Friday, Jul 19 2019 | Time 21:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • वज्रपात से आठ बच्चों की मौत से लालजी टंडन मर्माहत
  • अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके
  • छात्रों और शिक्षकों पर लाठियां बरसाने से बेहतर नहीं होगी शिक्षा : उपेंद्र
  • नीतीश ने वज्रपात से आठ बच्चों की मौत पर जताया शोक, मुआवजे की घोषणा
  • प्रियंका को सोनभद्र जाने से रोकने के खिलाफ वाराणसी में कांग्रेस का प्रदर्शन
  • लखनऊ में सड़को की खुदाई ,गंदगी एवं नालों को लेकर उच्च न्यायालय सख्त
  • जगमग हुआ सफदरजंग मकबरा
  • बागपत में अवकाश प्राप्त वृद्ध कर्मचारी की हत्या से हडकंप
  • नाइजीरिया में संघर्ष, 16 लोगों की मौत
  • ठुकराये जाने पर की थी लड़की की हत्या, मिली उम्रकैद की सजा
  • उप्र में छुट्टा पशुओं के मामले में उच्च न्यायालय सख्त
  • विवेक कुमार बने प्रधानमंत्री के निजी सचिव
  • फाेटो कैप्शन: तीसरा सेट
  • ब्रिटेन में एक वर्ष में जितने अनाज का उपभोग किया जाता है उतना भारत में सड़ता है
  • बहराइच में ट्रैक्टर-ट्राली पलटने से महिला समेत दो की मृत्यु,आठ घायल
राज्य


भाजपा सरकार कर रही है नाकामियों पर पर्दा डालने की कोशिश-पायलट

भाजपा सरकार कर रही है नाकामियों पर पर्दा डालने की कोशिश-पायलट

जयपुर, 12 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)

सरकार पर नाकामियों पर पर्दा डालने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए भाजपा को चुनौती दी है कि वह एक भी कोई ऐसा जनहित का काम बता दें जिसे रेखांकित किया जा सके।

श्री पायलट आज नागौर जिले के परबतसर में आयोजित पार्टी की संकल्प रैली में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का कार्यकाल पूरा होने को है लेकिन जनता से किए कोई भी वादे पूरे नहीं हुए है और विडम्बना यह है कि अपनी जवाबदेही सुनिश्चित करने की जगह सरकार विपक्ष को कोस कर अपनी नाकामी पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जयपुर में चुनौती देकर कह रहे थे कि भाजपा के शासन में देश तरक्की कर रहा है लेकिन सच्चाई यह है कि भाजपा ने देश में विकास के स्थान पर द्वेषता को बढ़ाने का काम किया है। उन्होंने भाजपा को चुनौती दी कि वह एक भी कोई ऐसा जनहित का काम बता दें जिसे रेखांकित किया जा सके।

उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने खुद स्वीकार किया है कि उनकी पार्टी में बूथ इकाईयाँ कमजोर है जो इस बात का सूचक है कि भाजपा के कार्यकर्ता खुद भाजपा सरकार की कार्यप्रणाली को सही नहीं मान रहे है और जनता के बीच जाने में संकोच कर रहे है।

उन्होंने कहा कि गत कांग्रेस शासन के दौरान प्रदेश में रोजगार सृजन एवं आर्थिक स्वावलम्बन की योजना तेल रिफाइनरी लेकर आये इसके अलावा राजधानी में मेट्रो शुरू की और डूंगरपुर-रतलाम रेल परियोजना शुरू की परन्तु इसे भाजपा ने शासन में आते ही ठप्प कर दिया। उन्होंने कहा कि आधार कार्ड एवं मनरेगा को राजस्थान से शुरू किया गया और इसके अलावा प्रदेश के सम्पूर्ण आधारभूत संरचना को विकसित कर जनसुविधाओं का विस्तार कर आमजन को राहत प्रदान की।

श्री पायलट ने कहा कि अच्छा होता कि श्री शाह अपनी पीठ थपथपाने के स्थान पर उनकी सरकार के शासनकाल के दौरान प्रदेश की हुई दुर्दशा पर माफी मांगते। कहा कि नोटबंदी के कारण आमजन को हुई परेशानी के साथ ही किसानों की आत्महत्या एवं महिला उत्पीडऩ तथा राजधानी जयपुर सहित प्रदेश में तोड़े गए मंदिरों के लिए अपनी जवाबदेही सुनिश्चित करते। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व के बयानों से साबित हो गया है कि वह अपनी सरकार की नाकामी को छिपाने के लिए उन मुद्दों को तूल देकर जनता का ध्यान भटकाना चाहते है जिनका प्रदेश की जनता से दूर-दूर तक कोई सरोकार नहीं है।

उन्होंने कहा कि आज जिस तादाद में जनता यहां मौजूद है वह इस बात का सूचक है कि प्रदेश में भाजपा सरकार द्वारा फैलाई गई अव्यवस्था, अराजकता एवं कुशासन से जनता परेशान हो चुकी है और इससे मुक्ति पाने के लिए कांग्रेस की ओर उम्मीद से देखने लगी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री, प्रदेश के मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जो भी बयानबाजी कर रहे है उसमें उनकी बौखलाहट एवं चिंता झलकती है।

image