Tuesday, May 26 2020 | Time 23:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अमेरिका में कोरोना से एक लाख से अधिक लोगों की मौत
  • झारखंड में कोरोना के 28 मरीज मिले, कुल संक्रमितों की संख्या 436
  • मोदी ने मिस्र, कतर और आस्ट्रिया के नेताओं के साथ बात की
  • राजस्थान में कोरोना संक्रमित संख्या 7536 पहुंची, तीन की मौत
  • बिहार में एक दिन में मिले 231 पॉजिटिव, कुल संक्रमितों की संख्या 2968
  • गोवा में कोरोना के नौ मरीज ठीक, कोई नया मामला नहीं
  • बिहार में भारी मात्रा में शराब बरामद, आठ गिरफ्तार
  • पूर्वी चंपारण में युवती ने की ट्रेन से कटकर आत्महत्या की कोशिश
  • पूर्वी चंपारण में रसोई गैस सिलेडर में विस्फोट, दंपति झुलसे
  • फोटो कैप्शन दूसरा सेट
  • कोरोना प्रभावित स्थानों पर आरएएफ के जवान तैनात
  • महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं है: राउत
  • केन्द्र की उपलब्धियों को नए तरीके से जनता के बीच ले जायेगी भाजपा
  • ट्रेन लेट होने की वजह से भूख-प्यास से सात प्रवासी की हुई मौत : कांग्रेस
  • शोधकर्ता रोगों की पहचान एव उपचार के लिए डिवाइस करे विकसित :योगी
लोकरुचि


56 भाेग के लिये अन्नपूर्णा रथ गोवर्धन रवाना

56 भाेग के लिये अन्नपूर्णा रथ गोवर्धन रवाना

मथुरा, 8 अक्टूबर (वार्ता) शरद पूर्णिमा के मौके पर कान्हा की नगरी मथुरा में गिर्राज तलहटी में आयोजित अनूठे 56 भोग के लिये अन्नपूर्णा रथ मथुरा से गोवर्धन के लिये रवाना हो गया है।


     श्री गिर्राज जी सेवा ट्रस्ट के वरिष्ठ सदस्य ओमप्रकाश किलेवालों ने बताया कि गिर्राज जी का हीरा, जवाहरत, माणिक, मोती, पुखराज, नीलम पन्ना, वैजन्ती माला, कमल पुष्प तथा हारों से सुसज्जित नाथद्वारा शैली में श्रृंगार आकर्षण का केन्द्र होगा ।

     उन्होने बताया कि अन्नपूर्णा रथ के गोवर्धन आने के पहले वैदिक मंत्रों के मध्य भट्टी का पूजन किया गया। छप्पन भोग से संबंधित सभी कार्य शुभ महूर्त पर विधि विधान से किये जाते हैं। यही इस छप्पन भोग की विशेषता है।

      भट्टी पूजन एवं अन्नपूर्णा रथ के गोवर्धन पहुंचने के साथ 40 कारीगरों द्वारा प्रसाद तैयार करने का कार्य शुरू कर दिया गया है। ये कारीगर  दिन रात मेहनत कर पुष्टिमार्गीय पद्धति से अपरस में प्रसाद 12 अक्टूबर से पहले तैयार करेंगे क्योंकि 12 अक्टूबर को छप्पन भोग का आयोजन किया गया है। यह भोग 11,100 छवरियों में गिर्राज प्रभु को अर्पित किया जायेगा ।

      सामूहिक आराधना के इस पर्व की व्यवस्थाओं के लिए समितियां बना दी गई हैं। प्रसाद की व्यवस्था दीनदयाल अग्रवाल, पुरूषोत्तम सर्राफ, राम अग्रवाल, श्याम ग्रे वाले, ए0एन0 भाटिया, दुर्गाप्रसाद अग्रवाल गोवर्धन वाले एवं धर्मेन सी0ए0 की देखरेख में तैयार किया जा रहा है।

     श्री अग्रवाल ने बताया कि प्रसाद तैयारी की व्यवस्था के लिए 8 लोग इसलिए लगाए गए हैं कि ये बारी बारी से  प्रसाद का पूर्ण शुचिता से तैयार करना सुनिश्चित करेंगे क्योंकि सामूहिक आराधना के इस पर्व की प्रमुख विशेषता शुचिता बनाए रखना है। शुचिता के अभाव में ठाकुर का आशीर्वाद उस रूप से नही मिलेगा जिस अपेक्षा के साथ यह आयोजन किया गया है।

       उन्होंने बताया कि पंडाल बनाने का कार्य भी प्रारम्भ हो चुका है। इस आयोजन के लिए 120 फुट चौड़े, 120 फुट लम्बे, 40 फुट ऊँचे पंडाल को कोलकाता के कारीगार तैयार कर रहे हैं। इसे पर्यावरण के माडल का स्वरूप देने के लिए  देशी-विदेशी फलों से सजाया जाएगा । आगरा व मथुरा के विद्युत सजावट के कारीगर इस प्रकार की विद्युत सजावट करेंगे कि पूरा क्षेत्र शरद की धवल चांदनी में दूधियां रोशनी से जगमग होगा । मार्ग में तोरण व स्वागत द्वार बनाये जा रहे है तथा मार्ग को हरीतिमायुक्त करने का प्रयास हो रहा है पंडाल सजावट व साज-सज्जा की व्यवस्था प्रदीप अग्रवाल , मुकेश अग्रवाल , विशाल अग्रवाल, महेश बंसल एवं किशोर की निगरानी में हो रहा है ।

      अग्रवाल के अनुसार 10 अक्टूबर को ट्रस्ट के सदस्यगणों की अगुवाई में हजारों कृष्ण भक्त डोले के साथ गिर्राज जी की  सप्त कोसी दुग्धधारा परिक्रमा लगायेगें । 11 अक्टूबर को प्रातः गिर्राज महाराज का महाभिषेक प्रातः 9 बजे सवा मन दूध, दही, घी, बूरा, शहद, केशर, जड़ी बूटियों ,गुलाब जल एवं यमुनोत्री से मँगायें गये यमुना जल से वैदिक रीति से होगा । 11 एवं 12 अक्टूबर को  धार्मिक एवं सांस्कृतिक संध्या होगी इसकी व्यवस्था मोन्टू,गणेश वाष्र्णेय, विशाल बंसल, विजय माहेश्वरी एवं  विजय शोरा वाले  देखेंगे ।

        उन्होंने बताया कि 12 अक्टूबर को दोपहर 2 बजे से रात्रि 12 बजे तक  श्री राधा व्रज वसुन्धरा में अद्वितीय छप्पन भोग के दर्शन होंगे एवं साधु व ब्राह्मण सेवा की जायेगी तथा भजन सध्या का भी आयोजन होगा।

सं प्रदीप

वार्ता

More News
लॉकडाउन में गुम हुयी खुशियों पर बजने वाली किन्नरों की ताली

लॉकडाउन में गुम हुयी खुशियों पर बजने वाली किन्नरों की ताली

26 May 2020 | 4:45 PM

पटना 26 मई (वार्ता) मांगलिक कार्यों के दौरान लोगों के घरों में जा कर नाचने-गाने और आशीर्वाद देकर आजीविका कमाने वाले किन्नरों की तालियां लॉकडाउन में गुम हो गयी है।

see more..
कई कारोबारियों के बिजनेस पार्टनर है ‘ठाकुर’

कई कारोबारियों के बिजनेस पार्टनर है ‘ठाकुर’

25 May 2020 | 5:24 PM

मथुरा 25 मई (वार्ता) व्यापार को चमकाने के लिए ‘ठाकुर’ को ’बिजनेस पार्टनर’ बनाने की निराली परंपरा भक्तों द्वारा ब्रज के मंदिरों में लम्बे समय से अपनाई जा रही है।

see more..
महोबा में जागरूकता अभियान के साथ अनूठे अंदाज में मनाई गई आल्हा की जयंती

महोबा में जागरूकता अभियान के साथ अनूठे अंदाज में मनाई गई आल्हा की जयंती

25 May 2020 | 12:55 PM

महोबा, 25मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के महोबा में बारहवीं शताब्दी के महान योद्धा चंदेल सेनानायक, महाबली आल्हा की जयंती सोमवार को कोरोना जागरूकता अभियान के साथ अनूठे अंदाज में मनाई गई।

see more..
प्रकृति की खातिर हर साल 21 दिन का लॉकडाउन जरूरी: पर्यावरणविद

प्रकृति की खातिर हर साल 21 दिन का लॉकडाउन जरूरी: पर्यावरणविद

24 May 2020 | 4:01 PM

इटावा, 24 मई (वार्ता) कोरोना संक्रमण के चलते देशव्यापी लाकडाउन ने सरकार और आम आदमी की मुश्किलों में इजाफा किया है लेकिन आपदा की इस घड़ी ने प्रकृति के सौंदर्य को बरकरार रखने के लिये नियमित अंतराल में मानव दखलदांजी पर रोक लगाने को लेकर एक नयी बहस को जन्म दे दिया है।

see more..
लाकडाउन ने कछुओं को दिया वंश वृद्धि का मौका

लाकडाउन ने कछुओं को दिया वंश वृद्धि का मौका

22 May 2020 | 10:03 PM

इटावा 22 मई (वार्ता) वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण जारी लाकडाउन ने कलकल बहती चंबल नदी में विचरण करते दुर्लभ प्रजाति के कछुओं को सुरक्षित प्रजनन का मौका दे दिया है।

see more..
image