Saturday, Sep 19 2020 | Time 23:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोरोना से झारखंड में दस लोगों की मौत, 1222 नये पॉजिटिव मिले
  • चेन्नई ने चैंपियन मुंबई को दी शिकस्त
  • चेन्नई ने चैंपियन मुंबई को दी शिकस्त
  • जमुई में हत्या के मामले में शामिल दो आरोपी गिरफ्तार
  • जमुई में बैंककर्मी से लूट मामले में दो अपराधी गिरफ्तार
  • छत्तीसगढ़ में मिले 2617 नए संक्रमित मरीज,19 की मौत
  • राजधानी पटना में तीन हथियार तस्कर गिरफ्तार
  • परिस्थिति के हिसाब से खुद को ढालने में सक्षम हैं पंत :पोंटिंग
  • परिस्थिति के हिसाब से खुद को ढालने में सक्षम हैं पंत :पोंटिंग
  • बिहार में पांच साल में जितना विकास हुआ उतना 70 सालों में नहीं : भाजपा
  • विदेश मंत्री एस जयशंकर की मां का निधन
  • जमुई में भाकपा माओवादी के दो उग्रवादी गिरफ्तार
  • लखीसराय में दो अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार
  • लखीसराय में पोखर में डूबने से बच्ची की मौत
  • जमुई में युवक ने की आत्महत्या
लोकरुचि


वनवासियों द्वारा तैयार पत्तल में बंटता है बुढ़िया माई का भोग प्रसाद

वनवासियों द्वारा तैयार पत्तल में बंटता है बुढ़िया माई का भोग प्रसाद

गाजीपुर 09 अक्टूबर (वार्ता) पूर्वी उत्तर प्रदेश में गाजीपुर स्थित सिद्धपीठ हथियाराम मठ पर विजयदशमी के मौके पर करीब 650 वर्ष पुरानी परंपरा का निर्वहन करते हुये बुढ़िया माई भोग लगा हलवा प्रसाद का वितरण मंगलवार देर शाम किया गया।

महामंडलेश्वर स्वामी श्री भवानी नंदन यति जी महाराज ने प्रसाद वितरण किया। गाजीपुर,आजमगढ़,बलिया समेत समूचे पूर्वांचल से जुटे श्रद्धालुओं ने कतारबद्ध होकर प्रसाद ग्रहण किया।

दिलचस्प है कि प्राचीन परंपरा के अनुसार आज भी उक्त प्रसाद का वितरण वनवासियों द्वारा तैयार पत्तल में पैक कर किया जाता है जिसमें स्थानीय क्षेत्र के शिशवार गांव के दर्जन भर से अधिक वनवासी परिवार शामिल है।

गौरतलब है कि सिद्धपीठ हथियाराम मठ पर विजयादशमी के दिन ध्वज पूजन, शस्त्र पूजन, शास्त्र पूजन, समी वृक्ष पूजन, शिवपूजन, शक्ति पूजन के बाद बुढ़िया माई को भोग लगा हलवा पूड़ी का प्रसाद वितरित किया जाता है। जिसके लिए समूचा शिष्य समुदाय उपस्थित रहता है। खास बात है कि आज के समय तमाम आधुनिक व्यवस्था उपलब्ध हो जाने के बावजूद प्रसाद पैकिंग के लिए जनपद के सिसवार गांव के बनवासी परिवारों से पत्तल मंगाया जाता है। हालांकि उक्त बनवासी परिवार के लोगों द्वारा पत्तल बनाने का काम बंद कर दिया गया है, लेकिन प्रत्येक वर्ष विजयादशमी पर सिद्धपीठ द्वारा 50,000 पत्तल सिसवार गांव के बनवासी उपलब्ध कराते हैं।

इस संबंध में शंकर वनवासी, कांता बनवासी, रामकृत बनवासी और मोती बनवासी ने बताया कि आज के समय में हमारे हाथ से बने पत्तलों की मांग लगभग समाप्त हो जाने से अब हम लोगों ने अपना पारंपरिक काम बंद कर दिया। वह अन्य माध्यमों से अपना रोजी-रोटी चलाने का काम करते हैं लेकिन सिद्धपीठ द्वारा प्रत्येक वर्ष 50 से 60 हजार पत्तल मांगे जाते हैं। जिसके लिए हमारी पूरी बस्ती सहर्ष यह काम करके सिद्धपीठ पर पहुंचाती है, जहां हमें गौरव की अनुभूति होती है। इतने बड़े सिद्धपीठ पर आज भी हम से पत्तल मांगा जाता है जिसकी हम आपूर्ति करते हैं।

सिद्धपीठ के महामंडलेश्वर व पीठाधीश्वर स्वामी श्री भवानीनंदन यति जी महाराज ने कहा कि वनवासी भाई हमारे समाज के अंग हैं। हालिया राजनीतिक स्थिति में हिंदू समाज में भेदभाव बढ़ाने का काम किया जबकि पारंपरिक तौर पर प्राचीन काल से हम एक दूसरे से इन मांगलिक व धार्मिक कार्यों के माध्यम से मजबूती से बंधे हुए थे। ‘मंदिर का भोग हो या शादी का भोज हो’ सब कुछ बनवासी भाइयों के बने पत्तल में हीं किया जाता रहा जिसका आज भी पालन करने की आवश्यकता है।

सं प्रदीप

वार्ता

More News
आस्ट्रेलिया और स्विटरजरलैंड की खूबसूरती को मात देती है चंबल घाटी

आस्ट्रेलिया और स्विटरजरलैंड की खूबसूरती को मात देती है चंबल घाटी

11 Sep 2020 | 7:31 PM

इटावा, 11 सितम्बर (वार्ता) दशकों तक कुख्यात डाकुओं की शरणस्थली के तौर पर कुख्यात रही चंबल घाटी की नैसर्गिक सुंदरता आस्ट्रेलिया और स्विटरजरलैंड के खूबसूरत पर्यटन स्थलो को भी मात देती है।

see more..
बुंदेलखंड में बच्चे भी अलग तरीके से शामिल होते तर्पण में

बुंदेलखंड में बच्चे भी अलग तरीके से शामिल होते तर्पण में

11 Sep 2020 | 12:40 PM

महोबा 11 सितम्बर (वार्ता) पितृ तर्पण में धार्मिक क्रिया कर्म के दुनिया भर मे अपनाए जाने वाले विभिन्न तौर तरीकों से अलग उत्तर भारत के बुंदेलखंड में प्रचलित महबुलिया एक ऐसी अनूठी परंपरा है जिसे घर के बुजुर्गों के स्थान पर छोटे बच्चे सम्पादित करते हैं। समय में बदलाव के साथ हालांकि अब यह परम्परा यहां गांवों तक ही सिमट चली है।

see more..
कोरोना के खात्मे के लिये गिर्राज जी की तलहटी पर छप्पन भोग

कोरोना के खात्मे के लिये गिर्राज जी की तलहटी पर छप्पन भोग

04 Sep 2020 | 4:36 PM

मथुरा 04 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश की कान्हा नगरी मथुरा में कोरोना वायरस महामारी की समाप्ति के लिए गिर्राज जी की तलहटी में छप्पन भोग का आयोजन किया गया ।

see more..
जौनपुर की यह बेटी महिलाओं के जीवन में ला रही उजियारा

जौनपुर की यह बेटी महिलाओं के जीवन में ला रही उजियारा

04 Sep 2020 | 1:02 PM

जौनपुर 04 सितम्बर (वार्ता ) आईआईटी दिल्ली में वैज्ञानिक मानवीय अजीत सिंह अपने विश्वास के दम पर उत्तर प्रदेश के जौनपुर में ग्रामीण महिलाओं और किसानों को उड़ान का नया पंख देने के लिए अपना वातानुकूलित दफ्तर छोड़कर चिलचिलाती धूप में गांव की पगडंडियों पर चलकर पसीना बहा रही है।

see more..
सहारा ने दर्ज करायी नेटफ्लिक्स के खिलाफ शिकायत

सहारा ने दर्ज करायी नेटफ्लिक्स के खिलाफ शिकायत

02 Sep 2020 | 9:17 PM

लखनऊ 02 सितम्बर (वार्ता) ‘बैडब्वाॅय बिलियनेयर्स’ सीरीज को रोके जाने के खिलाफ नेटफ्लिक्स की याचिका खारिज होने के बाद सहारा समूह ने नेटफ्लिक्स और उसके निदेशकों के विरूद्ध सूचना तकनीक अधिनियम 2000,इंडियन पीनल कोड और ट्रेडमाक्र्स एक्ट के अंतर्गत आपराधिक शिकायत दर्ज कराई है।

see more..
image