Thursday, Jan 24 2019 | Time 16:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चिकित्सक के लापता भतीजे का शव बरामद
  • जयंती के मौके पर याद किये गये कर्पूरी ठाकुर
  • रॉकिंगडील्स की स्पाइस हॉटस्पॉट रिटेल के साथ साझेदारी
  • केदारनाथ कस्तूरी मृग अभ्यारण्य में मंदिरों को शामिल करने के मामले में केन्द्र से मांगा जवाब
  • मैसी सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी: गार्सिया
  • चंदा के खिलाफ सीबीआई ने किया मुकदमा दर्ज, चार जगह छापे
  • असम के तीन व्याख्याता सड़क हादसे के शिकार
  • शोपियां में दूसरे दिन भी रहा जनजीवन प्रभावित
  • सिंधू और श्रीकांत क्वार्टरफाइनल में
  • बॉलीवुड अभिनेता यशपाल शर्मा बनाएंगे कवि पं0 लख्मी चंद की बायोपिक
  • राजकोट में पुलिस ने किये दो फर्जी डॉक्टर गिरफ्तार
  • गैस सिलेंडर विस्फोट से पांच झुलसे
  • 27वां कन्वर्जेंस इंडिया एक्सपो 29जनवरी से दिल्ली में
  • कांग्रेस विधायक आनंद सिंह को नेत्र अस्पताल में कराया गया भर्ती
  • ओसाका और क्वितोवा में होगा खिताबी मुकाबला
राज्य Share

कांग्रेस की गोवा में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

कांग्रेस की गोवा में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

पणजी 03 सितम्बर (वार्ता) गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के विदेश में उपचार और दो अन्य मंत्रियों के स्वस्थ नहीं होने और लगातार कार्यालय नही आने के कारण कांग्रेस ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता रमाकांत खलप ने सोमवार को कहा कि राज्य में संवैधानिक संकट उत्पन्न हो गया है। इसे देखते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। कांग्रेस ने अपनी इस मांग को लेकर राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात का समय मांगा है।

श्री खलप ने कहा कि श्री पर्रिकर स्वास्थ्य कारणों से लगातार कार्यालय नहीं आ रहे हैं। वह विदेश में उपचार करा रहे हैं और अपना प्रभार भी किसी को नहीं सौंप कर गए हैं। मुख्यमंत्री के अलावा ऊर्जा मंत्री पांडुरंग मडकाईकर और शहरी विकास मंत्री फ्रांसिस डिसूजा भी अस्वस्थ हैं और मंत्रालय नहीं आ रहे हैं।

श्री पर्रिकर अग्नाशय से जुड़ी बीमारी का इलाज कराने के लिए मार्च से जून के दौरान अमरिका में रहे । वह 10 अगस्त को फिर अमेरिका गए और 22 अगस्त को वापस लौटे। इसके अगले ही दिन फिर अस्पताल में भर्ती हो गए।

श्री खलप ने कहा कि मुख्यमंत्री और अन्य मंत्री कब तक स्वस्थ होकर लौटेंगे, इसकी कोई तय समय सीमा नहीं हैं। राज्य में संवैधानिक संकट है और राज्यपाल को इसे दूर करने के लिए हस्तक्षेप करना चाहिए।

भाजपा सूत्रों के अनुसार श्री पर्रिकर डाक्टरों की सलाह पर 29 अगस्त को फिर अमेरिका गए हैं और उनके आठ सितंबर तक लौट आने की उम्मीद हैं। श्री डिसूजा इलाज के लिए अमेरिका में पिछले महीने से ही हैं। श्री मडकाईकर मस्तिष्काघात के बाद पांच जून से अस्पताल में उपचार करा रहे हैं।

मिश्रा.श्रवण

वार्ता

image