Tuesday, May 21 2019 | Time 20:04 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विश्व चैंपियनशिप के लिए जर्मनी में ट्रेनिंग करेंगे भारतीय जूनियर साइक्लिस्ट
  • कर्मचारियों ने ली आतंकवाद और हिंसा के खिलाफ शपथ
  • जीवी मोबाइल्स ने लांच किया नया फीचर फ़ोन
  • हिमाचल प्रदेश में कल से अंघड़, बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी
  • खेतान मामला: हाईकोर्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट की रोक
  • कमलनाथ ने लिखा नेता प्रतिपक्ष काे पत्र
  • ईवीएम की सुरक्षा में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात, 20 कंपनियां और मांगी
  • मैनपुरी में दो असलहा तस्कर गिरफ्तार,17 तमंचे बरामद
  • सीबीडीटी ने फॉर्म संख्‍या 10बी में संशोधन का मसौदा किया जारी
  • सुमन देवी संभालेंगी जूनियर महिला हॉकी टीम की कप्तानी
  • केन्द्र और राज्यों के बीच कर राजस्व का वितरण चुनौतीपूर्ण: सिंह
  • पौंग विस्थापितों को लेकर हिमाचल के मुख्य सचिव की जलसंसाधन सचिव से भेंट
  • राजीव को पुण्य तिथि पर प्रियंका-राहुल ने किया याद
  • सड़क दुर्घटना में एक की मौत दो गंभीर रूप से घायल
  • गृह सचिव ने मानसून से पहले तैयारियों पर दिया जोर
भारत


अयोध्या मामला : दो याचिकाकर्ता अदालत के बाहर हल के समर्थन में

अयोध्या मामला : दो याचिकाकर्ता अदालत के बाहर हल के समर्थन में

नयी दिल्ली, 12 नवम्बर (वार्ता) अयोध्या में बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि विवाद मामले के दो याचिकाकर्ताओं ने इस मामले को अदालत से बाहर निपटाने के आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर के प्रयासों का समर्थन किया है।

सूत्रों ने सोमवार को यहां बताया कि अंजुमन मोहाफिज मस्जिद-वा-मकाबीर के अध्यक्ष एवं अयोध्या विवाद के याचिकाकर्ताओं में से एक हाजी महबूब अहमद और एक अन्य याचिकाकर्ता मोहम्मद उमर ने इस बाबत एक संयुक्त वक्तव्य जारी किया है।

अयोध्या स्थित केवड़ा मस्जिद के इमाम मौलाना जलाल अशरफ तथा दो अन्य व्यक्तियों ने भी बयान पर हस्ताक्षर किये हैं।

बयान में कहा गया है, “श्री श्री रविशंकर के अयोध्या मुद्दे को आपसी भाईचारे से हल करने के प्रयासों से हम भलीभांति परिचित हैं। हमारा मानना है कि अयोध्या मुद्दे का अदालत से बाहर किया गया फैसला ही हिन्दुओं और मुसलमानों के बीच लम्बे समय तक शांति, सौहार्द और सद्भाव कायम कर सकता है।”

बयान में श्री श्री रविशंकर के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा गया है कि वे इन प्रयासों का पूर्ण रूप से समर्थन करते हैं।

बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि विवाद उच्चतम न्यायालय में लंबित है। इसकी सुनवाई अगले साल जनवरी में होने वाली है।

सुरेश उनियाल

वार्ता

More News
सभी अटकलों पर विराम लगाना चुनाव आयोग की जिम्मेदारी: प्रणव

सभी अटकलों पर विराम लगाना चुनाव आयोग की जिम्मेदारी: प्रणव

21 May 2019 | 7:35 PM

नयी दिल्ली, 21 मई (वार्ता) पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में कथित धांधली की रिपोर्टों पर चिंता व्यक्त करते हुए मंगलवार को कहा कि ये मशीनें चुनाव आयोग की हिफाजत में हैं और इनकी सुरक्षा तथा सभी अटकलों को निराधार साबित करना उसकी जिम्मेदारी है।

see more..
असहिष्णुता के आरोपों ने दिखाया कि मोदी वास्तव में सहिष्णु हैं: विवेक

असहिष्णुता के आरोपों ने दिखाया कि मोदी वास्तव में सहिष्णु हैं: विवेक

21 May 2019 | 7:35 PM

(नीरेंद्र देव से) नयी दिल्ली 21 मई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता विवेक ओबेराॅय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर बड़े पैमाने पर लगाये गये असहिष्णुता के आरोप उनके (श्री मोदी के) पक्ष में गये हैं अौर इनसे पता चला है कि वास्तव में वह कितने सहिष्णु हैं।

see more..
शत-प्रतिशत वीवीपैट के सत्यापन संबंधी याचिका खारिज

शत-प्रतिशत वीवीपैट के सत्यापन संबंधी याचिका खारिज

21 May 2019 | 7:34 PM

नयी दिल्ली, 21 मई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने शत-प्रतिशत वोटर्स वेरीफायबल पेपर्स ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) के सत्यापन का निर्देश देने संबंधी याचिका मंगलवार को खारिज कर दी।

see more..

21 May 2019 | 7:23 PM

see more..
image