Saturday, Feb 16 2019 | Time 19:09 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हम हिंसा के कभी हिमायती नहीं रहे : पाकिस्तान
  • मिस्र की सेना की कार्रवाई में सात आतंकवादी मरे
  • उत्तराखंंड में पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में सड़कों में उतरे लोग
  • मिस्र की सेना की कार्रवाई में सात आतंकवादी मरे
  • परेरा के करिश्माई शतक से जीता श्रीलंका
  • लुटेरे बैंक से 43 लाख से अधिक रुपये लूट कर फरार
  • योगी से मिलने को अड़ी शहीद की पत्नी, नहीं हुआ अंतिम संस्कार
  • सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत
  • मोदी रविवार को पटना में पीएनजी आपूर्ति और सीएनजी स्टेशन का करेंगे शुभारंभ
  • उत्तर प्रदेश में फिर बारिश के आसार
  • मोदी रविवार को पटना में पीएनजी आपूर्ति और सीएनजी स्टेशन का करेंगे शुभारंभ
  • राजौरी में शक्तिशाली विस्फोट, सेना अधिकारी शहीद
  • रिश्वत के मामले में पूर्व अपर समाहर्ता दोषी करार
  • राजकोट में दो लागों ने की खुदकुशी
दुनिया Share

अमेरिकी मदद नहीं मिली तो ताइवान पर कब्जा कर सकता है चीन: जोसेफ वू

अमेरिकी मदद नहीं मिली तो ताइवान पर कब्जा कर सकता है चीन: जोसेफ वू

ताइपे, 23 जुलाई (वार्ता) ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने कहा है कि अमेरिका से मिलने वाली सैन्य सहायता के बिना ताइवान की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है।

श्री वू ने अमेरिकी न्यूज नेटवर्क सीएनएन को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि यदि अमेरिका से मिलनेे वाली सैन्य सहायता बंद कर दी जाती है तो चीन अपनी सैन्य ताकत का इस्तेमाल कर ताइवान पर कब्जा कर सकता है। उन्होंने कहा कि ताइवान की सरकार का ऐसा मानना है कि पिछले कुछ वर्षों के दौरान अमेरिका के साथ उसके संबंध काफी मजबूत हुए हैं। इसके बावजूद अमेरिका को ताइवान की सैन्य सहायता के अलावा कूटनीतिक मदद भी जारी रखना काफी महत्वपूर्ण है।

श्री वू ने कहा कि यदि ताइवान को मिलने वाली अमेरिकी सैन्य सहायता रोक दी जाती है तो चीन इसका लाभ उठाकर ताइवान पर कब्जा करने की कोशिश करेगा।

गौरतलब है कि चीन काफी लंबे समय से ताइवान को फिर से अपने में मिलाने का प्रयास कर रहा है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इस वर्ष मार्च में अपने एक भाषण में कहा था कि ताइवान को चीन में मिलाना उनके देश के सभी लोगों की आकांक्षा है। अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस के इस वर्ष जून में चीन दौरे के समय भी चीनी राष्ट्रपति ने अपने एक बयान में कहा कि चीन ‘एक इंच जमीन भी नहीं छोड़ेगा’।

रवि, यामिनी

वार्ता

image