Thursday, Feb 21 2019 | Time 13:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कश्मीरियों के खिलाफ हमले पर रोक संबंधी याचिका की सुनवाई शुक्रवार को
  • लश्कर ए तैयबा का स्लीपर सेल का सदस्य था पाकिस्तानी कैदी
  • राष्ट्रीय राजधानी में हल्की बारिश के बाद धूप खिली
  • कश्मीर राजमार्ग बंद होने से सैकड़ों वाहन फंसे
  • अभ्रक खदान में चाल धंसने से मजदूर की मौत
  • पारिवारिक फिल्मों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया सूरज बड़जात्या ने
  • ऋतिक के अलावा किसी से कंपटीशन नहीं: टाइगर
  • दीपिका के साथ काम करना हमेशा खास रहा : रणवीर
  • हॉरर फिल्म में काम करना चाहती हैं कैटरीना
  • बॉक्सर का किरदार निभायेंगे शाहिद कपूर
  • 83 के प्रॉफिट में हिस्सा लेंगे रणवीर सिंह!
  • पारिवारिक फिल्मों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया सूरज बड़जात्या ने
  • ऋतिक के अलावा किसी से कंपटीशन नहीं: टाइगर
  • दीपिका के साथ काम करना हमेशा खास रहा : रणवीर
  • अल अजीजिया मामले में नवाज की सजा पर फैसला सुरक्षित
राज्य Share

शिक्षामित्रों के मुद्दे पर सरकार के जवाब से असंतुष्ट सपा सदस्यों ने विधान परिषद से किया बहिर्गमन

शिक्षामित्रों के मुद्दे पर सरकार के जवाब से असंतुष्ट सपा सदस्यों ने विधान परिषद से किया बहिर्गमन

लखनऊ, 31 अगस्त (वार्ता) शिक्षामित्रों के मुद्दे पर सरकार के जवाब से असंतुष्ट समाजवादी पार्टी (सपा) सदस्यों ने शुक्रवार को विधान परिषद से बहिर्गमन किया।

शून्य प्रहर में सपा के नरेश चन्द्र उत्तम, संजय कुमार मिश्र और अन्य सदस्यों ने प्रदेश में शिक्षा मित्रों को

समायोजित किये जाने के संबंध में कार्यस्थन की सूचना दी। सूचना की ग्राह्यता पर असीम यादव, उमेश द्विवेदी और संजय मिश्रा ने विचार व्यक्त किये।

नेता सदन एवं उपमुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा ने सदन को तथ्यों से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि सरकार की शिक्षामित्रों से सहानुभूति है। उनके हितों को ध्यान में रखते हुए तमाम निर्णय लिए हैं। उनके समायोजन में आने वाली विसंगतियों को दूर करने के लिए उनकी (ड0 दिनेश शर्मा) अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय कमेटी गठित की गई है। समिति में संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं। इस संबंध में शैक्षिक दल के सदस्याें से भी विचार विमर्श कर उनकी समस्याओं का हल निकाला जायेगा। सरकार शिक्षामित्रों के हितों के लिए गंभीर है।

नेता सदन के जवाब से असंतुष्ट होकर सपा के सभी सदस्यों ने नेता विरोधी अहमद हसन के साथ परिषद से बहिर्गमन किया। इस पर अधिष्ठाता डा0 यज्ञदत्त शर्मा ने अपनी व्यस्था देते हुए कार्यस्थगन सूचना को अस्वीकार करते हुए उसे सरकार को आवश्यक कार्यवाही के लिए संदर्भित कर दिया।

इसके पहले सपा के अहमद हसन, राम सुन्दर दास निषाद एवं अन्य सदस्यों ने शामली के झिंझाना क्षेत्र के कमालपुर गांव में गत 14 अगस्त की रात जहरीली शराब पीने के बाद हुई पांच लोगों की मृत्यु का मामला उठाते हुए अवैध रुप से शराब बनाने और बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर कार्यस्थगन की सूचना दी।

सूचना की ग्राह्यता पर बल देते हुए नेता विरोधी दल अहमद हसन ने कहा कि शामली जिले के थाना भवन क्षेत्र के चंदेनामाल गांव में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के मण्डल अध्यक्ष चकेश राणा के आवास पर जहरीली शराब की फैक्ट्री लम्बे समय से चल रही थी। उसी फैक्ट्री की जहरीली शराब पुलिस एवं प्रशासन के सरंक्षण में पूरे जिले में परोसी जा रही थी। उसी शराब को पीने से कमालपुर गांव के पांच लोगों को अपनी जान गंवानी पडी । पुलिस ने आज तक जहरीली शराब का धंधा करने वाले को गिरफ्तार नहीं किया। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब पीने से हुई मौतों के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करे। उन्होंने इस पर सदन की कार्यवाही रोककर सदन में चर्चा कराने की मांग की।

त्यागी तेज

जारी वार्ता

image