Wednesday, Aug 21 2019 | Time 19:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हिमाचल में जनवरी से लेकर सड़क दुर्घटनाओं में 658 मौतें
  • रुपया 16 पैसे मजबूत
  • दूध के पाउच का रिसाइकिल हो :सरकार
  • खाद्य तेलों, अनाज, दालों में टिकाव, चीनी नरम
  • खुले दरवाजे के साथ चली कोलकाता मेट्रो
  • अनुच्छेद 370 हटने से पाक अधिकृत कश्मीर लेना आसान नहीं :अखिलेश
  • एसजीपीसी ने की बीड़ी कंपनी मालिक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग
  • झांसी: ठेकेदार बलवीर हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार
  • मैक्स लाइफ इंश्योरेंस ने दिल्ली एनसीआर में लगाए 12हजार पौधे
  • सिंधू आसान जीत के साथ तीसरे दौर में
  • शाहकोट उप-मंडल के बाढ़ग्रस्त गाँवों का कराया जाए सर्वेक्षण
  • देश के पहले रेलवे विवि के लिए गुजरात सरकार ने आवंटित की सस्ती जमीन
  • ‘नाबालिग होते हैं भगवान, नाबालिग की सम्पत्ति नहीं छीनी जा सकती’
  • पूर्वी उत्तर प्रदेश में बहुत तेज बारिश होने का अनुमान
राज्य » अन्य राज्य


एक मूल प्रश्न के सापेक्ष दो अनुपूरक प्रश्न पूछने की परंपरा का निर्वहन करें- अग्रवाल

एक मूल प्रश्न के सापेक्ष दो अनुपूरक प्रश्न पूछने की परंपरा का निर्वहन करें- अग्रवाल

देहरादून 25 जून (वार्ता) उत्तराखंड विधानसभा सत्र के दूसरे दिन प्रश्नकाल के दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने सदस्यों को एक मूल प्रश्न के सापेक्ष दो अनुपूरक प्रश्न ही पूछने की परंपरा का निर्वहन करने का आह्वान किया।

सदन की कार्यवाही दौरान मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल की अध्यक्षता में 11वीं बार ऐसा हुआ है कि जब सदन में प्रश्नकाल के दौरान सदस्यों द्वारा पूछे गए सभी तारांकित प्रश्नों को सम्बन्धित मंत्रियों ने जवाब दिया। ऐसा तब हुआ जब एक मूल प्रश्न के सापेक्ष दो से अधिक अनुपूरक प्रश्न पूछे गए।

श्री अग्रवाल ने माननीय सदस्यों से आग्रह किया कि अनुपूरक प्रश्न के साथ-साथ मूल प्रश्न लगाकर भी क्षेत्र की समस्या को सदन के पटल पर रखें। उन्होंने मंगलवार को सदन की कार्यवाही के दौरौन सभी सदस्यों से इस संसदीय परंपरा को निर्वहन करने का आह्वान किया।

 

image