Wednesday, Jan 23 2019 | Time 09:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 24 जनवरी)
  • मोदी ने सुभाष चंद्र बोस को दी श्रद्धांजलि
  • इजरायल के लड़ाकू विमानों ने हमास के शिविर पर किए हमले
  • तुर्की में 4 6 तीव्रता का भूकंप
  • अफगानिस्तान में गोलीबारी में अमेरिकी सैनिक की मौत
  • अफगानिस्तान में गोलीबारी में अमेरिकी सैनिक की मौत
  • नागालैंड सरकार ने किया मुख्य सचिव का तबादला
  • रूसी विमान के अपहरण की कोशिश, एक यात्री गिरफ्तार
विशेष » कुम्भ Share

कुंभ मेला के दौरान इलाहाबाद जंक्शन का सिविल लाइन्स साइड प्रवेश बंद

कुंभ मेला के दौरान इलाहाबाद जंक्शन का सिविल लाइन्स साइड प्रवेश बंद

प्रयागराज, 09 जनवरी (वार्ता)उत्तर मध्य रेलवे (उमरे) ने कुम्भ मेला के दौरान श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा के लिए सभी स्नान पर्वों से एक दिन पूर्व तथा दो दिन बाद तक प्रयागराज (इलाहाबाद) जंक्शन पर जाने के लिए सिविल लाइन्स की तरफ से प्रवेश बन्द किया है।

उमरे के जनसंपर्क अधिकारी सुनील कुमार गुप्त ने शनिवार को बताया कि स्नान पर्व 15 जनवरी मकर संक्रांति, 21 जनवरी पौष पूर्णिमा,चार फरवरी मौनी अमावस्या, 10 फरवरी बसंत पंचमी, 19 फरवरी माघी पूर्णिमा और चार मार्च महाशिवरात्रि से एक दिन पहले और दो दिन बाद तक सिविल लाइन्स क्षेत्र से श्रद्धालुओं का जक्शन आने के लिए प्रवेश बन्द रहेगा।

उन्होंने बताया कि जंक्शन पर प्रवेश केवल इलाहाबाद सिटी साइड से होगा तथा जिन यात्रियों का ट्रेन में आरक्षण होगा, आरक्षित टिकट धारक केवल प्रवेश द्वार संख्या पांच से प्रवेश करेंगे तथा अनारक्षित यात्रियों को आश्रयों के माध्यम से स्टेशन पर प्रवेश दिया जायेगा। आरक्षित टिकट धारकों को यात्रा प्रारंभ करने से एक घंटे पूर्व स्टेशन पर पहुचना होगा जिससे किसी तरह की कोई असुविधा न हो।

श्री गुप्त ने बताया कि जंक्शन पर आधुनिक सुविधाओं से युक्त लाल, नीला, पीला तथा हरा रंग के चार आश्रय बनाये गए हैं। प्रमुख स्नान पर्वों के दौरान मानिकपुर, सतना, बाँदा, झाँसी की ओर जाने वाले अनारक्षित यात्री आश्रय संख्या एक में, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, लखनऊ एवं वाराणसी की ओर जाने वाले यात्री आश्रय दो, मिर्ज़ापुर, विन्ध्याचल, पटना की ओर जाने वाले यात्री आश्रय संख्या तीन, तथा फतेहपुर, कानपुर एवं दिल्ली की ओर जाने वाले यात्री आश्रय संख्या चार में प्रवेश करने के बाद निधारित प्लेटफार्म पर पहुचेंगे।

कुंभ मेला 2019 के दौरान प्रमुख स्नान पर्वों पर आवश्कतानुसार नियमित मेल और एक्सप्रेस गाड़ियों का ठहराव सुबेदारगंज स्टेशन पर किया जायेगा जिससे यात्रियों को किसी तरह की असुविधा न/न हो। यात्रा के दौरान किसी भी अपरचित द्वारा दिया गया कोई भी खाने पीने का सामान यात्री स्वीकार न करें एवं कम से कम सामान लेकर सुगम यात्रा करें।

More News
कुम्भ क्षेत्र में प्रवासी भारतीयों के आगमन पर होगा संगम सील

कुम्भ क्षेत्र में प्रवासी भारतीयों के आगमन पर होगा संगम सील

22 Jan 2019 | 12:30 PM

कुम्भ नगर, 22 जनवरी (वार्ता) कुम्भ नगरी प्रयाग में प्रवासी भारतीयों के आगमन पर संगम क्षेत्र को आम श्रद्धालुओं के स्नान के लिए लिए बन्द रखा जायेगा।

 Sharesee more..
उत्तराखण्ड और हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कुम्भ में आकर साधु-संतो से की मुलाकात

उत्तराखण्ड और हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कुम्भ में आकर साधु-संतो से की मुलाकात

21 Jan 2019 | 9:21 PM

कुम्भ नगर, 21 जनवरी (वार्ता) उत्तराखंड और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों ने सोमवार को यहां कुम्भ मेले में साधु-संतों से मुलाकात की।

 Sharesee more..
पौष पूर्णिमा स्नान पर एक करोड़ सात लाख श्रद्धालुओं ने संगम में डुबकी लगाई

पौष पूर्णिमा स्नान पर एक करोड़ सात लाख श्रद्धालुओं ने संगम में डुबकी लगाई

21 Jan 2019 | 6:58 PM

कुम्भ नगर,21 जनवरी (वार्ता) दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुम्भ में पौष पूर्णिमा के पवान पर्व पर सोमवार को गंगा, यमुना अौर त्रिवेणी के संगम में अस्था की डुबकी लगाई।

 Sharesee more..
संगम की रेती पर संयम,श्रद्धा एवं कायाशोधन का 'कल्पवास' शुरू

संगम की रेती पर संयम,श्रद्धा एवं कायाशोधन का 'कल्पवास' शुरू

21 Jan 2019 | 11:30 AM

इलाहाबाद, 21 जनवरी (वार्ता) कुम्भ में पौष पूर्णिमा के पावन पर्व पर श्रद्धा की डुबकी के साथ ही संयम, अहिंसा, श्रद्धा एवं कायाशोधन के लिए तीर्थराज प्रयाग में गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती की रेती पर कल्पवासियों ने डेरा जमा लिया।

 Sharesee more..
कुम्भ के दौरान 22 पण्टून पुल से श्रद्धालुओं का हो रहा आवागमन

कुम्भ के दौरान 22 पण्टून पुल से श्रद्धालुओं का हो रहा आवागमन

20 Jan 2019 | 6:50 PM

प्रयागराज , 20 जनवरी (वार्ता) दुनिया के सबसे बड़े धर्मिक पर्व कुम्भ मेले में दूर दराज से आने वाले श्रद्धालुओं के आवागमन के लिए 22 पैण्टून पुल तैयार कराया गया है।

 Sharesee more..
image