Monday, Nov 20 2017 | Time 13:33 Hrs(IST)
image
  • कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव 16 दिसंबर को
  • इरा जोशी बनीं दूरदर्शन समाचार की महानिदेशक
  • छपरा से 1500 लीटर देशी शराब जप्त, तीन गिरफ्तार
  • मासूम की पानी के होद में डूबने से मौत
  • शिया वक्फ बोर्ड ने छोड़ा विवादित रामजन्मभूमि से दावा
  • मुख्यमंत्री रूपाणी ने जेटली की मौजूदगी में ‘विजय मुहूर्त’ में किया नामांकन
  • '
  • जर्मन महिला से नहीं देखी गई घोड़ों की पीड़ा ,कांटेदार लगाम से दिलाया छुटकारा
  • डॉलर, पाउंड, येन मजबूत
  • चेन्नई तिलहन के भाव
  • चेन्नई सर्राफा के शुरुआती भाव
  • उपग्रहों की संख्या दुगुणी करने की जरूरत : किरण कुमार
  • फ्लैश फ्लैश फ्लैश
  • सनी लियोनी के साथ काम करना चाहते हैं अरबाज
  • सनी लियोनी के साथ काम करना चाहते हैं अरबाज
लोकरुचि Share

देवशिल्पी विश्वकर्मा निर्मित है देव का सूर्य मंदिर

देवशिल्पी विश्वकर्मा निर्मित है देव का सूर्य मंदिर

औरंगाबाद 01 अप्रैल (वार्ता) बिहार के औरंगाबाद जिले में स्थित ऐतिहासिक और पौराणिक स्थल देव के त्रेतायुगीन पश्चिमाभिमुख सूर्य मंदिर अपनी कलात्मक भव्यता के लिए सर्वविदित और प्रख्यात होने के साथ ही सदियों से देशी- विदेशी पर्यटकों, श्रद्धालुओं और छठव्रतियों की अटूट आस्था का केंद्र बना हुआ है। मंदिर की अभूतपूर्व स्थापत्य कला, शिल्प, कलात्मक भव्यता और धार्मिक महत्ता के कारण ही जनमानस में यह किंवदति प्रसिद्ध है कि इसका निर्माण देवशिल्पी भगवान विश्वकर्मा ने स्वयं अपने हाथों से किया है। देव स्थित भगवान भास्कर का विशाल मंदिर अपने अप्रतिम सौंदर्य और शिल्प के कारण सदियों श्रद्धालुओं, वैज्ञानिकों, मूर्तिचोरों , तस्करों एवं आमजनों के लिए आकर्षण का केंद्र है। काले और भूरे पत्थरों की अति सुंदर कृति, जिस तरह ओडिशा प्रदेश के पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर का शिल्प है, ठीक उसी से मिलता-जुलता शिल्प देव के प्राचीन सूर्य मंदिर का भी है। मंदिर के निर्माणकाल के संबंध में उसके बाहर ब्रह्म लिपि में लिखित और संस्कृत में अनुवादित एक श्लोक जड़ा है, जिसके अनुसार 12 लाख 16 हजार वर्ष त्रेता युग के बीत जाने के बाद इलापुत्र पुरूरवा ऐल ने देव सूर्य मंदिर का निर्माण आरंभ करवाया। शिलालेख से पता चलता है कि सन् 2017 ई. में इस पौराणिक मंदिर के निर्माण काल का एक लाख पचास हजार सतरह वर्ष पूरा हो गया है। देव मंदिर में सात रथों से सूर्य की उत्कीर्ण प्रस्तर मूर्तियां अपने तीनों रूपों- उदयाचल-प्रात: सूर्य, मध्याचल- मध्य सूर्य और अस्ताचल -अस्त सूर्य के रूप में विद्यमान है। पूरे देश में देव का मंदिर ही एकमात्र ऐसा सूर्य मंदिर है जो पूर्वाभिमुख न होकर पश्चिमाभिमुख है। करीब एक सौ फुट ऊंचा यह सूर्य मंदिर स्थापत्य और वास्तुकला का अद्भुत उदाहरण है। बिना सीमेंट अथवा चूना-गारा का प्रयोग किये आयताकार, वर्गाकार, अर्द्धवृत्ताकार, गोलाकार, त्रिभुजाकार आदि कई रूपों और आकारों में काटे गये पत्थरों को जोड़कर बनाया गया यह मंदिर अत्यंत आकर्षक एवं विस्मयकारी है।


जनश्रुतियों के आधार पर इस मंदिर के निर्माण के संबंध में कई किंवदतियां प्रसिद्ध हैं जिससे मंदिर के अति प्राचीन होने का स्पष्ट पता तो चलता है लेकिन इसके निर्माण के संबंध में अभी भी भ्रामक स्थिति बनी हुई है। निर्माण के मुद्दे को लेकर इतिहासकारों और पुरातत्व विशेषज्ञों के बीच चली बहस से भी इस संबंध में ठोस परिणाम प्राप्त नहीं हो सका है। जनश्रुति के अनुसार, ऐल एक राजा थे, जो किसी ऋषि के शापवश श्वेत कुष्ठ से पीड़ित थे। वे एक बार शिकार करने देव के वन प्रांत में पहुंचने के बाद राह भटक गये। राह भटकते भूखे-प्यासे राजा को एक छोटा सा सरोवर दिखायी पड़ा जिसके किनारे वे पानी पीने गये और अंजुरी में भरकर पानी पिया। पानी पीने के क्रम में वे यह देखकर घोर आश्चर्य में पड़ गये कि उनके शरीर के जिन जगहों पर पानी का स्पर्श हुआ, उन जगहों के श्वेत कुष्ठ के दाग जाते रहे। इससे अति प्रसन्न और आश्चर्यचकित राजा अपने वस्त्रों की परवाह नहीं करते हुए सरोवर के गंदे पानी में लेट गये और इससे उनका श्वेत कुष्ठ पूरी तरह समाप्त हो गया। राजा ने अपने शरीर में आश्चर्यजनक परिवर्तन देख प्रसन्नचित हो इसी वन प्रांतर में रात्रि विश्राम करने का निर्णय लिया और रात्रि में राजा को सपना आया कि उसी सरोवर में भगवान भास्कर की प्रतिमा दबी पड़ी है। प्रतिमा को निकालकर वहीं मंदिर बनवाने और उसमें प्रतिष्ठित करने का निर्देश उन्हें सपने में प्राप्त हुआ। कहा जाता है कि राजा ऐल ने इसी निर्देश के मुताबिक सरोवर से दबी मूर्ति को निकालकर मंदिर में स्थापित कराने का काम किया और सूर्य कुण्ड का निर्माण कराया लेकिन मंदिर यथावत रहने के बावजूद उस मूर्ति का आज तक पता नहीं है। जो अभी वर्तमान मूर्ति है वह प्राचीन अवश्य है, लेकिन ऐसा लगता है मानो बाद में स्थापित किया गया हो। मंदिर परिसर में जो मूर्तियां हैं, वे खंडित तथा जीर्ण-शीर्ण अवस्था में हैं।

'विस्तृत समाचार के लिए हमारी सेवाएं लें।'
मुख्य समाचार

शिया वक्फ बोर्ड ने छोड़ा विवादित रामजन्मभूमि से दावा

लखनऊ 20 नवम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश शिया सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड ने अयोध्या में विवादित रामजन्मभूमि से अपना दावा छोड़ते हुये बाबरी मस्जिद के स्थान पर लखनऊ में मस्जिद-ए-अमन को तामीर कराये जाने सम्बन्धी प्रस्ताव उच्चतम न्यायालय में प्रस्तुत कर दिया है।

आगे देखे..
भाजपा ने गुजरात के उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की

भाजपा ने गुजरात के उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की

नयी दिल्ली 20 नवंबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गुजरात विधानसभा चुनावों के लिये अपने 28 उम्मीदवारों की तीसरी सूची आज जारी की जिसमें प्रमुख रूप से सौराष्ट्र की सीटें हैं।

आगे देखे..

उपग्रहों की संख्या दुगुणी करने की जरूरत : किरण कुमार

नयी दिल्ली 20 नवंबर (वार्ता) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष ए.एस. किरण कुमार ने आज कहा कि देश में बढ़ती माँग पूरी करने के लिए भारत को उपग्रहों की संख्या दोगुना करने की जरूरत है और इसके लिए इसरो प्रक्षेपण की रफ्तार बढ़ाने की दिशा में काम कर रहा है।

आगे देखे..
गुजरात में सभी 182 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी राकांपा- पटेल

गुजरात में सभी 182 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी राकांपा- पटेल

अहमदाबाद, 20 नवंबर (वार्ता) शरद पवार की अगुवाई वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी गुजरात के सभी 182 सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करेगी।

आगे देखे..
राहुल के अध्यक्ष बनने पर देश को कांग्रेस से मुक्त करना होगा और आसान :योगी

राहुल के अध्यक्ष बनने पर देश को कांग्रेस से मुक्त करना होगा और आसान :योगी

लखनऊ 20 नवम्बर (वार्ता) राहुल गांधी के कांग्रेस का अध्यक्ष बनने की चल रही चर्चाओं के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि उनके पद संभालने के बाद देश को कांग्रेस से मुक्त करने में और आसानी हो जायेगी।

आगे देखे..
पास के हंगामे के बाद गुजरात में कांग्रेस कार्यालय और प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर पुलिस तैनात

पास के हंगामे के बाद गुजरात में कांग्रेस कार्यालय और प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर पुलिस तैनात

अहमदाबाद, 20 नवंबर (वार्ता) गुजरात चुनाव के लिए मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के उम्मीदवारों की पहली सूची जारी होने के बाद देर रात पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के एक खेमे के जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा और इसके चलते पार्टी के प्रदेश मुख्यालय और प्रदेश अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी के आवास पर पुलिस तैनात कर दी गयी है।

आगे देखे..
श्रीनगर-लेह राज्यमार्ग पर यातायात बहाल, मुगल रोड चौथे दिन भी बंद

श्रीनगर-लेह राज्यमार्ग पर यातायात बहाल, मुगल रोड चौथे दिन भी बंद

श्रीनगर 20 नवंबर (वार्ता) कश्मीर घाटी को लद्दाख क्षेत्र से जोड़ने वाले 434 किलोमीटर लंबे श्रीनगर-लेह राजमार्ग पर यातायात सेवा बहाल कर दी गयी है जबकि ऐतिहासिक मुगल मार्ग आज लगातार चौथे दिन भी बंद रहा।

आगे देखे..
कश्मीर में दो दिनों के बाद रेल सेवा शुरू

कश्मीर में दो दिनों के बाद रेल सेवा शुरू

श्रीनगर, 20 नवंबर (वार्ता)कश्मीर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में आतंकवादियों के मारे जाने तथा तलाशी अभियान के लिए इलाकों की घेराबंदी के खिलाफ हड़ताल की अलगाववादियों के आह्वान के मद्देनजर दो दिनों तक रेल सेवाएं बाधित रहने के बाद आज इसे शुरू कर दिया गया।

आगे देखे..
कश्मीर में आग लगने से करोड़ों की संपत्ति जलकर राख

कश्मीर में आग लगने से करोड़ों की संपत्ति जलकर राख

श्रीनगर, 20 नवंबर (वार्ता) दक्षिणी कश्मीर में अनंतनाग जिले के एक वाणिज्य केंद्र में आज तड़के आग लगने से करोड़ों की संपत्ति जलकर राख हो गई।

आगे देखे..
भ्रष्टाचार मामले में प्रधानमंत्री नेतन्याहू से पूछताछ

भ्रष्टाचार मामले में प्रधानमंत्री नेतन्याहू से पूछताछ

येरूशलम, 20 नवंबर (रायटर) इजरायल की पुलिस ने भ्रष्टाचार के एक मामले में प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से आज पूछताछ की।

आगे देखे..
image