Thursday, Jun 13 2024 | Time 10:25 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


प्रदेश का हर माफिया रखता है सपा से संबंध: योगी

प्रदेश का हर माफिया रखता है सपा से संबंध: योगी

सिद्धार्थनगर, 21 मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी (सपा) पर माफियाओं को आश्रय देने का आरोप लगाते हुये मंगलवार को कहा कि अभी भी हर माफिया सपा से संबंध रखता है।

राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में डुमरियागंज से सांसद व लोकसभा प्रत्याशी जगदंबिका पाल के पक्ष में जनसभा को संबोधित करते हुये उन्होने कहा कि कांग्रेस और सपा के लोग आतंकियों के आका और माफिया के सरपरस्त हैं। हर अपराधी व माफिया 2017 के पहले जनता का खून चूसता था, वसूली करता था, बेटी की सुरक्षा पर खतरा था। आज माफिया को उल्टा टांगने और राम नाम सत्य की यात्रा निकलने पर सपा को पीड़ा होती है। हमें माफिया के सहयोगी-सरपस्त, आतंकियों के आकाओं को सत्ता पर काबिज नहीं होने देना है।

उन्होने कहा कि सपा व कांग्रेस के गठबंधन के कारण अनर्थ होता है। जब केंद्र में कांग्रेस व प्रदेश में सपा सरकार थी तो अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि, काशी में संकट मोचन, अयोध्या, लखनऊ व वाराणसी की कचहरियों पर आतंकी हमला हुआ था। सीएम बनते ही अखिलेश यादव ने आतंकियों पर दायर मुकदमों को वापस लेने का कार्य किया था। तब न्यायालय ने कहा था कि आतंकी छूटेंगे नहीं, सरकार को शर्म आनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता जानती है कि सपा और माफिया का चोली-दामन का संबंध है। दोनों को अलग करके देखा ही नहीं जा सकता। प्रदेश का हर माफिया सपा से संबंध रखता है। सपा की संवेदना समाज के बेटी-व्यापारी की सुरक्षा के लिए नहीं, बल्कि माफिया के साथ है। माफिया के प्रति इनकी संवेदना को देखते हुए जनता ने इन्हें 2014, 2017, 2019, 2022 में इन्हें खारिज कर दिया। अबकी बार-400 पार के नारे को सुनकर सपा चारों खाने चित हो रही है। सपा कुल 63 सीट पर चुनाव लड़ रही। इन सभी सीटों पर इनकी जमानत जब्त हो रही है, इसलिए दो लड़कों (सपा व कांग्रेस) का इंडी गठबंधन षडयंत्र व गुमराह कर झूठ-अफवाह फैला रहा है।

उन्होने कहा कि जिस माफिया को गोरखपुर, संतकबीर नगर की जनता ने लात मारकर भगाया है, उसे महात्मा बुद्ध की धरती सिद्धार्थनगर में नहीं पनपने देगी। यह माफिया पनपेंगे तो गरीबों की संपत्ति पर कब्जा करेंगे। डुमरियागंज व कपिलवस्तु में मैं आंदोलन करता था, तब आपको न्याय मिलता था। फिर ऐसी नौबत न आने दें। यह माफिया केवल स्वार्थ के हैं। यह किसी की जमीन कब्जा कर बंदूक की नोक पर लिखवाने का कार्य करेंगे। यद्यपि इन माफिया का हम जीना हराम कर देंगे, लेकिन फिर भी यह माफिया आएंगे तो गुंडागर्दी का प्रयास करेंगे। रंगदारी वसूली करेंगे। वोट और फैसला दोनों आपका है।

योगी ने कहा कि अवसर मिला तो हमने अयोध्या में रामलला को विराजमान कर दिया। सपा वाले रामभक्तों पर गोली चलाते थे। सपा महासचिव का बयान आया कि राम मंदिर बेकार बना है। राम जगत नियंता और परमपिता परमेश्वर हैं। राम के बिना हमारा कोई काम नहीं, जो राम का नहीं वो हमारे किसी काम का नहीं।

उन्होने सपा-कांग्रेस के घोषणा पत्र पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि यह पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान से घुसपैठियों के रूप में आए मुसलमानों को आपकी संपत्ति देंगे, लेकिन हम लोग विरासत टैक्स हिंदुस्तान में नहीं लगने देंगे।

योगी ने कहा कि पहले सड़कें खराब होने से गोरखपुर से सिद्धार्थनगर होते हुए बलरामपुर जाने में छह से आठ घंटे लगते थे। लखनऊ, गोरखपुर, नेपाल, बस्ती, बलरामपुर समेत हर तरफ की सड़कें खराब थीं पर अब सड़कें भी बन गई हैं और बाढ़ बचाव के बेहतर उपाय भी हो रहे हैं। जातिवाद की बात करने वालों को बताइए कि योगी सरकार ने सिद्धार्थनगर में माधव प्रसाद त्रिपाठी के नाम पर मेडिकल कॉलेज का निर्माण किया है। 2017 के पहले यहां का मासूम इंसेफेलाइटिस से दम तोड़ता था, लेकिन माफिया की तरह हमने इस बीमारी का भी खात्मा कर दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हिंदुस्तान में रहकर पाकिस्तान का राग अलापने वाले यहां बोझ न बनें, वे पाकिस्तान ही चले जाएं। जैसे कोई रोटी का टुकड़ा फेंक दे तो गली के जीव लड़ते हैं, वैसे ही पाकिस्तान में एक किलो गेहूं-आटा के लिए तोड़फोड़, आगजनी हो रही है। सपा व कांग्रेस के लोग कहते है कि पाकिस्तान के बारे में मत बोलो, उसके पास एटम बम है। हमने कहा कि एटम बम मेरे पास भी है। अगर पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ दुस्साहस किया तो उसका अस्तित्व समाप्त हो जाएगा।

उन्होने कहा कि इस आयु में भी जगदंबिका पाल जुझारूपन से कार्य करते हैं। दस बजे से संसद सत्र में भाग लेते हैं, फिर चार बजे चलकर डुमरियागंज पहुंचते हैं। यह संसद सत्र के दौरान भी एक हजार किमी. चलते हैं। इन्होंने न दिन देखा न रात देखा, सर्दी देखी न गर्मी, बरसात देखा न बाढ़। यह लगातार आपकी सेवा में समर्पित रहा। उन्हें फिर से मौका देना है।

जनसभा में योगी सरकार की मंत्री रजनी तिवारी, डुमरियागंज से सांसद व लोकसभा प्रत्याशी जगदंबिका पाल, विधायक जयप्रताप सिंह, श्यामधनी राही, विनय वर्मा, पूर्व विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष कन्हैया पासवान, लोकसभा संयोजक रामकुमार कुंवर आदि मौजूद रहे।

प्रदीप

वार्ता

image