Monday, May 23 2022 | Time 11:46 Hrs(IST)
image
खेल


बीसीसीआई ने अंडर-16 विजय मर्चेंट ट्रॉफी में अधिक उम्र के खिलाड़ियों को खेलने की दी अनुमति

बीसीसीआई ने अंडर-16 विजय मर्चेंट ट्रॉफी में अधिक उम्र के खिलाड़ियों को खेलने की दी अनुमति

नयी दिल्ली, 30 दिसंबर (वार्ता) भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए अंडर-16 विजय मर्चेंट ट्रॉफी में अधिक उम्र के खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति देने का फैसला किया है। बीसीसीआई ने इसके पीछे कई खिलाड़ियों के कोरोना के कारण खेलने के लिए उपलब्ध न हाेने को कारण बताया है।

बीसीसीआई ने उससे संबद्ध क्रिकेट संघों में 60 ऐसे खिलाड़ियों की पहचान की है जो बोन टेस्ट (हड्डी टेस्ट) में 16.5 वर्ष से ऊपर पाए गए हैं। बीसीसीआई के खेल विकास महाप्रबंधक धीरज मल्होत्रा ने बुधवार को घोषणा की कि निर्धारित उम्र से ऊपर पाए गए 60 खिलाड़ी, जिनके नाम उनके पत्र के साथ संलग्न हैं, इस साल के टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए पात्र हैं, इसलिए बीसीसीआई ने अपने सभी बाहरी सलाहकारों से सभी 16.5 वर्ष के चिह्नित मामलों की समीक्षा करने का अनुरोध किया है।

उन्हाेंने कहा कि इन बाहरी सलाहकारों द्वारा सभी क्रिकेट संघों में लगभग 60 खिलाड़ियों के लिए रेटिंग को संशोधित किया गया था। उन खिलाड़ियों की शीट संलग्न है, जिनकी रेटिंग सलाहकारों द्वारा संशोधित की गई है। ये खिलाड़ी अब अंडर-16 विजय मर्चेंट ट्रॉफी 2021-22 में भाग लेने के पात्र हैं।

मल्होत्रा ने बुधवार को सभी राज्य क्रिकेट संघों को लिखे एक पत्र में कहा, “कई खिलाड़ी बोन टेस्ट में 16.5 साल की सीमा से ऊपर पाए गए हैं। बोन टेस्ट और टूर्नामेंट आयोजित करने में देरी को ध्यान में रखते हुए कुछ क्रिकेट संघों ने हमसे 16.5 वर्ष के सभी मामलों की समीक्षा करने का अनुरोध किया, ताकि खिलाड़ी खेलने का मौका न खोएं, क्योंकि इस चार महीने की देरी के लिए उनकी कोई गलती नहीं है।”

बीसीसीआई अधिकारी ने इस छूट का कारण भी बताया है, जो उनके अनुसार, टूर्नामेंट के आयोजन में देरी है। उन्होंने पत्र में लिखा, “जैसा कि आप जानते हैं कि हम नौ जनवरी, 2022 से शुरू होने वाले इस सीजन के लिए अंडर-16 विजय मर्चेंट ट्रॉफी टूर्नामेंट आयोजित कर रहे हैं। आमतौर पर यह टूर्नामेंट हर साल सितंबर के महीने में खेला जाता है। हम टूर्नामेंट में भाग लेने वाले अंडर-16 खिलाड़ियों की योग्यता निर्धारित करने के लिए टीडब्ल्यू3 (टान्नर, हीली एट अल) के रूप में जाना जाने वाला हड्डी टेस्ट भी करते हैं जो टूर्नामेंट से दो महीने पहले होता है। आमतौर पर हर साल जुलाई से यह टेस्ट शुरू होता है, लेकिन इस वर्ष टूर्नामेंट कोरोना के कारण एक साल के अंतराल के बाद खेला जा रहा है जो अपने सामान्य समय से चार महीने लेट है, इसलिए बोन टेस्ट में भी 3-4 महीने की देरी हुई और ये नवंबर के आखिरी हफ्ते में शुरू हुए और 20 दिसंबर तक चले।”

उल्लेखनीय है कि बीसीसीआई शुरू में इस तथ्य को देखते हुए कि अंडर-16 आयु वर्ग के खिलाड़ियों को अभी कोरोना वैक्सीन लगाने की मंजूरी नहीं है, इस दुविधा में था कि टूर्नामेंट को आयोजित किया जाए या नहीं। केंद्र सरकार ने हालांकि हाल ही में 15 साल से ऊपर के बच्चाें को वैक्सीन लगाने की अनुमति देने का फैसला किया है, हालांकि यह अभियान तीन जनवरी से ही शुरू होगा। ऐसे में इस साल प्रतियोगिता आयोजित करना बीसीसीआई के लिए एक बड़ी परीक्षा हो सकती है। कोरोना के कारण पिछले साल टूर्नामेंट आयोजित नहीं किया गया था।

दिनेश राज

वार्ता

More News

22 May 2022 | 11:21 PM

see more..
हैदराबाद ने पंजाब को दिया 158 का लक्ष्य

हैदराबाद ने पंजाब को दिया 158 का लक्ष्य

22 May 2022 | 9:49 PM

मुम्बई, 22 मई वार्ता अभिषेक शर्मा (43), वाशिंगटन सुंदर (25) और रोमरियों शेफर्ड (नाबाद 26) की उपयोगी पारियों से सनराइजर्स हैदराबाद ने पंजाब किंग्स के खिलाफ रविवार को आईपीएल मुकाबले में 20 ओवर में आठ विकेट पर 157 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बना लिया।

see more..
एशिया कप के पहले दिन भिड़ेंगे भारत-पाकिस्तान

एशिया कप के पहले दिन भिड़ेंगे भारत-पाकिस्तान

22 May 2022 | 8:53 PM

जकार्ता, 22 मई (वार्ता) हीरो एशिया कप का मौजूदा चैम्पियन भारत इस बार के अपने एशिया कप की शुरुआत सोमवार को पाकिस्तान के खिलाफ जीबीके एरिना में करेगा।

see more..
image