Wednesday, Nov 21 2018 | Time 04:56 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
खेल Share

विजय हजारे के लिए बिहार टीम घोषित नहीं करना बीसीए का फर्जीवाड़ा: आदित्य

विजय हजारे के लिए बिहार टीम घोषित नहीं करना बीसीए का फर्जीवाड़ा: आदित्य

पटना, 03 सितंबर (वार्ता) क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार (सीएबी) ने निबंधन रद्द हो चुकी संस्था बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (बीसीए) की हुई बैठक को अवैध करार देते हुये सोमवार को कहा कि विजय हजारे ट्रॉफी के लिए बिहार टीम की घोषणा नहीं करना बीसीए पदाधिकारियों के फर्जीवाड़े को दर्शाता है।

सीएबी के सचिव आदित्य वर्मा और बीसीए मीडिया कमेटी के पूर्व अध्यक्ष संजीव कुमार मिश्र ने यहां बीसीए की कल हुई बैठक को अवैध बताते हुए कहा कि यह बीसीए पदाधिकारियों की उच्चतम न्यायालय के आदेश की अवमानना है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि जब बीसीए के अयोग्य सचिव ने लोढा समिति का हवाला देते हुये तीन से पांच चयनकर्ता बनाने की बात स्वीकार ली है तब विजय हजारे ट्रॉफी के लिए गुजरात जाने वाली बिहार क्रिकेट टीम की घोषणा क्यों नहीं की गई।

उन्होंने कहा कि किसी टीम का चयन होने पर इसकी सूचना मीडिया को दी जाती है, तो बीसीए के अधिकारियों ने इसका अभी तक खुलासा क्यों नहीं किया। क्या किसी फर्जीवाड़े के तहत बिहार टीम का चयन कर केवल चयनकर्ताओं के हस्ताक्षर लेकर टीम को मैच खेलने के लिए गुजरात भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी आयु वर्ग की टीम के लिए कोच, फीजियो और प्रशिक्षक के नाम की घोषणा कर दी गई है लेकिन विजय हजारे ट्रॉफी के लिए अभी तक बिहार टीम की घोषणा नहीं करना किसी बड़े फर्जीवाड़े का संकेत है।

वर्मा और मिश्र ने कहा कि विभाजन के बाद अपनी पहचान खो चुके बिहार के खिलाड़ियों को 18 वर्ष बाद सर्वोच्च न्यायालय ने वर्ष 2018-19 में एक बार फिर बीसीसीआई द्वारा प्रायोजित प्रथम श्रेणी के सभी क्रिकेट मैच के साथ ही अन्य वर्गों में खेलने का मौका दिया है।

उन्होंने कहा, “हमारे पास पुख्ता सबूत हैं कि अन्य राज्यों के करीब 20 क्रिकेटर जाली आवासीय एवं जन्म प्रमाण पत्र के आधार पर बीसीए एवं इनके जिला क्रिकेट संघ को पैसे देकर बिहार से क्रिकेट खेलने आ चुके हैं। बीसीए को राज्य के होनहार क्रिकेटरों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। यदि रिश्वत लेकर खिलाड़ियों को टीम में जगह दी गई तो इसके गंभीर परिणाम होंगे।”

उन्होंने कहा कि बिहार सरकार के निबंधन विभाग के महानिरीक्षक कार्यालय ने मई 2012 के पटना उच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में इस वर्ष 24 अप्रैल को बीसीए के निबंधन को बहाल कर दिया, जो कानून और बिहार सोसाइटी निबंधन अधिनियम की अवमानना है क्योंकि विभाग ने इस वर्ष 27 मार्च, 05 मई और 19 जुलाई को सूचना के अधिकार के तहत मांगे गये जवाब में बताया कि विभाग ने बीसीए का निबंधन रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि विभाग के 24 अप्रैल के आदेश के खिलाफ शीघ्र ही पटना उच्च न्यायालय में याचिका दायर की जाएगी।

 

More News
रंगारंग कार्यक्रम के बीच सैयद मोदी टूर्नामेंट का शुभारम्भ

रंगारंग कार्यक्रम के बीच सैयद मोदी टूर्नामेंट का शुभारम्भ

20 Nov 2018 | 9:49 PM

लखनऊ 20 नवम्बर (वार्ता) नवाब नगरी लखनऊ में मंगलवार को रंगारंग कार्यक्रम के बीच डेढ़ लाख अमेरिकी डालर की ईनामी राशि वाली सैयद मोदी अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप एचएसबीसी वर्ल्ड टूर सुपर 300 का आगाज हो गया।

 Sharesee more..
एडिडास से जुड़े हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह

एडिडास से जुड़े हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह

20 Nov 2018 | 9:49 PM

नयी दिल्ली, 20 नवंबर (वार्ता) अर्जुन अवार्डी और भारतीय राष्ट्रीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह खेल सामान निर्माता कंपनी एडीडास के साथ जुड़ गए हैं।

 Sharesee more..
फैज़ल-जाफर ने विदर्भ के लिये ठोके नाबाद शतक

फैज़ल-जाफर ने विदर्भ के लिये ठोके नाबाद शतक

20 Nov 2018 | 8:47 PM

नागपुर, 20 नवंबर (वार्ता) कप्तान फैज़ फैज़ल(नाबाद 124) और वसीम जाफर(नाबाद 131) के जबरदस्त शतकों की बदौलत विदर्भ ने बड़ौदा के खिलाफ रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप ए के मुकाबले के पहले दिन बुधवार को केवल एक विकेट खोकर 268 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।

 Sharesee more..
दिल्ली की कमज़ोर गेंदबाजी, तन्मय का नाबाद शतक,

दिल्ली की कमज़ोर गेंदबाजी, तन्मय का नाबाद शतक,

20 Nov 2018 | 8:28 PM

हैदराबाद, 20 नवंबर (वार्ता) तन्मय अग्रवाल(नाबाद 112) की जबरदस्त शतकीय पारी से हरियाणा ने दिल्ली के खिलाफ रणजी ट्रॉफी ग्रुप बी मुकाबले के पहले दिन बुधवार को यहां तीन विकेट के नुकसान पर पहली पारी में 232 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।

 Sharesee more..
image