Saturday, Feb 16 2019 | Time 16:37 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आतंकवादी हमला मामले में जवानों को खुली छूट दी है: मोदी
  • पोक्सो की विशेष अदालत ने नीतीश के खिलाफ सीबीआई जांच का आदेश दिया
  • अधिकांश जिसों में टिकाव
  • पुलवामा हमले में शहीद मोहन लाल को दी श्रद्धांजलि
  • 34 हॉकी संभावितों में विश्व कप टीम के सभी खिलाड़ी शामिल
  • पूर्व पार्षद के गनर ने की आत्महत्या
  • जम्मू में कर्फ्यू दूसरे दिन भी जारी
  • पाकिस्तान को उसके घर में घुस कर जवाब दिया जाएगा : रघुवर
  • पुलवामा पर सर्वदलीय बैठक के प्रस्ताव पर उमर ने जताई निराशा
  • शहीद जवान की सैन्य सम्मान के साथ हुई अंतिम विदायी
  • ममता ने दादा साहब फाल्के की पुण्यतिथि पर किया स्मरण
  • पाइप बनाने वाली कंपनी में दो कारीगरों की झुलसने से मौत
राज्य Share

पेट्रोलियम उत्पादो की कीमतों में वृद्धि के लिये केन्द्र सरकार जिम्मेदार - शैलजा

पेट्रोलियम उत्पादो की कीमतों में वृद्धि के लिये केन्द्र सरकार जिम्मेदार - शैलजा

जयपुर 09 सितम्बर (वार्ता) अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यसमिति सदस्य एवं प्रदेश स्कीनिंग कमेटी की अध्यक्षा कुमारी शैलजा ने पेट्रोल ,डीजल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि के लिये केन्द्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुये पेट्रोलियम उत्पादकों पर तुंरत करों को कम करने और इसे वस्तु सेवा कर (जीएसटी)में शामिल करने की मांग की है।

कुमारी शैलजा ने आज यहां पार्टी द्वारा कल समूचे देश में महंगायी और पेट्रोलियम उत्पादों की दरों में लगातार हो रही वृद्धि के विरोध में आयोजित भारत बंद के संबंध में आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुये यह मांग की । उन्होंने कहा कि पार्टी द्वारा महंगायी के खिलाफ आयोजित बंद शांतिपूर्ण रहेगा और इसमें पार्टी के वरिष्ठ अधिकारियों को अलग अलग जगह की जिम्मेदारी दी गयी है। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं को बंद से मुक्त रखा गया है और इसके लिये किसी तरह का दवाब नही बनाया जायगा ।

उन्होंने केन्द्र की मोदी सरकार पर प्रहार करते हुये कहा कि उनके 52 माह के शासन काल में एक्साईज ड्यूटी में लगभग 20 गुना अधिक वृद्धि की गयी । उन्होंने आंकडे देते हुये बताया कि यूपीए सरकार के समय देश में एक्साईज डयूटी मात्र 9़2 प्रतिशत थी जो मोदी शासन में बढकर 19़ 48 प्रतिशत हो गयी । उन्होने कहा कि महंगायी ओर पेट्रोल की कीमतों को कम करने के नारों पर सत्तारूढ हुयी केन्द्र की मोदी सरकार की नीतियों के कारण समूचे देश की आम जनता महंगायी से त्रस्त है।

उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार कमी होने के बावजूद देश की जनता को पेट्रोल और डीजल महंगी कीमतों पर बेचा जा रहा है जबकि केन्द्र सरकार की ओर से विदेशों में विक्रेय किये जा रहे पेट्रोल मात्र 34 रूपये में तथा डीजल 29 रूपये में बेचा जा रहा है।

उन्होंने केन्द्र सरकार पर मुनाफा कमाने का आरोप लगाते हुये कहा कि जीएसटी लागू करते समय मोदी सरकार ने इसमें पेट्रोलियम उत्पादों को शामिल करने का वायदा किया था लेकिन उसे पूरा नही किया गया है जबकि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा जनता को राहत देने के लिये केन्द्र से पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी में शामिल करने की मांग की जा रही है जिस पर केन्द्र ने चुप्पी साध रखी है1

कुमारी शैलजा ने कहा कि केन्द्र को आम जनता को राहत देने की बजाय मुनाफा कमाने की लत पड गयी है इसलिये वह चुनावों के समय जनता से किये गये वायदों को भुलाकर नित नये जुमले देकर जनता को भ्रमित करने में जुटी हुयी है। उन्होंने कहा कि केन्द्र और अधिकांश प्रदेशों में भाजपा की सरकार होने के बावजूद जनता को राहत देने के लिये वेट (वेल्यु एडेड टेक्स ) को कम नही किया जा रहा है जबकि कांग्रेस सरकार के समय राज्यों में वेट दरों को कम करके लोगों को राहत दी गयी थी।

कुमारी शैलजा ने राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनावों के संबंघ में पूछे गये सवालों को टालते हुये दावा किया कि आमजनता की भावनाओं के आधार पर प्रदेश में कांग्रेस प्रचंड बहुमत से सरकार बनायेगी ।

More News
ब्रह्मराक्षस की तरह है कैंसर, जागरूकता से ही बचाव : द्रौपदी

ब्रह्मराक्षस की तरह है कैंसर, जागरूकता से ही बचाव : द्रौपदी

16 Feb 2019 | 4:33 PM

रांची, 16 फरवरी (वार्ता) झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कैंसर की तुलना ब्रह्मराक्षस से करते हुए आज कहा कि कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाकर ही इसका सामना किया जा सकता है।

 Sharesee more..
आतंकवाद को जवाब देने के लिये सांप्रदायिक सदभाव जरूरी : मुलायम

आतंकवाद को जवाब देने के लिये सांप्रदायिक सदभाव जरूरी : मुलायम

16 Feb 2019 | 4:25 PM

लखनऊ 16 फरवरी (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद जवानो को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुये पूर्व रक्षामंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सेना को जवाबी कार्रवाई की छूट देने के साथ साथ सरकारों को देश में सांप्रदायिक सदभाव एवं भाईचारे की भावना सुनिश्चित करने के हरसंभव कदम उठाने चाहिये।

 Sharesee more..
image