Thursday, May 28 2020 | Time 13:53 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • टिड्डियों पर नियंत्रण के लिए हाेगा ड्रोन से कीटनाशकों का छिड़काव
  • महाराष्ट्र पुलिस के 2095 कोरोना योद्धा संक्रमित, 22 की मौत
  • अरुणाचल में सुरक्षा बलों ने भारी मात्रा में हथियार और गोला बारुद बरामद किए
  • पेरु में एक दिन में कोरोना के रिकाॅर्ड 6154 नये मामले
  • छत्तीसगढ़ में इनामी नक्सली ने किया समर्पण
  • फिलीपींस के लुजोन द्वीप में भूकंप के मध्यम झटके
  • प रेलवे से आठ पार्सल विशेष ट्रेन रवाना
  • जर्मनी में कोरोना के 353 नये मामले, संक्रमितों की संख्या 179717 हुई
  • अफगानिस्तान में आतंकवादी हमला, सात पुलिसकर्मियों की मौत
  • लीबिया में कर्फ्यू की मियाद 10 दिन बढ़ी
  • शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक
  • शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक
  • सारण में प्रॉपर्टी डीलर की गोली मारकर हत्या
  • किसी देश पर निर्भर नहीं रहेगा डब्ल्यूएचओ, अलग फाउंडेशन की स्थापना
  • स्पाइसजेट ने तीन क्यू400 विमानों को मालवाहक में बदला
राज्य » अन्य राज्य


कश्मीर घाटी में बंद पड़े मंदिरों के फिर से खुलेंगे कपाट: रेड्डी

कश्मीर घाटी में बंद पड़े मंदिरों के फिर से खुलेंगे कपाट: रेड्डी

बेंगलुरु,23 सितम्बर(वार्ता) जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने और अनुच्छेद 370 के कुछ प्रावधानों को हटाए जाने के बाद केंद्र सरकार राज्य में वर्षों से बंद पड़े मंदिरों के कपाट फिर से खोलने की तैयारी कर रही है ।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने सोमवार को यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि कश्मीर घाटी में पिछले कई वर्षों से करीब 50 हजार मंदिरों के कपाट बंद पड़े हैं । इन मंदिरों में से कुछ का ढांचा भी तोड़ दिया गया था और मूर्तियों को भी नुकसान पहुंचाया गया था । केंद्र सरकार कश्मीर घाटी में ऐसे मंदिरों का जल्दी ही सर्वेक्षण करवाने जा रही है और जल्द ही इनको फिर से खोलने पर काम शुरु किया जायेगा।

श्री रेड्डी ने बताया कि कश्मीर में बंद पड़े विद्यालयों को फिर से खोले जाने पर भी काम शुरु किया जायेगा। घाटी में बंद पड़े स्कूलों की सही जानकारी के लिए सर्वेक्षण कराया जा रहा है । सर्वेक्षण के लिए समिति गठित की गई है । समिति की रिपोर्ट के बाद स्कूलों को फिर से खोलने के लिए कदम उठाये जायेंगे।

श्री रेड्डी ने बताया कि दशकों तक घाटी में आतंकवाद की वजह से हजारों की संख्या में पंडितों को पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा था । आतंकवादियों ने बड़ी संख्या में कश्मीरी पंडितों की हत्याएं भी की थी । इस दौरान वहां के कई प्रसिद्ध मंदिरों समेत हजारों मंदिरों के ढांचे और मूर्तियों को नुकसान पहुंचाया गया था । उन्होंने कहा केंद्र सरकार जम्मू कश्मीर में आतंकवाद के खात्मे के लिए प्रतिबद्ध है। आतंकवाद का सफाया करने के लिए अभियान भी जारी है । सरकार घाटी से नफरत की भावना को जड़ से खत्म करके ही शांत बैठेगी।

गौरतलब है कि 90 के दशक में जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का दौर शुरु होने के बाद वहां रहने वाले कश्मीरी पंडितों को पलायन करना पड़ा था । कश्मीरी पंडितों को मारने के अलावा आतंकवादियों ने मंदिरों को भी नुकसान पहुंचाया था। बंद पड़े मंदिरों में कई मशहूर हैं ।

मिश्रा टंडन

वार्ता

More News
केरल में मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह

केरल में मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह

28 May 2020 | 9:17 AM

तिरुवनंतपुरम 28 मई (वार्ता) दक्षिण पूर्व और उससे सटे पूर्व मध्य अरब सागर पर कम दबाव विकसित होने के अनुमान को देखते हुए मछुआरों को 31 मई से चार जून तक मछली पकड़ने के लिए गहरे समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

see more..
image