Tuesday, Oct 27 2020 | Time 20:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चंदौली के बलुआ इलाके से दो तस्कर गिरफ्तार,24 लाख का गांजा बरामद
  • काेरोना चुनौती को अवसर मान कर हरियाणा ने लिये अनेक अहम फैसले:खट्टर
  • नोएडा मुठभेड़ में एक इनामी समेत आठ वांछित बदमाश गिरफ्तार
  • गुजराती सुपर स्टार नरेश कनोडिया का निधन, दो दिन पहले ही संगीतकार भाई थे गुज़रे
  • रोहतक रोड टर्फ यूथ कप के फाइनल में
  • पाकिस्तान मदरसा विस्फोट: 8 की मौत, 110 घायल
  • एक नवम्बर से धान खरीद को लेकर हुए हंगामे के कारण कार्यवाही हुई स्थगित
  • गुजरात की अदालत ने राहुल को दी राहत, मानहानि प्रकरण में व्यक्तिगत पेशी से छूट
  • रोहित की चोट पर स्थिति स्पष्ट करे बीसीसीआई: गावस्कर
  • रोहित की चोट पर स्थिति स्पष्ट करे बीसीसीआई: गावस्कर
  • सांगली में कोरोना के 154 मरीज संक्रमित पाये गये
  • बेंगलुरु में कोरोना की झूठी रिपोर्ट देने वाला लैब टेक्निशियन तथा आशा वर्कर निलंबित
  • कृषि बिलों के खिलाफ संसद के सामने विरोध प्रदर्शन
  • शांति, समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध है सरकार : सिन्हा
  • महाराष्ट्र में कोरोना सक्रिय मामले घटकर 1 31 लाख
राज्य » उत्तर प्रदेश


आज भी वह पृथक बुंदेलखंड राज्य के समर्थक है: बुन्देला

आज भी वह पृथक बुंदेलखंड राज्य के समर्थक है: बुन्देला

हमीरपुर 26 सितम्बर(वार्ता) बुंदेलखंड विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष राजा बुन्देला ने कहा है कि आज भी वह पृथक बुन्देलखंड राज्य के समर्थक है, सरकार से अनुदान मांगना भीख मांगने के बराबर है।

श्री बुंदेला ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के हमीपुर में पत्रकारों से कहा कि आज भी वह पृथक बुन्देलखंड राज्य के समर्थक है। सरकार से अनुदान मांगना भीख मांगने के बराबर है। उन्होंने कहा कि जब वह भारतीय जनता पार्टी( भाजपा) में शामिल हुये थे तो उन्होने साफ कहा था कि वह पृथक बुन्देलखंड राज्य का मुद्दा नही छोड़ेगे।

केंद्र सरकार द्वारा कृषि विधेयक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह किसान हित में है। कई दशको से किसान गुलामी की मार झेल रहा है। मोदी सरकार ने किसानों को फसल उत्पादन और बिक्री करने में की स्वतंत्रता प्रदान की है। अब उसे मंडी के बिचौलियो,आढ़तियो के शोषण से छुटकारा मिल जायेगा।

श्री बुन्देला ने कहा कि अभी तक किसान एक राज्य से दूसरे राज्य में अपनी फसल की बिक्री नही कर सकता था। इस विधेयक के आने से यह प्रतिबंध समाप्त कर दिया है। विरोधी हो हल्ला इसलिये मचाते है क्यों कि उनको विधेयक के बारे में जानकारी नही है। न ही वे किसान का हित चाहते है। किसानों को जब उनकी फसल का सही मूल्य मिलेगा तो नौजवानो का पलायन रुकेगा।

उत्तर प्रदेश के नोएडा में फिल्म सिटी बनाये जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इससे बुन्देलखंड के लोगों का भी भला होगा। फिल्म निर्माता शूटिंग के लिये बुन्देलखंड के लिये मुखर होगे। यह पूछने पर क्या गल्ला खरीदने वाली कंपनी किसानों के साथ

आढ़तियो जैसा व्यवहार तो नही करेगी। इसकी क्या गारंटी है। उपाध्यक्ष ने कहा कि किसानो को इसके लिये पूरी स्वतंत्रता दे दी गयी है।

उपाध्यक्ष ने सूबे की मुख्यमंत्री की प्रशंसा करते हुये कहा कि वह नाम के सिर्फ नाम के योगी नही है। उनका काम बोलता है। वह बुन्देलखंड के विकास की ओर पूरी तरह ध्यान दे रहे है। उनके साथ भाजपा नेता एसके चौधरी मौजूद थे।

सं भंडारी

वार्ता

image