Tuesday, Jun 18 2024 | Time 04:44 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से लेकर कार्यकर्ता तक हार से डरे : अनुराग

कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से लेकर कार्यकर्ता तक हार से डरे : अनुराग

शिमला, 03 मई (वार्ता) केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से लेकर देश भर में स्थानीय नेतृत्व के हार से डरे होने की बात कही।

श्री ठाकुर ने यह बातें हमीरपुर के सुजानपुर मंडल में आयोजित पन्ना प्रमुख सम्मेलन में कहीं। उन्होंने कहा,‘‘कांग्रेस पार्टी इन चुनावों में पूरी तरह हताश और निराश दिख रही है। कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से लेकर स्थानीय नेतृत्व के अंदर हार का डर भर गया है। डरो मत के नारे के साथ शुरुआत करने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज हार के डर से कभी अमेठी से वायानाड और कभी वायनाड से रायबरेली जा रहे हैं। न्याय की बात करने वाली कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ कांग्रेस में खुद अन्याय हुआ है क्योंकि उनके पति रॉबर्ट वाड्रा रायबरेली से टिकट मांग रहे थे। प्रियंका जी का स्वयं भी रायबरेली से चुनाव लड़ने हेतु नाम सामने आ रहा था। अब वायनाड के हार को सामने देख कर श्री राहुल गांधी रायबरेली पहुँचे हैं,श्री राहुल गांधी जितना मर्ज़ी भाग लें उनकी दोनों जगह से हार निश्चित है।लगता है कांग्रेस पार्टी के शीर्ष में भी सब कुछ ठीक नहीं है।’’

श्री ठाकुर ने आगे कर्नाटक के जनतादल-एस नेता श्री प्रज्वल रेवन्ना के ऊपर पूछे गए प्रश्न के जवाब में कहा,“जब कांग्रेस को उसके बारे में पता था तो समय रहते कार्रवाई क्यों नहीं की? कानून व्यवस्था हमेशा राज्य सरकार की जिम्मेदारी होती है। मान लीजिए हिमाचल में जब दो बहनों की हत्या हुई थी तब क्या अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग केंद्र सरकार से की जाएगी? अब जब वह व्यक्ति विदेश चला गया तब कांग्रेस जानबूझकर इस पर राजनीति कर रही है। कांग्रेस शासित कर्नाटक में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। हाल में ही जब एक कांग्रेस काउंसलर की बेटी की बेरहमी से हत्या की गई तब भी वहां की कांग्रेस सरकार ने वोट बैंक और तुष्टीकरण के चलते कोई कार्रवाई नहीं की। बेंगलुरु में आतंकवादी हमला होता है तब भी कांग्रेस आतंकियों को पकड़ने के बजाय तुष्टीकरण करने में व्यस्त रहती है। अंत में आतंकियों को ममता बनर्जी द्वारा शासित पश्चिम बंगाल से पकड़ा जाता है। अभी भी कर्नाटक से एक राजनीतिक व्यक्ति के वीडियो सामने आने के बाद कांग्रेस की सरकार उसपर कार्रवाई करने में पूरी तरह से विफल रही। इन्हें पूरे प्रकरण के बारे में पहले से मालूम था फिर भी इन्होंने उसे विदेश भागने दिया। कर्नाटक के विधानसभा में राज्यसभा के चुनाव के बाद कांग्रेस के समर्थक पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं पर कांग्रेस उस पर कार्रवाई करने की बजाय उसकी लीपापोती करती है।’’

श्री ठाकुर ने अंत में कहा कि हमें फर्क नहीं पड़ता कि हमारे सामने विपक्षी उम्मीदवार कौन है। हम अपने विकास के ट्रैक रिकार्ड, मुद्दों और विचारधारा पर चुनाव लड़ते हैं। 2014 और 2019 की भांति फिर से हिमाचल प्रदेश की जनता चारों की चारों सीटें भारतीय जनता पार्टी को जिताएगी और मोदी जी को पुनः तीसरी बार देश का प्रधानमंत्री बनाएगी।

श्री ठाकुर ने संसदीय क्षेत्र के विकास के बारे में बोलते हुए कहा,‘‘मोदी जी के आशीर्वाद से हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में 360 डिग्री विकास हुआ है। आज क्षेत्र में 300 बेड का मेडिकल कॉलेज अस्पताल लगभग 400 करोड रुपए की लागत से बनकर तैयार हो चुका है। यहां कक्षाएं तीन-चार साल पहले से ही चालू हैं। किसने सोचा था की एक हीं संसदीय क्षेत्र में एम्स भी होगा, पीजीआई भी होगा, दो दो मेडिकल कॉलेज होंगे, केंद्रीय विद्यालय भी होंगे, केंद्रीय विश्वविद्यालय भी होगा, ट्रिपल आईटी भी होगा, एनआईटी भी होगा, हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज भी होगा, हर जिले में फोरलेन हाईवे होगा और वंदे भारत ट्रेन भी होगी। लेकिन यह सब भारतीय जनता पार्टी ने संभव कर दिखाया है। अब हमारे बच्चों को पढ़ाई के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा। वह अपने घर पर रहकर डॉक्टर, इंजीनियर और वह सब कुछ बन सकते हैं जिसके वह हकदार हैं।’’

श्री ठाकुर ने कहा कि जल्द वह शुभ घड़ी आने वाली है जब पड़ोसी देशों से धार्मिक आधार पर प्रताड़ित हो कर 2014 से पहले भारत आए हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध व ईसाइयों को सीएए द्वारा भारत की नागरिकता मिलेगी।

सं.संजय

वार्ता

image