Sunday, Sep 23 2018 | Time 19:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • महाराष्ट्र में धूमधाम से हुआ गणेश विसर्जन
  • सवर्ण समाज पार्टी मध्यप्रदेश के अलावा छत्तीसगढ और राजस्थान में भी लड़ेगी चुनाव
  • त्रिपुरा में मलेरिया का कहर,20 बच्चे अस्पताल में भर्ती
  • झारखंड को 6-0 से पीटकर दिल्ली क्वार्टरफाइनल में
  • गुजरात में गणपति की प्रतिमाओं का विसर्जन
  • हुसैनसागर झील में भगवान गणेश की 2000 से अधिक मूर्तियां विसर्जित
  • तीन तलाक का मुद्दा राजनीति का विषय नहीं : रविशंकर
  • एकता, अखंडता और सम्मान के लिए डालें वोट: लू
  • भारत ने छह स्वर्ण के साथ जीता ट्रैक एशिया कप
  • वोट बैंक की राजनीति के कारण गरीबों के स्वास्थ्य की हुई अनदेखी : मोदी
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • सरकार को आन्दोलनरत कर्मचारियों से करनी चाहिए बात-पायलट
  • पर्रिकर ही गोवा के मुख्यमंत्री बने रहेंगें: अमित शाह
  • हरियाणा ने जम्मू-कश्मीर को तीन विकेट से हराया
राज्य Share

कांग्रेस की गोवा में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

कांग्रेस की गोवा में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

पणजी 03 सितम्बर (वार्ता) गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के विदेश में उपचार और दो अन्य मंत्रियों के स्वस्थ नहीं होने और लगातार कार्यालय नही आने के कारण कांग्रेस ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता रमाकांत खलप ने सोमवार को कहा कि राज्य में संवैधानिक संकट उत्पन्न हो गया है। इसे देखते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। कांग्रेस ने अपनी इस मांग को लेकर राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात का समय मांगा है।

श्री खलप ने कहा कि श्री पर्रिकर स्वास्थ्य कारणों से लगातार कार्यालय नहीं आ रहे हैं। वह विदेश में उपचार करा रहे हैं और अपना प्रभार भी किसी को नहीं सौंप कर गए हैं। मुख्यमंत्री के अलावा ऊर्जा मंत्री पांडुरंग मडकाईकर और शहरी विकास मंत्री फ्रांसिस डिसूजा भी अस्वस्थ हैं और मंत्रालय नहीं आ रहे हैं।

श्री पर्रिकर अग्नाशय से जुड़ी बीमारी का इलाज कराने के लिए मार्च से जून के दौरान अमरिका में रहे । वह 10 अगस्त को फिर अमेरिका गए और 22 अगस्त को वापस लौटे। इसके अगले ही दिन फिर अस्पताल में भर्ती हो गए।

श्री खलप ने कहा कि मुख्यमंत्री और अन्य मंत्री कब तक स्वस्थ होकर लौटेंगे, इसकी कोई तय समय सीमा नहीं हैं। राज्य में संवैधानिक संकट है और राज्यपाल को इसे दूर करने के लिए हस्तक्षेप करना चाहिए।

भाजपा सूत्रों के अनुसार श्री पर्रिकर डाक्टरों की सलाह पर 29 अगस्त को फिर अमेरिका गए हैं और उनके आठ सितंबर तक लौट आने की उम्मीद हैं। श्री डिसूजा इलाज के लिए अमेरिका में पिछले महीने से ही हैं। श्री मडकाईकर मस्तिष्काघात के बाद पांच जून से अस्पताल में उपचार करा रहे हैं।

मिश्रा.श्रवण

वार्ता

image