Tuesday, Jul 16 2019 | Time 10:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मुजफ्फरनगर पुलिस मुठभेड़ में दो इनामी बदमाश ढेर
  • जम्मू से 3967 श्रद्धालुओं का नया जत्था अमरनाथ रवाना
  • कैलिफोर्निया में गैस विस्फोट से एक की मौत, 15 घायल
  • इराक में दो बम विस्फोटों में एक की मौत, 25 घायल
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 17 जुलाई)
  • ईरान के साथ युद्ध नहीं चाहते ट्रम्प : जरीफ
  • इंडोनेशिया के बाली में 5 7 तीव्रता का भूकंप
  • अफगानिस्तान में सैन्य कार्रवाई में 11 आतंकवादी ढेर
  • अमेरिका-ईरान के बीच तनाव कम करने वाला प्रस्ताव पेश करेगा फ्रांस
  • पुतिन, ट्रम्प और रूहानी से करूंगा परमाणु समझौते पर चर्चा : मैक्रॉन
खेल


जोकोविच और डेल पोत्रो क्वार्टरफाइनल में

जोकोविच और डेल पोत्रो क्वार्टरफाइनल में

लंदन,10 जुलाई (वार्ता) पूर्व नंबर एक और 12 ग्रैंड स्लेम खिताबों के विजेता सर्बिया के नोवाक जोकोविच अपने पुराने रंग में लौट आये हैं। जोकोविच ने सोमवार रात 29 विनर्स लगाते हुये रूस के कारेन खाचानोव को लगातार सेटों में 6-4, 6-2, 6-2 से हराकर 10वीं बार विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि पांचवीं सीड अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो ने अपना अधूरा मैच निपटाते हुए मंगलवार को अंतिम आठ में स्थान बना लिया।

विंबलडन के ग्रास कोर्ट पर 2011 , 2014 और 2015 में विजेता रहे जोकोविच ने अपनी पुरानी क्लास दिखाते हुये साबित किया कि वह फिर से पटरी पर लौट आये हैं। चोटों और खराब फार्म के कारण जोकोविच विश्व रैंकिंग में टॉप 20 से बाहर हो गये थे लेकिन विंबलडन से पहले क्वींस क्लब चैंपियनशिप में उन्होंने फाइनल तक पहुंचकर दिखाया था कि वर्ष के तीसरे ग्रैंड स्लेम में कुछ कर गुजरने को तैयार हैं।

31 वर्षीय जोकोविच का क्वार्टरफाइनल में 24वीं सीड जापान के केई निशिकोरी से मुकाबला होगा। निशिकोरी ने लात्विया के क्वालिफायर एर्नेस्ट गुलबिस को पराजित कर पहली बार विंबलडन के क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई थी। जोकोविच का निशिकोरी के खिलाफ 13-2 का एटीपी रिकार्ड है। लेकिन दोनों अभी तक ग्रास कोर्ट पर नहीं भिड़े हैं।

सर्बियाई खिलाड़ी ने ग्रैंड स्लेम में अपनी 248वीं जीत दर्ज की और वह 41वीं बार ग्रैंड स्लेम क्वार्टरफाइनल में पहुंचे है। वह इस मामले में रोजर फेडरर (53 क्वार्टरफाइनल) के बाद दूसरे स्थान पर हैं।

इस बीच पुरूष वर्ग के चौथे दौर के अधूरे रह गए मुकाबले को मंगलवार को निपटाते हुए पांचवीं सीड अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो ने अंतिम आठ में स्थान बना लिया। डेल पोत्रो ने फ्रांस के जाइल्स सिमोन के खिलाफ पहले दो सेट 7-6, 7-6 से जीत लिये थे और तीसरा सेट 5-7 से हार चुके थे।

चौथे सेट में दोनों खिलाड़ियों के बीच कड़ा संघर्ष हुआ और डेल पोत्रो ने इस सेट का टाईब्रेक 7-5 से जीतकर मैच चार घंटे 24 मिनट में समाप्त किया। डेल पोत्रो का क्वार्टरफाइनल में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी स्पेन के राफेल नडाल से मुकाबला होगा।

राज

वार्ता

More News
इस बार प्रो कबड्डी का खिताब जीतेंगे: गुजरात फार्च्यून जायंट्स

इस बार प्रो कबड्डी का खिताब जीतेंगे: गुजरात फार्च्यून जायंट्स

15 Jul 2019 | 11:27 PM

अहमदाबाद, 15 जुलाई (वार्ता) प्रो कबड्डी लीग में अपने प्रवेश के बाद से दोनों सत्रों में फाइनल तक पहुंचने वाली युवा टीम गुजरात फार्च्यून जायंट्स ने सोमवार को कहा कि इस बार यानी लीग के सीजन 7 में यह बदली हुई रणनीति के जरिये खिताब पर जरूर कब्जा जमायेगी।

see more..
राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस से हटा पाकिस्तान

राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस से हटा पाकिस्तान

15 Jul 2019 | 11:27 PM

कटक, 15 (वार्ता) ओडिशा के कटक में होने वाली 21वीं राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस चैंपियनशिप से ठीक पूर्व में पाकिस्तान इस टूर्नामेंट से हट गया है।

see more..
उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर

उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

अहमदाबाद, 15 जुलाई (वार्ता) उत्तर कोरिया ने शीर्ष पर चल रही टीम ताजिकिस्तान को सोमवार को 1-0 से हरा दिया और उत्तर कोरिया की इस जीत के साथ मेजबान तथा गत चैंपियन भारत इंटरकांटिनेंटल कप फुटबॉल टूर्नामेंट से बाहर हो गया।

see more..
इंग्लैंड-न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता, बाउंड्री नियम क्रूर

इंग्लैंड-न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता, बाउंड्री नियम क्रूर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 15 जुलाई (वार्ता) विश्वकप फाइनल में सुपर ओवर भी टाई हो जाने के बाद सर्वाधिक बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित करने पर पूर्व क्रिकेटरों ने आईसीसी के इस नियम को काफी क्रूर बताया और कई खिलाड़ियों ने कहा कि दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाना चाहिये था।

see more..
इंग्लैंड और न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 15 जुलाई (वार्ता) विश्वकप फाइनल में सुपर ओवर भी टाई हो जाने के बाद सर्वाधिक बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित करने पर पूर्व क्रिकेटरों ने आईसीसी के इस नियम को काफी क्रूर बताया आैर कई खिलाड़ियों ने कहा कि दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाना चाहिये था।

see more..
image