Tuesday, Jul 16 2019 | Time 02:15 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पुतिन, ट्रम्प और रूहानी से करूंगा परमाणु समझौते पर चर्चा : मैक्रॉन
खेल


ओलंपिक उम्मीदाें को लेकर सीपीएसई की खेल नीति

ओलंपिक उम्मीदाें को लेकर सीपीएसई की खेल नीति

नयी दिल्ली, 27 अगस्त (वार्ता) ओलंपिक में भारत की पदक उम्मीदों को नयी ऊंचाइयों पर ले जाने के लिये इस्पात मंत्रालय के तहत केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) के लिये खेल नीति का गठन किया गया है जिसकी शुरूआत सोमवार को केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने यहां एक कार्यक्रम में की।

बीरेंद्र सिंह ने इस खेल नीति को जारी करते हुये कहा,“ हमने अनुभवी खिलाड़ियों के साथ विचार विमर्श कर इस नीति को तैयार किया है। खेल किसी भी देश की प्रगति और अर्थव्यवस्था का आईना होते हैं और हम चाहते हैं कि भारत खेलों में दुनिया के शीर्ष देशों में शुमार हो। इस नीति का लक्ष्य ओलंपिक खेल खासतौर पर 2024 के ओलंपिक हैं।”

इस्पात मंत्री ने कहा,“ आज खेल मनोरंजन नहीं रहे बल्कि उनकी परिभाषा ही बदल गयी है। खेलों में बहुत पैसा आया है जिसका लाभ हजारों खिलाड़ियों को मिल रहा है, उन्हें नौकरियां मिल रही हैं और करियर में नयी संभावनाएं मिल रही हैं।”

उन्होंने सरकार के खेलो इंडिया कार्यक्रम का जिक्र करते हुये कहा,“ खेलो इंडिया कार्यक्रम के अच्छे परिणाम अब सामने आने लगे हैं। हमने भी सीपीएसई के लिये यह खेल नीति तैयार की है और इसपर हम उतना ही काम करेंगे जितना हम अपने प्लांट पर करते हैं। खिलाड़ियों को पूरी सुविधाएं दी जाएंगी जो उनकी पहली जरूरत है।”

बीरेंद्र सिंह ने साथ ही कहा,“ इस नीति को लेकर हम खेल मंत्रालय के सीधे संपर्क में रहेंगे और साथ ही हम इस संस्था को भारतीय ओलंपिक संघ(आईओए) के साथ एक खेल महासंघ के रूप में पंजीकृत भी कराएंगे ताकि यह एक फेडरेशन के तौर पर उसी तरह काम कर सके जिस तरह अन्य फेडरेशन करते हैं।”

इस्पात मंत्रालय के तहत सीपीएसई प्रतिभाओं को तलाशने, स्कॉलरशिप, ट्रेनिंग, कोचिंग, वर्कशॉप, शिविर आदि के लिये जरूरी समर्थन देगा। सीपीएसई विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनाें को आशिंक या पूर्णरूप से प्रायोजित भी करेगा और साथ ही प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को किट भी प्रदान करेगा।

सीपीएसई अपनी एक सर्वाेच्च संस्था एएसबी का गठन करेगा जिसका आईओए के साथ पंजीकरण कराया जाएगा। एएसबी के सदस्यों में सीपीएसई के शीर्ष अधिकारी और जाने माने खिलाड़ी शामिल होंगे। इसका मुख्यालय नयी दिल्ली स्थित होगा। इसके अलावा सीपीएसई खेल नीति के उद्देश्यों को हासिल करने के लिये एक खेल समिति का भी गठन करेगा। प्रत्येक सीपीएसई को दो से तीन खेल आवंटित किये जाएंगे जिसमें उन्हें खिलाड़ियों को तैयार करना होगा।

More News
इस बार प्रो कबड्डी का खिताब जीतेंगे: गुजरात फार्च्यून जायंट्स

इस बार प्रो कबड्डी का खिताब जीतेंगे: गुजरात फार्च्यून जायंट्स

15 Jul 2019 | 11:27 PM

अहमदाबाद, 15 जुलाई (वार्ता) प्रो कबड्डी लीग में अपने प्रवेश के बाद से दोनों सत्रों में फाइनल तक पहुंचने वाली युवा टीम गुजरात फार्च्यून जायंट्स ने सोमवार को कहा कि इस बार यानी लीग के सीजन 7 में यह बदली हुई रणनीति के जरिये खिताब पर जरूर कब्जा जमायेगी।

see more..
राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस से हटा पाकिस्तान

राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस से हटा पाकिस्तान

15 Jul 2019 | 11:27 PM

कटक, 15 (वार्ता) ओडिशा के कटक में होने वाली 21वीं राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस चैंपियनशिप से ठीक पूर्व में पाकिस्तान इस टूर्नामेंट से हट गया है।

see more..
उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर

उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

अहमदाबाद, 15 जुलाई (वार्ता) उत्तर कोरिया ने शीर्ष पर चल रही टीम ताजिकिस्तान को सोमवार को 1-0 से हरा दिया और उत्तर कोरिया की इस जीत के साथ मेजबान तथा गत चैंपियन भारत इंटरकांटिनेंटल कप फुटबॉल टूर्नामेंट से बाहर हो गया।

see more..
इंग्लैंड-न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता, बाउंड्री नियम क्रूर

इंग्लैंड-न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता, बाउंड्री नियम क्रूर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 15 जुलाई (वार्ता) विश्वकप फाइनल में सुपर ओवर भी टाई हो जाने के बाद सर्वाधिक बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित करने पर पूर्व क्रिकेटरों ने आईसीसी के इस नियम को काफी क्रूर बताया और कई खिलाड़ियों ने कहा कि दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाना चाहिये था।

see more..
इंग्लैंड और न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 15 जुलाई (वार्ता) विश्वकप फाइनल में सुपर ओवर भी टाई हो जाने के बाद सर्वाधिक बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित करने पर पूर्व क्रिकेटरों ने आईसीसी के इस नियम को काफी क्रूर बताया आैर कई खिलाड़ियों ने कहा कि दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाना चाहिये था।

see more..
image