Tuesday, Oct 27 2020 | Time 20:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोविड-19 के लिए व्यापार असंतुलन को दूर करें डब्ल्यूटीओ: पीयूष
  • अर्जुन मुंडा ने जनजातीय वर्गों के कल्‍याण के लिए दो सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की शुरुआत की
  • महाराष्ट्र में कोरोना सक्रिय मामले घटकर 1 31 लाख
  • फोटो कैप्शन दूसरा सेट
  • महाराष्ट्र में कोरोना के 5363 नये मामले,7836 स्वस्थ
  • दक्षिण अफ्रीका का दौरा करेंगे श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान
  • हिमाचल में कोरोना वरिष्ठ पत्रकार सहित दो लोगों की मौत, 59 नए मामले
  • भारतीय संगीत परंपरा का प्रौद्योगिकी के माध्यम से संरक्षण किया जाए : नायडू
  • जालौन: अवैध खनन में लगे ट्रक किये गये सीज़
  • आंध्र में कोरोना रिकवरी दर 96 फीसदी के करीब
  • मध्यप्रदेश में कोरोना के 514 नए मामले, सक्रिय मामले गिरकर 10 हजार के पास आए
  • उप्र के डीजीपी ने दिए बारावफात पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के दिये निर्देश
  • झारखंड : ऑनलाइन पाठ्यक्रम के उद्देश्य से ‘जोहार पाठशाला’ यूट्यूब चैनल का ट्रायल
  • बिहार में नीतीश के नेतृत्व में तीन चौथाई बहुमत से बनेगी राजग की सरकार : जावड़ेकर
  • उद्योगों, किसानों को सुचारू रूप से बिजली की आपूर्ति : देसाई
राज्य » राजस्थान


कोरोना संक्रमण से बचने के लिये मिलजुलकर प्रयास करने होंगे-गहलोत

कोरोना संक्रमण से बचने के लिये मिलजुलकर प्रयास करने होंगे-गहलोत

जयपुर, 05 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि हमें कोरोना संक्रमण से बचने के लिये मिलजुलकर प्रयास करने होंगे।

श्री गहलोत ने आज निवास से वीडियो कांफ्रेंसिंग वीसी के माध्यम से प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि हालांकि राज्य में लॉकडाउन नहीं है, लेकिन पूरी सतर्कता बरतने की जरूरत है तभी कोरोना संक्रमण को बढ़ने से रोका जा सकेगा। उन्होंने कहा कि हेल्थ प्रोटोकॉल की पालना, सोशल डिस्टेसिंग एवं मास्क लगाने के बारे में आमजन को जागरूक करने के लिए उन्हें विश्वास में लिया जाए और उन्हें बताया जाए कि कोविड-19 से बचने के लिए उन्हें भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना होगा और अनावश्यक घर से बाहर निकलना कम करना होगा।

श्री गहलोत ने कहा कि इस महामारी का भय खत्म होने से लोगों ने हेल्थ प्रोटोकॉल की पालना में लापरवाही बरतना शुरू कर दिया है। कोविड-19 के सामुदायिक प्रसार को रोकने के लिए संक्रमण से बचाव के उपायों पर अधिक ध्यान देना होगा। राज्य सरकार अस्पतालों में सुविधाओं एवं दवाईयों की कोई कमी नहीं आने देगी, लेकिन कोरोना के खिलाफ इस जंग में जीत के लिए समाज के प्रतिष्ठित लोगों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, एनजीओ, जनप्रतिनिधियों आदि को आगे आकर आमजन को हेल्थ प्रोटोकॉल का पालना करने के लिए जागरूक करना होगा।

उन्होंने कहा कि 15 सितम्बर को पूर्वान्ह साढ़े ग्यारह बजे विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा आमजन को सोशल मीडिया सहित विभिन्न मीडिया माध्यमों से रूबरू होकर इस महामारी की गंभीरता एवं इससे बचने के उपायों के बारे में बताया जाएगा। जनप्रतिनिधियों एवं विभिन्न दलों के नेताओं से भी चर्चा करके सभा एवं समारोह के आयोजन और भीड़ इकट्ठी नहीं करने के लिये लोगों से अनुरोध किया जायेगा।

इस दौरान चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप, पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त निरंजन आर्य, अतिरिक्त मुख्य सचिव खान सुबोध अग्रवाल, प्रमुख शासन सचिव गृह अभय कुमार और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

सुनील

वार्ता

image