Saturday, Feb 27 2021 | Time 15:17 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कानून का राज कायम करना सिर्फ सरकार का काम नहीं,न्यायपालिका की भी बहुत बड़ी भूमिका - नीतीश
  • इंग्लैंड के खिलाफ चौथा टेस्ट नहीं खेलेंगे बुमराह
  • इंग्लैंड के खिलाफ चौथा टेस्ट नहीं खेलेंगे बुमराह
  • पीएसएलवी-सी51 अमेजोनिया मिशन के प्रक्षेपण की उल्टी गिनती शुरू
  • अजमेर में कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण की तैयारी पूरी
  • मिश्र एवं गहलोत ने संत रविदास एवं शहीद चंद्रशेखर आजाद को किया नमन
  • आईपीएल के लिए पांच शहरों का चुनाव, मुंबई अभी शामिल नहीं
  • आईपीएल के लिए पांच शहरों का चुनाव, मुंबई अभी शामिल नहीं
  • कौशल के कद्रदानों का कुम्भ साबित हो रहा हुनर हाट : नकवी
  • मोदी , सीतारमण ने येदियुरप्पा को जन्मदिन की दी बधाई
  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि भी चुनावी स्टंट साबित हुआ : दानिश
  • पश्चिम बंगाल में परिवर्तन का बिगुल बज चुका है - शिवराज
  • जार्जिया में सिंगल-ईंजन विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से तीन लोगों की मौत
  • लाठर ने अजमेर में किया आपणों बाजार का उद्घाटन
  • रेत के समन्दर में बही कबीर की अमृत वाणी
राज्य » अन्य राज्य


कर्नाटक में भाजपा के शासन में विकास कार्य ठप: सिद्धारामैया

कर्नाटक में भाजपा के शासन में विकास कार्य ठप: सिद्धारामैया

मैसूरु, 13 जनवरी (वार्ता) कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धारामैया ने राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार पर बुधवार को निशाना साधते हुए कहा कि राज्य में वर्तमान में कोई भी विकास कार्य नहीं हो रहा है।

श्री सिद्धारामैया ने यहां संवाददाताओं से कहा, “आप मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद भी कुछ बेहतर की उम्मीद नहीं कर सकते हैं, 34 मंत्रियों को रखने का प्रावधान है और मुख्यमंत्री ने केवल इसका पालन किया है।”

उन्होंने आरोप लगाया कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद भी राज्य की स्थिति में कोई बदलाव नहीं होगा।

तीन कृषि कानूनों पर उच्चतम न्यायालय द्वारा लगाये गये स्थगन का उल्लेख करते हुए श्री सिद्धारामैया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए। जब सर्वोच्च न्यायालय ने तीन कृषि कानूनों पर रोक लगायी, तो यह पता चला कि कानून असंवैधानिक थे। अदालत ने कानून के कार्यान्वयन पर रोक लगा दी है, किसान पिछले 48 दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और कोई समाधान नहीं निकला है।

उन्होंने कहा, “जब मैं बोलता हूं तो लोगों को अच्छा नहीं लगता है। मैंने कभी नहीं कहा कि मैंने गोमांस या सुअर का मांस खाया है। अगर खाने का मन होगा तो जरूर खाऊंगा। लोगों की भोजन की आदत को कोई नहीं बदल सकता।”

राज्य में नेतृत्व परिवर्तन पर, श्री सिद्धारमैया ने कहा कि उन्हें जानकारी है कि भाजपा के शीर्ष नेताओं ने श्री येदियुरप्पा का इस्तीफा मांगा था, लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार को हरी झंडी देकर शायद उन्होंने उन्हें कुछ समय दिया हो।

यामिनी जितेन्द्र

वार्ता

More News
त्रिवेंद्र ने किया विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण

त्रिवेंद्र ने किया विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण

26 Feb 2021 | 11:52 PM

देहरादून 26 फरवरी (वार्ता) उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बद्रीपुर देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने 508.75 लाख की लागत की योजनाओं का शिलान्यास तथा 416.06 लाख की लागत की योजनाओं का लोकार्पण किया।

see more..
image