Monday, Feb 17 2020 | Time 20:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एशियाई पैदल चाल चैंपियनशिप के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम
  • सभी पक्षों से मिलकर संतुलित समाधान की कवायद करेंगे : संजय हेगड़े
  • बीएमडब्ल्यू हिट एंड रन मामले के आरोपी विस्मय शाह की अर्जी हाई कोर्ट ने की खारिज, निचली अदालत की सजा रखी बरकरार
  • स्कूल की दीवार गिरी, महिला सहित दो मजदूरों की मौत, एक गंभीर
  • कश्मीरी पत्रकारों के उत्पीड़न पर शाह से हस्तक्षेप की अपील
  • हिमाचल में नई आबकारी और टॉल नीति को मंजूरी
  • नाबालिग बच्ची को वेश्यावृत्ति के लिए बेचने के दोषी को दस साल की सजा
  • डाॅ0 दिनेश शर्मा ने बोर्ड परीक्षार्थियों को दी शुभकामनाएं
  • बिहार भवन को अधिकाधिक उपयोगी बनाया जाये: नीतीश
  • नर्स ने की आत्महत्या
  • हमीरपुर सड़क हादसों में दम्पति समेत तीन की मृत्यु
  • हिमाचल में स्वाइन फ्लू से पहली मौत, छह माह के बच्चे ने तोड़ा दम
  • एशियाई पैदल चाल चैंपियनशिप के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम
  • एशियाई पैदल चाल चैंपियनशिप के लिए 13 सदस्यीय भारतीय टीम
राज्य » उत्तर प्रदेश


डिफेंस एक्सपो: एमबीडीए के उत्पाद बनेंगे आकर्षण का केन्द्र

डिफेंस एक्सपो: एमबीडीए के उत्पाद बनेंगे आकर्षण का केन्द्र

लखनऊ 03 फरवरी (वार्ता) मिसाइल प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अग्रणी एकीकृत बहु-राष्‍ट्रीय कंपनी एमबीडीए पांच फरवरी से यहां शुरू होने वाले डिफेंस एक्सपो-2020 में भारतीय सेना समेत अन्य देशों को अपने मारक रक्षा उत्पादों के जरिये आकर्षित करेगा।

     कंपनी के प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि एमबीडीए अपने स्‍टैंड पर मिसाइल और मिसाइल सिस्‍टम्‍स पोर्टफोलियो की पूरी श्रृंखला को प्रदर्शित करेगा, जिसमें भारत और अन्‍य देशों की वायु, थल और जल सेना के लिए रुचि हो सकती है। एलएंडटी एमबीडीए मिसाइल सिस्‍टम्‍स लि. के उत्‍पाद मेक इन इंडिया के लक्ष्‍य की दिशा में महती भूमिका निभायेंगे जिसमें नवीनतम पीढ़ी का नेवल एयर डिफेंस सिस्‍टम सी-सेप्‍टर समेत अन्य मारक हथियार शामिल हैं। सी सेप्‍टर नई पीढ़ी का सदाबहार एयर डिफेंस सिस्‍टम है, जो नौसेना को आकर्षित कर सकती है क्‍योंकि वह अपनी शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (एसआरएसएएम) जरूरत को पूरा करने के लिए इस पर विचार कर रही है।

     उन्होने बताया कि इसके अलावा वायुसेना के बेड़े में इस साल शामिल होने वाला पहला राफेल लड़ाकू विमान एमबीडीए के गेम चेंजिंग हथियारों से सुसज्जित होगा,जिसमें स्काल्प डीप स्ट्राइक और मेटेयोर एयर-टू-एयर मिसाइल शामिल हैं।


          प्रवक्ता ने बताया कि एमबीडीए के स्टैंड में एसआरएसएएम और एटीजीएम5 समेत कई उत्‍पादों का प्रदर्शन किया जाएगा। एटीजीएम5 को भारत में ही डिजाइन और निर्मित किया जाएगा जिसमें अगली पीढ़ी की प्रमुख तकनीकों का स्‍थानांतरण शामिल है। एटीएजीएम5 के लिए एक नया कार्यात्मक सिमूलेटर एक्सपो में पहली बार पेश किया जाएगा।      

      उन्होने कहा कि एएसआरएएएम की आपूर्ति वायुसेना को उसके नई पीढ़ी के क्‍लोज कॉम्बैट मिसाइल कार्यक्रम के तहत की जा रही है। अपनी बड़ी रॉकेट मोटर और साफ एयरोडायनामिक डिजाइन के साथ एएसआरएएएम में बेजोड़ गति और परिणामी वायुगतिकीय गतिशीलता और सीमा क्षमता है। एएसआरएएएम इसे एक उच्‍च गतिमान क्षमता प्रदान करता है जो विजुअल रेंज हवाई युद्ध के लिए बेहतर एंड-गेम प्रदर्शन प्रदान करता है। एएसआरएएएम को वायु सेना के उन्‍नत जगुआर बेड़े और संभवत: अन्‍य आईएएफ प्‍लेटफॉर्म में उपयोग किया जाएगा।

     इसके अलावा मीका की आपूर्ति वायु सेना के मिराज 2000 को अपग्रेड करने के लिए की जा रही है। यह राफेल के साथ निकटता से जुड़ा एक वेपन सिस्‍टम भी है। एमबीडीए के स्‍टैंड में प्रदर्शित, यह दुनिया की अकेली ऐसी मिसाइल होगी जिसमें नजदीकी लड़ाई से लेकर दृश्‍य सीमा से परे तक की लड़ाई को कवर करने के लिए दो इंटरऑपरेबल सीकर्स (एक्टिव रडार और इमेजिंग इंफ्रारेड) दिए गए हैं। एंड गेम के अंतिम चरण में सीकर को लॉक करने से पहले निष्क्रिय मोड में बीवीआर के लिए उड़ान भरने की इसकी क्षमता की वजह से इसे साइलेंट किलर का उपनाम दिया गया है, क्‍योंकि दुश्‍मन के पास प्रतिक्रिया देने या प्रभावी रक्षात्‍मक उपाय करने के लिए बहुत कम समय मिलता है।

          गौरतलब है कि एमबीडीए एकमात्र यूरोपीय समूह है जो तीनों सशस्‍त्र बलों (थल, जल और वायु) की वर्तमान और भविष्‍य की परिचालन आवश्‍यकताओं की पूरी श्रृंखला के अनुरूप मिसाइल और मिसाइल सिस्टम्‍स की डिजाइनिंग और निर्माण में सक्षम है।

     पांच यूरोपीय देशों और अमेरिका में महत्‍वपूर्ण उपस्थिति के साथ, 2019 में एमबीडीए ने 17.4 अरब यूरो के ऑर्डर बुक के साथ 3.2 अरब यूरो का टर्नओवर हासिल किया है। दुनिया में 90 से अधिक सशस्‍त्र बल ग्राहकों के साथ, एमबीडीए मिसाइल और मिसाइल सिस्‍टम्स में वर्ल्‍ड लीडर है।

     कुल मिलाकर, समूह 45 मिसाइल सिस्‍टम्‍स और काउंटरमेजर्स उत्‍पादों की एक श्रृंखला की पेशकश करता है जो पहले से ही परिचालन सेवा में हैं और 15 अन्‍य उत्‍पाद वर्तमान में विकसित किए जा रहे हैं। एमबीडीए पर संयुक्‍त रूप से एयरबस (37.5 प्रतिशत), बीएई सिस्‍टम्‍स (37.5 प्रतिशत) और लियोनार्डो (25 प्रतिशत) का स्‍वामित्‍व है।

प्रदीप

वार्ता
More News
विवादित बयान देने के मामले में मौलाना तौकीर रजा के खिलाफ मुकदमा

विवादित बयान देने के मामले में मौलाना तौकीर रजा के खिलाफ मुकदमा

17 Feb 2020 | 8:22 PM

सम्भल 17 फरवरी (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी,गृहमंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विवादित बयानबाजी के आरोप में बरेलवी संप्रदाय के धर्मगुरू और इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल (आईएमसी) संस्थापक तौकीर रजा के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

see more..
image