Monday, Jun 17 2019 | Time 22:20 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एआईएमआईएम के पार्षदों का औरंगाबाद महापौर के खिलाफ धरना
  • कपड़ा मजदूरों ने 27 जून को हड़ताल का ऐलान किया
  • जेपी नड्डा को भाजपा का कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने पर सुशील ने दी बधाई
  • जल सरंक्षण के लिए श्री दरबार साहिब में सयंत्र स्थापित
  • दिल्ली पुलिस की सिख युवक से मारपीट की लोंगोवाल ने की निंदा
  • मरीज की मौत को लेकर हुआ हंगामा
  • स्कूल वैन से गिरे तीन बच्चे घायल
  • 2027 तक भारत सर्वाधिक आबादी वाला देश होगा
  • कुशीनगर से दो तस्कर गिरफ्तार,40 लाख की शराब बरामद
  • ‘वर्ल्‍ड फूड इंडिया नई दिल्‍ली में नवंबर में
  • चमकी बुखार से बच्चों की हुई मौत पर राष्ट्रीय मानवाधिकार का बिहार सरकार को नोटिस
  • उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व विधायक एवं दो साथियों के लाइसेंस निरस्त
  • चंदौली में शराब फैक्ट्री का पर्दाफाश,पांच गिरफ्तार
  • बिहार में लू का कहर जारी : मृतकों की संख्या 100 के पार
  • एसटीएफ ने गोरखपुर से किया इनामी अपराधी को गिरफ्तार।
दुनिया


संरा सुरक्षा परिषद सीरिया के इदलिब पर करेगा चर्चा

संरा सुरक्षा परिषद सीरिया के इदलिब पर करेगा चर्चा

संयुक्त राष्ट्र 05 सितंबर (रायटर) संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आगामी शुक्रवार को होने वाली बैठक में सीरिया के इदलिब प्रांत की स्थिति पर चर्चा होगी।

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने मंगलवार को संवाददाताओं से बातचीत में सीरियाई सरकार को इदलिब में संभावित सैन्य हमले से पहले रासायनिक हथियारों का उपयोग नहीं करने की भी चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि इदलिब में संभावित सरकारी हमले से बड़े पैमाने पर मानवीय त्रासदी हो सकती है।

सुश्री हेली ने सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल-असद की सरकार और उसकी सहयोगी रूस और ईरान का जिक्र करते हुए कहा,“यह एक दुखद स्थिति है, और यदि वे सीरिया को हासिल करने का मार्ग जारी रखना चाहते हैं, तो वे ऐसा कर सकते हैं।” उन्होंने कहा,“लेकिन वे इसे रासायनिक हथियारों से नहीं कर सकते हैं। वे अपने लोगों पर हमला नहीं कर सकते हैं और हम इसके लिए पीछे हटने वाले नहीं हैं।”

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को सीरिया के राष्ट्रपति और उसके सहयोगी ईरान और रूस को चेतावनी दी कि बिना ‘सोचे -समझे’ आतंकवादियों के गढ़ इदलिब पर हमला नहीं किया जाये। इस कदम से बड़ी संख्या में आम लोग मारे जा सकते हैं।

सीरियाई आब्जर्वेट्री फॉर ह्यूमन राइट़स और एक विद्रोही सूत्र के अनुसार रूसी और सीरियाई विमानों ने मंगलवार को विद्राहियों के अंतिम प्रमुख गढ़ इदलिब के पश्चिमी छोर को घेरना शुरू कर दिया। सीरियाई सरकार के एक मंत्री ने यह भी कहा कि इदलिब की घेराबंदी शायद बलपूर्वक हल हो जाएगी।

image