Thursday, Jul 18 2019 | Time 10:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ममता ने नेल्सन मंडेला, मेहदी हसन को किया याद
  • जापान के एनीमेशन स्टूडियो में लगी आग, 30 घायल
  • सोनभद्र में खूनी संघर्ष में मृतक संख्या बढ़कर हुई 10
  • जाधव मामले में पाकिस्तान की जीत हुयी : कुरैशी
  • शरीफ परिवार की संपत्तियों को जब्त करने का आदेश
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 19 जुलाई)
  • गाजियाबाद में एक लाख का इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर
  • कार्यवाहक रक्षा सचिव ने सीमा पर अधिक सेना भेजने की मंजूरी दी
  • पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 13 घायल
  • नए करार के लिए रुस जा सकते हैं मादुरो : जॉर्ज
  • हवाई हमले में आईएस के दो आतंकवादी मारे गए
  • बंदूकधारी ने की संरा शांतिसैनिक सहित सात लोगों की हत्या
  • आईसीजे का फैसला जाधव के परिवार के लिए उम्मीदों भरा है :राहुल
  • हाफिज सईद की गिरफ्तारी पर ट्रंप ने दी प्रतिक्रिया
India


जयसिंह, ग्रोवर के घर, कार्यालय पर सीबीआई के छापे

जयसिंह, ग्रोवर के घर, कार्यालय पर सीबीआई के छापे

नयी दिल्ली,11 जुलाई (वार्ता) केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गुरुवार को उच्चतम न्यायालय की वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह और उनके अधिवक्ता पति आनंद ग्रोवर के राजधानी स्थित आवास पर छापेमारी की।
सीबीआई के सूत्रों ने हालांकि यह स्पष्ट किया कि छापेमारी श्रीमती जयसिंह के नहीं, उनके पति के यहां हुई है। अधिवक्ता दम्पती एक ही मकान में रहते हैं।
सीबीआई सूत्रों ने बताया कि जांच एजेंसी की छापेमारी श्री ग्रोवर के गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) लॉयर्स कलेक्टिव को जारी विदेशी फंडिंग के सिलसिले में थी। सूत्रों के अनुसार, जांच एजेंसी ने दिल्ली के अलावा मुंबई स्थित आवास और कार्यालयों पर भी छापे मारे हैं। एनजीओ पर विदेशी चंदा विनियमन कानून के उल्लंघन का आरोप है।
सीबीआई सूत्रों ने बताया कि अधिवक्ता दम्पती के निजामुद्दीन स्थित आवास और कार्यालय, एनजीओ के जंगपुरा कार्यालय और मुम्बई स्थित एक कार्यालय में सुबह पांच बजे से छापेमारी शुरू की थी।
सीबीआई ने विदेशी सहायता प्राप्त करने के मामले में श्री ग्रोवर के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
सीबीआई ने गृह मंत्रालय की शिकायत के आधार पर श्री ग्रोवर और एनजीओ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। मंत्रालय ने आरोप लगाया गया था कि समूह द्वारा प्राप्त विदेशी सहायता के इस्तेमाल में कई कथित विसंगतियां हैं।
सूत्रों ने बताया कि पूर्व अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल श्रीमती जयसिंह का नाम प्राथमिकी में आरोपियों की सूची में नहीं है, लेकिन मंत्रालय की शिकायत में उनकी कथित भूमिका का जिक्र है।
गृह मंत्रालय की शिकायत के अनुसार संगठन ने विदेश से 2006-07 और 2014-15 के बीच 32.39 करोड़ रुपये की मदद हासिल की थी, जिसमें अनियमितताएं बरती गईं और यह विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम (एफसीआरए) का उल्लंघन था।
इस बीच श्रीमती जयसिंह ने छापेमारी की पुष्टि करते हुए कहा कि जांच एजेंसी उन्हें और उनके पति को मानवाधिकारों की रक्षा के लिए किये गये कार्यों के कारण निशाना बना रही है। उन्होंने इस कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित करार दिया है।
सुरेश.श्रवण
वार्ता

More News
जाधव के परिजनों से जयशंकर ने की बातचीत

जाधव के परिजनों से जयशंकर ने की बातचीत

17 Jul 2019 | 10:51 PM

नयी दिल्ली 17 जुलाई (वार्ता) अंतरराष्ट्रीय न्यायालय द्वारा पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगाने का फैसला आने के बाद विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने जाधव के परिजनों से फोन पर बात की और उनके साहस एवं धैर्य की सराहना की।

see more..
दिल्ली में सुहाना मौसम, वायु की गुणवत्ता संतोषजनक

दिल्ली में सुहाना मौसम, वायु की गुणवत्ता संतोषजनक

17 Jul 2019 | 10:40 PM

नयी दिल्ली 17 जुलाई (वार्ता) राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को आम तौर पर बादल छाये रहे और मौसम सुहावना रहा। यहां पर आज अधिकतम तापमान 31.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो मौसम के औसत तापमान से तीन डिग्री सेल्सियस कम है। मौसम विभाग ने बताया कि शाम लगभग साढ़े पांच बजे आर्द्रता का स्तर 60 प्रतिशत रहा।

see more..
मोदी ने किया अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले का स्वागत

मोदी ने किया अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले का स्वागत

17 Jul 2019 | 10:21 PM

नयी दिल्ली 17 जुलाई (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगाने के अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए इसे सत्य एवं न्याय की जीत बताया।

see more..
image