Saturday, Feb 27 2021 | Time 10:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 11 33 करोड़ से अधिक
  • रविदास जयंती पर कोविंद ने दी बधाई एवं शुभकामनाएं
  • प्रतापनगर में कॉस्मेटिक फैक्ट्री में लगी आग
  • दिल्ली पुलिस के एएसआई ने की खुदकुशी
  • नायडू ने किया रविदास को प्रणाम
  • तीन दिनों बाद पेट्रोल डीजल में उबाल, दिल्ली में पेट्रोल 91 रुपए के पार
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 28 फरवरी)
  • तीन दिनों की शांति के बाद आज फिर पेट्रोल 24 पैसे प्रति लीटर और डीजल 17 पैसे प्रति लीटर हुआ महंगा
  • वेनेजुएला ने की सीरिया में अमेरिका के हवाई हमले की निंदा
  • अमेरिका सऊदी अरब के लिए नीति में करेगा महत्वपूर्ण परिवर्तनः बिडेन
  • स्विट्जरलैंड में कोविड-19 वैक्सीन का टीका लगाने के बाद 16 की मौत
  • दो साल बाद मेक्सिको से 25 शरणार्थियों ने अमेरिका की सीमा में किया प्रवेश
  • अमेरिका में विशेषज्ञों की टीम ने जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को दी मंजूरी
  • खशोग्गी हत्याः अमेरिका ने सऊदी अरब के 76 नागरिकों को कर सकता प्रतिबंधित
  • ममता ने चुनाव आयोग के निर्णय पर दागे सवाल
भारत


एंटी एयरफील्ड वेपन का सफल परीक्षण

एंटी एयरफील्ड वेपन का सफल परीक्षण

नयी दिल्ली 22 जनवरी (वार्ता) रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने एक और उपलब्धि हासिल करते हुए देश में निर्मित स्‍मार्ट एंटी एयरफील्‍ड वेपन (एसएएडब्‍ल्‍यू) का सफल परीक्षण किया है।

डीआरडीओ के अनुसार इस हथियार का गुरूवार को ओडिशा में समुद्र तट से कुछ दूर सफल ‘कैप्टिव एंड रिलीज’ उड़ान परीक्षण किया। यह परीक्षण हिंदुस्‍तान एयरोनॉटिक्‍स लिमिटेड (एचएएल) के हॉक-I विमान के जरिए किया गया।

स्‍मार्ट वेपन का एचएएल द्वारा निर्मित हॉक-एमके 132 विमान से सफलतापूर्वक प्रायोगिक परीक्षण किया गया। डीआरडीओ द्वारा अब तक किए गए सफल परीक्षणों की श्रृंखला में यह नौवां परीक्षण था। यह बेहद सटीक परीक्षण था जिसने अपने सभी लक्ष्‍य हासिल किए। बालासोर स्थित अंतरिम परीक्षण रेंज (आईटीआर) पर स्‍थापित टेलीमीट्री और ट्रैकिंग प्रणाली ने इस मिशन के सभी दृश्‍यों को कैमरे में कैद किया।

स्‍मार्ट एंटी एयरफील्‍ड वेपन का डिजाइन और विकास डीआरडीओ के हैदराबाद स्थित रिसर्च सेंटर ने किया है। इसका वजन 125 किलोग्राम है जो जमीन पर शत्रु की एयरफील्‍ड सम्‍पत्तियों जैसे राडार, बंकर, टैक्‍सी ट्रैक और रनवे को 100 किलोमीटर की दूरी से निशाना बना सकता है। इसका उच्‍च सटीकता वाला निर्देशित बम भी इस श्रेणी की अन्‍य हथियार प्रणालियों की तुलना में कम वजन का है। इस हथि‍यार का इससे पहले भी जगुआर विमान के जरिए एक सफल प्रायोगिक परीक्षण किया जा चुका है।डीआरडीओ के अध्‍यक्ष डॉ. जी. सतीश रेड्डी ने इस सफल परीक्षण के लिए सभी वैज्ञानिकों को बधाई दी है।

संजीव

वार्ता

More News
रविदास जयंती पर कोविंद ने दी शुभकामनाएं

रविदास जयंती पर कोविंद ने दी शुभकामनाएं

26 Feb 2021 | 10:59 PM

नयी दिल्ली, 26 फरवरी (वार्ता) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरु रविदास जयंती के पावन अवसर पर देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है।

see more..
image