Monday, Nov 19 2018 | Time 17:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रमन को भाजपा के पक्ष में चुनावी माहौल होने का विश्वास
  • लगातार पाँचवें दिन रुपये में रही तेजी
  • खाद्य तेल, चना मजबूत, चीनी नरम, दालों में घटबढ़
  • तेलंगाना में कांग्रेस नीत जन-मोर्चा गठबंधन में दरार
  • तेलंगाना में कांग्रेस नीत जन-मोर्चा गठबंधन में दरार
  • रात के समय लाउडस्पीकर के प्रयोग पर पाबंदी लगाई जाए: गुमटाला
  • गुरु नानक की 550वीं जयंती देश-विदेश में धूमधाम से मनाने का फैसला
  • तेलंगाना में नामांकन पत्र भरने की समय सीमा समाप्त
  • वाजपेयी को महाराष्ट्र विधान सभा में श्रद्धांजलि
  • पृथ्वी, मुरली, विहारी के अर्धशतक, भारत ए मैच ड्रॉ
  • पुलिस संचार प्रणाली नेटवर्क मजबूत बनाया जा रहा है
  • सागर में शिवराज सरकार के दो मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर
  • तेलंगाना में नामांकन पत्र भरने की समय सीमा समाप्त
  • सागर में शिवराज सरकार के दो मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर
भारत Share

एससी एसटी अधिनियम के खिलाफ भाजपा का षडयंत्र है ‘भारत बंद’

एससी एसटी अधिनियम के खिलाफ भाजपा का षडयंत्र है ‘भारत बंद’

नयी दिल्ली 07 सितंबर (वार्ता) बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (एससी एसटी अधिनियम) में संशोधन के खिलाफ ‘भारत बंद’ को भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का षड़यंत्र करार देेते हुए आज कहा कि यह गलत आर्थिक नीतियों से आम जनता का ध्यान भटकाने का प्रयास है।

सुश्री मायावती ने यहां कहा कि भाजपा शासित कुछ राज्यों में भारत बंद का आयोजन वास्तव में भाजपा और आरएसएस का जातिवादी एवं चुनावी षड़यंत्र है। भाजपा की सरकारें आम जनता का ध्यान गलत आर्थिक नीतियों से भटकाना चाहते हैं इसलिये ऐसे प्रयास किये जा रहे हैं। नोटबंदी और गलत तरीके से वस्तु एवं सेवा कर प्रणाली लागू करने से कारोबार को जबरदस्त झटका लगा है। इसके कारण बेरोजगारी बढ़ी है और लोगों का पलायन बढ़ा है। पेट्रोल एवं डीजल की बढ़ती कीमतों का जिक्र करते हुए बसपा प्रमुख ने कहा कि इससे जन जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।

उन्होंने कहा कि एस सी एसटी अधिनियम आदिवासी समाज तथा दलित समाज के सम्मान से जुड़ा है। इसको मूल लाने के प्रयासों से समाज के कुछ वर्गों ने नाराजगी जाहिर की है लेकिन वास्तव में कुछ लोगों में इस कानून का दुरुपयोग करने के बारे गलत धारणा बन गयी है। उन्हाेंने कहा कि कानून का इस्तेमाल राज्य सरकारों की सोच पर निर्भर करता है।

बसपा प्रमुख ने कहा कि एस सी एसटी कानून की आड़ में भाजपा और आरएसएस ‘घिनौनी’ राजनीति कर रहे हैं। भारत बंद के पीछे ‘कोरी राजनीति, स्वार्थ और चुनावी षडयंत्र’ है। उन्हाेंने कहा कि मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए ‘जातिवादी उन्माद एवं हिंसा’ का माहौल बनाया जा रहा है।

सत्या सचिन

वार्ता

image