोशिशें जारी हैं।

पंजाब पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर करीब छह बजे जारी एक वीडियो संदेश में पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि एक मामले में वांछित अमृतपाल सिंह की गिरफ्तारी के लिए कल महतपुर इलाके में नाका लगाया गया था। उन्होंने स्पष्ट किया कि अमृतपाल सिंह अब तक फरार है और उसकी तलाश जारी है।

पुलिस ने लोगों से एक बार फिर अफवाहों व गलत खबरों पर विश्वास न करने, न घबराने और शांति एवं भाईचारे का माहौल बनाये रखने की अपील की।

पुलिस ने आज अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के साथ संगरुर व जालंधर समेत कई जिलों में फ्लैग मार्च भी किये।

खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह और उसके साथियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई के पश्चात उत्पन्न हालात के मद्देनजर पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों ने किसी भी अप्रिय घटना को रोकने और लोगों में विश्वास बहाल करने के उद्देश्य से रविवार को पंजाब के संगरूर और जालंधर के कई हिस्सों में फ्लैग मार्च किया।

जालंधर से ‘वारिस पंजाब दे’ प्रमुख अमृतपाल सिंह के समर्थकों की शनिवार को गिरफ्तारी और अमृतपाल सिंह के फरार हो जाने की खबरों के बाद प्रदेश में माहौल बिगड़ने न देने की मंशा से पंजाब पुलिस ने आज संगरूर जिले के शहरों, कस्बों में फ्लैग मार्च निकाले। साथ ही लोगों को आश्वस्त किया कि स्थिति नियंत्रण में है, वहीं शरारती तत्वों को अफवाहें और नफरती भाषण फैलाने के खिलाफ चेतावनी भी दी।

उपायुक्त जतिंदर जोरवाल और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र लांबा ने संगरूर के फुहारा चौक शरारती तत्वों के लिए चेतावनी जारी करते हुए कहा कि अगर कोई व्यक्ति संगरूर जिले में कानून व्यवस्था को बिगाड़ने के लिए किसी भी तरह से अफवाह बनाता या फैलाता है, तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

दोनों अधिकारियों ने कहा कि जिला प्रशासन और पुलिस लोगों की सुरक्षा के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और संगरूर जिले में पूरी तरह से शांति व्यवस्था है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि घबराने की बिल्कुल जरूरत नहीं है।

एसएसपी ने कहा कि जिला पुलिस के साथ-साथ एआरपी टीमों, राज्य सशस्त्र बटालियनों और कुछ अर्धसैनिक बलों सहित करीब 1200 जवानों को जिले में तैनात किया गया है, जो 14 संवेदनशील स्थानों पर तैनात हैं।

खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह और उसके साथियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई के पश्चात उत्पन्न हालात के मद्देनजर पुलिस ने किसी भी अप्रिय घटना को रोकने और लोगों मे विश्वास बहाल करने के उद्देश्य से रविवार को जालंधर के कई हिस्सों में फ्लैग मार्च किया।

पुलिस आयुक्त जालंधर कुलदीप सिंह चहल (आईपीएस), सुश्री वत्सला गुप्ता (आईपीएस), डीसीपी लोकल ,श्री आदित्य (आईपीएस), और आरएएफ कमांडेंट, डिप्टी कमांडेंट के नेतृत्व में भारी पुलिस बल, पैरा मिलिट्री फोर्स और कमिश्नरेट के अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ एक फ्लैग मार्च निकाला गया।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि यह फ्लैग मार्च शहर और पंजाब के लोगों के लिए एक संदेश है कि पुलिस हमेशा उनकी सेवा के लिए उपलब्ध है, माहौल पूरी तरह से शांत है, किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने आम लोगों को अपील की,“ अफवाहों पर कतई विश्वास न किया जाए और पुलिस को अधिक से अधिक सहयोग दिया जाए।” अफवाह फैलाने वालों को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा,“ शरारती तत्वों और अफवाह फैलाने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। शहरवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए शहर भर में बड़ी संख्या में चेक पोस्ट स्थापित किए गए हैं, बाहर से आने वाली कारों, बसों और अन्य वाहनों की सावधानीपूर्वक जांच की जा रही है।”

टीम.संजय

वार्ता

image