Tuesday, Sep 17 2019 | Time 18:09 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सुजीत मान को मिलेगा सर्वश्रेष्ठ कोच का पेफी अवार्ड
  • प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर विशेष सुरक्षा के तहत तैनात सब इंस्पेक्टर ने सर्किट हाऊस में की आत्महत्या
  • खाद्य तेल सुस्त, चीनी नरम, गेहूँ मजबूत
  • हवा से हवा में मार करने वाली अस्त्र मिसाइल का सुखोई से सफल परीक्षण
  • विजय हज़ारे में बंगाल की कमान संभालेंगे अभिमन्यु
  • प्लास्टिक पर रोक को लेकर सरकार प्रतिबद्ध:शेखावत
  • केन्द्रीय विद्यालयों के बच्चाें के साथ निशंक ने मनाया मोदी का जन्मदिन
  • एसटीएफ ने गौतमबुद्धनगर से किया 50 हजार के इनामी को गिरफ्तार
  • गहलोत का आरोप झूठा-गहलाेत
  • चौथे पेफी राष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा, 28 दिग्गजों को मिलेगा पुरस्कार
  • अफगानिस्तान में चुनावी रैली में धमाका, 24 मरे
  • कोविंद, नायडू सहित कई नेताओें ने मोदी को दी बधाई
  • अहंकार में चूर हैं खट्टर : यादव
  • करंट लगने से पुत्र की मौत, पिता घायल
  • रणबीर सिंह ने एलएसी पर की संचालन तैयारियों की समीक्षा
भारत


रक्षा मंत्री ने समुद्री निगरानी प्रणाली की समीक्षा की

रक्षा मंत्री ने समुद्री निगरानी प्रणाली की समीक्षा की

नयी दिल्ली 19 अगस्त (वार्ता) रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज गुरूग्राम स्थित नौसेना के आई मैक सेंटर का दौरा कर समुद्री निगरानी प्रणाली की समीक्षा की।

नौसेना गुरूग्राम स्थित इन्‍फोरमेशन मैनेजमेंट एंड एनालिसिस सेंटर (आई मैक) तथा इन्‍फोरमेशन फ्यूजन सेंटर- इंडियन ओशियन रीजन (आईएफसी-आईओआर) में लगी निगरानी प्रणाली के माध्यम से समूचे हिन्द महासागर में समुद्री जहाजों के आवागमन और अन्य गतिविधियों पर नजर रख रही है।

नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने उन्हें इस निगरानी प्रणाली के बारे में जानकारी दी। रक्षा मंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मिलकर इसकी समीक्षा की। राष्‍ट्रीय सामुद्रिक क्षेत्र सजगता (एनएमडीए) परियोजना के तहत इन दोनों केन्द्रों की क्षमता बढाये जाने पर भी इस दौरान चर्चा की गयी।

एनएमडीए परियोजना को ‘सागर’ (सिक्‍योरिटी एंड ग्रोथ फॉर ऑल इन दी रीजन) संबंधी प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के दृष्टिकोण के अनुरूप शुरू किया गया है। आईमैक हर साल हिंद महासागर से गुजरने वाले 120,000 से अधिक जहाजों के आवागमन पर नजर रखता है। इन जहाजों में ले जाए जाने वाले सामान में 66 प्रतिशत कच्‍चा तेल, 50 प्रतिशत अन्‍य माल और 33 प्रतिशत थोक सामान होता है। इस तरह यह सेंटर नौवहन सूचना और यातायात विश्‍लेषण के आंकड़े जमा करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है।

रक्षा मंत्री को आईएफसी-आईओआर के विषय में भी जानकारी दी गई। यह केंद्र भागीदार राष्‍ट्रों और बहुराष्‍ट्रीय सामुद्रिक एजेंसियों के सहयोग से भारतीय नौसेना ने शुरू किया है, ताकि समुद्री क्षेत्र में सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। केंद्र इन देशों के अंतर्राष्‍ट्रीय संपर्क अधिकारियों की एक बैठक भी बुलाएगा।

 

More News
मोदी के जन्म दिवस पर लगाये गये सात लाख पौधे

मोदी के जन्म दिवस पर लगाये गये सात लाख पौधे

17 Sep 2019 | 5:53 PM

नयी दिल्ली, 17 सितम्बर (वार्ता) भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) और इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोअापरेटिव (इफको) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 69वें जन्म दिवस के अवसर पर किसानों में पर्यावरण के प्रति जागरुकता लाने के लिए पूरे देश में आज सात लाख से अधिक पौधे लगवाये।

see more..
image