Friday, Jul 19 2019 | Time 20:46 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ठुकराये जाने पर की थी लड़की की हत्या, मिली उम्रकैद की सजा
  • उप्र में छुट्टा पशुओं के मामले में उच्च न्यायालय सख्त
  • विवेक कुमार बने प्रधानमंत्री के निजी सचिव
  • फाेटो कैप्शन: तीसरा सेट
  • ब्रिटेन में एक वर्ष में जितने अनाज का उपभोग किया जाता है उतना भारत में सड़ता है
  • बहराइच में ट्रैक्टर-ट्राली पलटने से महिला समेत दो की मृत्यु,आठ घायल
  • आखिर एनआरआई पति की जमीन हुई नीलाम
  • विधायकों के वाहन ऋण की सीमा बढ़ेगी
  • उप्र मुठभेड़ में पांच इनामी बदमाश गिरफ्तार
  • कामत गोवा विस में विपक्ष के नेता
  • हम सदन में बहुमत साबित कर देंगे: कुमारस्वामी
  • राष्ट्रीय राजमार्गों पर दिसंबर से सिर्फ फास्टैग से भुगतान
  • राष्ट्रीय राजमार्गों पर दिसंबर से सिर्फ फास्टैग से भुगतान
  • सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट ‘भाभा कवच’ लांच
  • राजा रणधीर सिंह डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित
मनोरंजन » जानीमानी हस्तियों का जन्म दिन


बॉलीवुड के पहले रियल डांसिग स्टार हैं जितेन्द्र

बॉलीवुड के पहले रियल डांसिग स्टार हैं जितेन्द्र

( जन्मदिन 07 अप्रैल के अवसर पर)
मुंबई 06 अप्रैल (वार्ता) मुंबई के गोरेगांव में लड़कों का एक समूह अक्सर फिल्मों का पहला शो देखा करता था।
फिल्म देखने के बाद वे लोगों को बताते कि फिल्म कैसी है।
एक दिन निर्माता-निर्देशक व्ही शांताराम फिल्म देखने आये हुये थे।
उन्होंने लड़कों के समूह में एक लड़के को फिल्म के बारे में लोगों से बातचीत करते हुये देखा।

व्ही शांताराम उस लड़के से काफी प्रभावित हुये और उन्होंने निश्चय किया कि वह उसे अपनी फिल्म में काम करने का मौका देंगे।
उन्होंने उसे अपने पास बुलाकर अपनी फिल्म गीत गाया पत्थरों ने” में काम करने की पेशकश की।
यह लड़का रवि कपूर था जो बाद में फिल्म इंडस्ट्री में जितेन्द्र के नाम से मशहूर हुआ।

सात अप्रैल 1942 को एक जौहरी परिवार में जन्मे जितेन्द्र का रूझान बचपन से ही फिल्मों की ओर था और वह अभिनेता बनना चाहते थे।
वह अक्सर घर से भाग कर फिल्म देखने चले जाते थे।
जितेन्द्र ने अपने सिने करियर की शुरूआत 1959 में प्रदर्शित फिल्म “नवरंग” से की जिसमें उन्हें छोटी सी भूमिका निभाने का अवसर मिला।

लगभग पांच वर्ष तक जीतेन्द्र फिल्म इंडस्ट्री में अभिनेता के रूप में काम पाने के लिये संघर्षरत रहे।
वर्ष 1964 में उन्हें व्ही शांताराम की फिल्म “गीत गाया पत्थरों ने” में काम करने का अवसर मिला।
इस फिल्म के बाद जितेन्द्र अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गये।
वर्ष 1967 में उनकी एक और सुपरहिट फिल्म फर्ज प्रदर्शित हुयी।
रविकांत नगाइच निर्देशित इस फिल्म में जितेन्द्र ने डांसिग स्टार की भूमिका निभाई।
इस फिल्म में उन पर फिल्माया गीत “मस्त बहारो का मैं आशिक” श्रोताओं और दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ।
इस फिल्म के बाद जितेन्द्र को जंपिग जैक कहा जाने लगा।

      फर्ज की सफलता के बाद डांसिग स्टार के रूप में जितेन्द्र की छवि बन गयी।
इस फिल्म के बाद निर्माता निर्देशकों ने अधिकतर फिल्मों में उनकी डांसिंग छवि को भुनाया।
निर्माताओं ने उनको एक ऐसे नायक के रूप में पेश किया जो नृत्य करने में सक्षम है।
इन फिल्मों में हमजोली और कारंवा जैसी सुपरहिट फिल्में शामिल है।
इस बीच जितेन्द्र ने जीने की राह, दो भाई और धरती कहे पुकार के जैसी फिल्मों में हल्के-फुल्के रोल कर अपनी बहुआयामी प्रतिभा का परिचय दिया।
वर्ष 1973 में प्रदर्शित फिल्म जैसे को तैसा के हिट होने के बाद फिल्म इंडस्ट्री में उनके नाम के डंके बजने लगे और वह एक के बाद एक कठिन भूमिकाओं को निभाकर फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित हो गये।

सत्तर के दशक में जितेन्द्र पर आरोप लगने लगे कि वह केवल नाच गाने से भरपूर रूमानी किरदार ही निभा सकते है।
उन्हें इस छवि से बाहर निकालने में निर्माता-निर्देशक गुलजार ने मदद की और उन्हें लेकर परिचय, खुशबू और किनारा जैसी पारिवारिक फिल्मों का निर्माण किया।
इन फिल्मों में उनके संजीदा अभिनय को देखकर दर्शक आश्चर्यचकित रह गए।
जितेन्द्र के सिने करियर पर नजर डालने पर पता लगता है कि वह मल्टी स्टारर फिल्मों का अहम हिस्सा रहे है।
फिल्मी जगत के रूपहले पर्दे पर जीतेन्द्र की जोड़ी रेखा के साथ खूब जमी।
अस्सी के दशक में उनकी जोड़ी अभिनेत्री श्रीदेवी और जया प्रदा के साथ काफी पसंद की गयी।
अपनी अनूठी नृत्य शैली के कारण इस जोड़ी को दर्शकों ने सिर आंखों पर बैठा लिया।

वर्ष 1982 से 1987 के बीच जितेन्द्र ने दक्षिण भारत के फिल्मकार टी रामाराव, के. बापैय्या, के. राघवेन्द्र राव आदि की फिल्मों में भी काम किया।
नब्बे के दशक में अभिनय मे एकरूपता से बचने और स्वंय को चरित्र अभिनेता के रूप में भी स्थापित करने के लिये उन्होंने खुद को विभिन्न भूमिकाओं में पेश किया।
वर्ष 2000 के दशक में फिल्मों में अच्छी भूमिकाएं नहीं मिलने पर उन्होंने फिल्मों में काम करना काफी हद तक कम कर दिया।
इस दौरान वह अपनी पुत्री एकता कपूर को छोटे पर्दे पर निर्मात्री के रूप स्थापित कराने में उनके मार्गदर्शक बने रहे।
जितेन्द्र ने चार दशक लंबे सिने करियर में 250 से भी अधिक फिल्मों में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया है।
वह इन दिनों अपनी पुत्री एकता कपूर को फिल्म निर्माण में सहयोग कर रहे है।

 

नसीरूद्दीन

नसीरूद्दीन ने समानांतर फिल्मों को नया आयाम दिया

.. जन्मदिवस 20 जुलाई के अवसर पर .
मुंबई 19 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड में नसीरूदीन शाह ऐसे धु्रवतारे की तरह है जिन्होंने अपने सशक्त अभिनय से समानांतर सिनेमा के साथ-साथ व्यावसायिक सिनेमा में भी दर्शको के बीच अपनी खास पहचान बनायी।

मिशन

मिशन मंगल को लेकर गर्व महसूस कर रहे हैं अक्षय

मुंबई 19 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार अपनी आने वाली फिल्म मिशन मंगल को लेकर गर्व महसूस कर रहे हैं।

बॉलीवुड

बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे राजेश खन्ना

पुण्यतिथि 18 जुलाई के अवसर पर ..
मुंबई 17 जुलाई (वार्ता) हिंदी फिल्म जगत में अपने अभिनय से लोगों को दीवाना बनाने वाले अभिनेता तो कई हुये और दर्शकों ने उन्हें स्टार कलाकार माना पर सत्तर के दशक में राजेश खन्ना पहले ऐसे अभिनेता के तौर पर अवतरित
हुये जिन्हें दर्शको ने सुपर स्टार की उपाधि दी।

स्टारडम

स्टारडम लंबे समय तक कायम रखना चुनौती:सलमान

मुंबई 13 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान स्टारडम को लंबे समय तक कायम रखना चुनौती मानते हैं।

राइटर

राइटर के किरदार से कमबैक करेंगी शिल्‍पा शेट्टी

मुंबई 19 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी राइटर के किरदार से कमबैक करने जा रही हैं।

बॉलीवुड

बॉलीवुड को अंतराष्ट्रीय स्तर पहचान दिलाई प्रियंका चोपड़ा ने

.जन्मदिवस 18 जुलाई के अवसर पर:
मुंबई 18 जुलाई(वार्ता) बॉलीवुड की देशी गर्ल प्रियंका चोपड़ा उन चुनिंदा अभिनेत्रियों में शुमार की जाती है जिन्होंने अभिनेत्रियों के महज शोपीस के तौर पर इस्तेमाल किये जाने की परंपरागत सोच को न सिर्फ बदला बल्कि बॉलीवुड को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी विशेष पहचान दिलाई।

कबीर

कबीर सिंह ने 250 करोड़ की कमाई की

मुंबई 13 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो शाहिद कपूर की फिल्म ‘कबीर सिंह’ ने बॉक्स ऑफिस पर 250 करोड़ से अधिक की कमाई कर ली है।

महेश

महेश मांजरेकर की बेटी दबंग 3 से करेगी डेब्यू

मुंबई 19 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड फिल्मकार महेश मांजरेकर की छोटी बेटी सई फिल्म दबंग 3 के जरिये डेब्यू करने जा रही हैं।

कव्वाली

कव्वाली को संगीतबद्ध करने के महारथी थे रौशन

..जन्मदिन 14 जुलाई  ..
मुंबई 13 जुलाई(वार्ता) हिंदी फिल्मों में जब कभी कव्वाली का जिक्र होता है संगीतकार रौशन का नाम सबसे पहले लिया जाता है।

मैं

मैं और जॉन अपनी फिल्मों के लिये आश्वस्त :अक्षय

मुंबई 19 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार का कहना है कि वह और जॉन अब्राहम गहरे दोस्त हैं और अपनी-अपनी फिल्मों के लिये आश्वस्त हैं।

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

..जन्मदिवस 29 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 28 अगस्त(वार्ता)किंग ऑफ पॉप माइकल जैक्सन को ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पॉप संगीत की दुनिया को पूरी तरह बदलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायी है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे राजेश खन्ना

बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे राजेश खन्ना

पुण्यतिथि 18 जुलाई के अवसर पर ..
मुंबई 17 जुलाई (वार्ता) हिंदी फिल्म जगत में अपने अभिनय से लोगों को दीवाना बनाने वाले अभिनेता तो कई हुये और दर्शकों ने उन्हें स्टार कलाकार माना पर सत्तर के दशक में राजेश खन्ना पहले ऐसे अभिनेता के तौर पर अवतरित
हुये जिन्हें दर्शको ने सुपर स्टार की उपाधि दी।

image