Tuesday, Nov 20 2018 | Time 20:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रघुवर ने दिव्यांग युवा लेखिका की पुस्तक का किया लोकार्पण
  • रायबरेली से अपहृत युवक मुक्त, चार बदमाश गिरफ्तार
  • अजय राजनीतिक नहीं पुत्र मोह दल बना रहे हैं:अभय चौटाला
  • दुमका में चार कट्टर नक्सली गिरफ्तार,भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद
  • नोटबंदी की दवाई से भ्रष्टाचार का दीमक नहीं बल्कि निर्दोष मरे: कमलनाथ
  • बिलासपुर जिले की मरवाही में सर्वाधिक मतदान
  • सबरीमला मामले में केरल सरकार महिलाओं पर अत्याचार कर रही है: विहिप
  • सेना का मनोबल तोड़ने वाले आप नेता पाकिस्तान से मिले: विज
  • बेटियों को ‘सम्मान’ समझने के लिए कन्या उत्थान योजना : नीतीश
  • राहुल ने मिजोरम के लोगों से की भावनात्मक अपील
  • यूपी के खिलाफ सर्विसेज के पहली पारी में आठ विकेट पर 256 रन
  • शाश्वत का पंच बेअसर, यूपी ने हासिल की 147 रनों की बढ़त
  • रंगारंग कार्यक्रम के बीच सैयद मोदी टूर्नामेंट का शुभारम्भ
  • ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन पंजीकरण तथा प्रदूषण सर्टिफिकेट साथ रखने से अब मुक्ति
खेल Share

लंदन में ध्यानचंद का ऑटोग्राफ युक्त चित्र होगा मुख्य आकर्षण

लंदन में ध्यानचंद का ऑटोग्राफ युक्त चित्र होगा मुख्य आकर्षण

नयी दिल्ली, 17 जुलाई (वार्ता) लंदन में 21 जुलाई से होने वाले महिला विश्वकप हॉकी टूर्नामेंट के दौरान क्वीन एलिज़ाबेथ ओलंपिक पार्क में एक चित्र प्रदर्शनी लगाई जाएगी जिसमें हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद का ऑटोग्राफ युक्त चित्र प्रमुख आकर्षण होगा।

पांच दशक, 50 चित्र नाम की इस प्रदर्शनी में 1974 के पहले महिला विश्व कप से लेकर अगले 50 साल तक के दुर्लभ चित्रों को उभारा जाएगा जिनमें ध्यानचंद के 50 साल पुराने हस्ताक्षरयुक्त चित्र होने के साथ ही उनकी तीसरी पीढ़ी की नेहा सिंह और तमाम हॉकी खिलाड़ियों और अहम घटनाओं के दुर्लभ चित्र होंगे।

मेजर ध्यानचंद के पुत्र और ओलंपियन अशोक ध्यानचंद, पहली महिला हॉकी वर्ल्ड कप टीम की कप्तान अरजिंदर कौर, पूर्व कप्तान सूरजलता राजबीर कौर, ममता खरब और महिला हॉकी टीम के पूर्व भारतीय कोच बालकिशन सिंह, बी. एस भंगू, सत्येंद्र वालिया, कर्नल बलबीर और एम.के. कौशिक ने इस चित्र प्रदर्शनी की सफलता की कामना की है।

इस प्रदर्शनी के आयोजनकर्ता सुनील यश कालरा ने बताया कि इस फोटो प्रदर्शनी में हर दशक के सूरमा हॉकी खिलाड़ी और रीयल लाइफ चक दे इंडिया की कहानी दिखती है। उन्होंने कहा कि 1974 में महिलाओं का पहला विश्व कप घास पर हुआ था। तब संसाधनों की कमी थी। अरजिंदर कौर इस टीम की कप्तान थीं। वह इस प्रदर्शनी के उद्घाटन के मौके पर मुख्य अतिथि होंगी।

अरजिंदर ने कहा,“उस विश्व कप में हमने कैनवस के जूते और घर के सिले कपड़ों की जर्सी पहनी थी। यहां तक कि हमें बड़े आकार की हॉकी स्टिक दी गई थी। प्रदर्शनी में उस समय के चित्रों को खास तौर पर उभारा गया है लेकिन वहीं चार साल बाद हुए अगले विश्व कप में पॉलीग्रास आने से पूरा दृश्य बदल गया।”

राज प्रीति

जारी वार्ता

More News
दिल्ली की कमज़ोर गेंदबाजी, तन्मय का नाबाद शतक,

दिल्ली की कमज़ोर गेंदबाजी, तन्मय का नाबाद शतक,

20 Nov 2018 | 8:28 PM

हैदराबाद, 20 नवंबर (वार्ता) तन्मय अग्रवाल(नाबाद 112) की जबरदस्त शतकीय पारी से हरियाणा ने दिल्ली के खिलाफ रणजी ट्रॉफी ग्रुप बी मुकाबले के पहले दिन बुधवार को यहां तीन विकेट के नुकसान पर पहली पारी में 232 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।

 Sharesee more..
रजत विजेता रवि का छत्रसाल स्टेडियम में भव्य स्वागत

रजत विजेता रवि का छत्रसाल स्टेडियम में भव्य स्वागत

20 Nov 2018 | 8:08 PM

नयी दिल्ली, 20 नवम्बर (वार्ता) बुखारेस्ट में अंडर-23 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप के 57 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में रजत पदक जीतने वाले रवि कुमार का यहां छत्रसाल अखाड़े में लौटने पर भव्य स्वागत किया गया।

 Sharesee more..
image