Wednesday, Oct 23 2019 | Time 15:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नवरात्रि में वर्षा के खलल के बाद अब गुजरात के कुछ हिस्सों में दिवाली भी गीली होने का अंदेशा
  • मरयम को बीमार पिता नवाज से मिलने की अनुमति नहीं
  • लंदन में ट्रक कंटेनर से 39 शव बरामद
  • महाराष्ट्र और हरियाणा में कल आयेगा जनादेश
  • सोना 175 रुपये चमका, चांदी 70 रुपये चढ़ी
  • कश्मीरी युवाओं से हिंसा का रास्ता छोड़ने की अपील
  • गैस एजेंसी के कर्मचारी को गोली मारकर साढ़े चार लाख रुपए की लूट
  • पेड़ों की कटाई से पारिस्थितिकी अंसतुलन: जावड़ेकर
  • अतिक्रमण हटाने गए पुलिस दल पर हमला, सीएसपी सहित आधा दर्जन पुलिस कर्मचारी घायल
  • रविदास मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया भाजपा ने
  • जानी मानी गुजराती लोकगायिका गीता रबारी डेंगू की चपेट में
  • मराठवाड़ा में पिछले पांच दिनों से बारिश
  • जम्मू-कश्मीर में प्रशासनिक सुधार के लिए सरकार कर रही पहल: जितेंद्र सिंह
  • सीमाओं की रक्षा के लिए तत्पर है आईटीबीपी: देशवाल
  • अपराधों के आंकड़े दबाने पर सरकार पर बरसी कांग्रेस
India


केन्द्रीय कर्मचारियों को मिला दिवाली का तोहफा

केन्द्रीय कर्मचारियों को मिला दिवाली का तोहफा

नयी दिल्ली 09 अक्टूबर (वार्ता) सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ते में एक साथ पांच प्रतिशत की वृद्धि कर दिवाली का तोहफा दिया है।
आमतौर पर महंगाई भत्ते में एक से दो फीसदी की बढोतरी होती रही है लेकिन इसबार एक साथ पांच फीसदी की बढोतरी की गयी है। यह वृद्धि एक जुलाई 2019 से ही प्रभावी मानी जायेगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को यहां हुई मंत्रिमंडल की बैठक में इसको मंजूरी दी गयी। बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी देते हुये बताया कि केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ता 12 प्रतिशत से बढ़ाकर 17 प्रतिशत कर दिया गया है। इससे सरकारी कोष पर 15909.35 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार पड़ेगा। इसमें से चालू वित्त वर्ष में जुलाई से फरवरी 2020 तक आठ महीने में 10606.20 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार पड़ेगा।
उन्होंने कहा कि केन्द्रीय कर्मचारियों के मंहगाई भत्ते में बढोतरी से सरकारी कोष पर सालाना 8590.20 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। चालू वित्त वर्ष में जुलाई से फरवरी तक आठ महीने में 5726.80 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार आयेगा। पेशनभाेगियों के महंगाई भत्ते में बढोतरी से सरकारी कोष पर वार्षिक 7319.15 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। चालू वित्त वर्ष में जुलाई से फरवरी तक आठ महीने में 4870 करोड़ रुपये का बोझ आयेगा।
उन्होंने बताया कि सरकार के इस फैसले से केंद्र सरकार के 49.93 लाख कर्मचारियों और 65.26 लाख पेंशनभोगियों को लाभ मिलेगा। सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुरूप महंगाई भत्ते में बढोतरी किये जाने का उल्लेख करते हुये उन्होंने कहा कि महंगाई बढ़ने के मद्देनजर यह वृद्धि की गयी है।
शेखर सत्या
वार्ता

More News
पेड़ों की कटाई से पारिस्थितिकी अंसतुलन: जावड़ेकर

पेड़ों की कटाई से पारिस्थितिकी अंसतुलन: जावड़ेकर

23 Oct 2019 | 3:34 PM

नयी दिल्ली, 23 अक्टूबर(वार्ता) केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि प्रकृति के साथ अब तक बहुत अन्याय हुआ है और अन्धाधुंध तरीके से पेड़ों को काटे जाने से पारिस्थितिकी संतुलन में जबर्दस्त बदलाव आने से प्राकृतिक वातावरण पर प्रतिकूल असर पड़ा है।

see more..
सीमाओं की रक्षा के लिए तत्पर है आईटीबीपी: देशवाल

सीमाओं की रक्षा के लिए तत्पर है आईटीबीपी: देशवाल

23 Oct 2019 | 3:22 PM

नयी दिल्ली, 23 अक्टूबर(वार्ता) भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के महानिदेशक सुरजीत सिंह देशवाल ने आज यहां कहा कि बल के जवान हिमालय और अन्य बर्फीले क्षेत्रों में शून्य से कम तापमान में पूरी तत्परता से देश की सरहदों की रक्षा कर रहे हैं और बल को जो भी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी वह उसके लिए पूरी तैयार हैं।

see more..
जम्मू-कश्मीर में प्रशासनिक सुधार के लिए सरकार कर रही पहल:  जितेंद्र सिंह

जम्मू-कश्मीर में प्रशासनिक सुधार के लिए सरकार कर रही पहल: जितेंद्र सिंह

23 Oct 2019 | 3:10 PM

नयी दिल्ली, 23 अक्टूबर (वार्ता) केंद्रीय कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मामलों के राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने बुधवार को कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन विभाग (डीएआरपीजी) के प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर का दौरा करने और केंद्र शासित प्रदेश बनने जा रहे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में प्रशासनिक सुधारों पर चर्चा करने के लिए कहा।

see more..
अपराधों के आंकड़े दबाने पर सरकार पर बरसी कांग्रेस

अपराधों के आंकड़े दबाने पर सरकार पर बरसी कांग्रेस

23 Oct 2019 | 2:58 PM

नयी दिल्ली, 23 अक्टूबर (वार्ता) कांग्रेस ने राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा देश में पीट-पीट कर हत्या, धार्मिक हत्याओं तथा पत्रकारों पर हमले जैसे अपराधों के आंकड़े नहीं देने पर सरकार की आलोचना करते हुए कहा है कि आंकड़े छिपाकर वह अपनी अक्षमता प्रदर्शन कर रही है।

see more..
image