Wednesday, Aug 5 2020 | Time 15:44 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पैरोल पर छूटे फरार कैदी गिरफ्तार
  • बेरूत विस्फोटः 100 से अधिक की मौत, 4000 से ज्यादा हो सकती है घायलों की संख्या
  • वडोदरा में बस पलटी, 10 घायल
  • प रेलवे ने चलायी 357 कोविड-19 विशेष पार्सल गाड़ियां
  • देश में पहली बार सक्रिय मामलों में आयी गिरावट
  • दरभंगा में करेह नदी में नाव पलटी, दो शव बरामद
  • देशभर में 1,366 कोरोना टेस्ट लैब
  • वेंकैया ने लोक सेवा परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं दी
  • स्पाइसजेट ने दिया एक यात्री के लिए पूरी कतार बुक कराने का विकल्प
  • अफगानिस्तान हवाई हमले में चार आतंकवादी मारे गए
  • बलरामपुर के उतरौला परिषद के चेयरमैन का निधन
  • घृणा और क्रूरता से प्रकट नहीं हो सकते राम: राहुल
  • बेरूत विस्फोटः फिलीपींस के दो नागरिकों की मौत, आठ घायल
  • कोटा में टैंक में गिरने से मासूम की मौत
  • बाघिन की मौत की जांच शुरू, लापता शावक की तलाश
भारत


स्तन कैंसर से हर साल 21 लाख महिलायें हो रही पीड़ित

स्तन कैंसर से हर साल 21 लाख महिलायें हो रही पीड़ित

नयी दिल्ली 25 नवंबर (वार्ता) भारत सहित पूरी दुनिया में स्तन कैंसर के मामलों में तेजी से बढोतरी हो रही है और वैश्विक स्तर पर हर साल करीब 21 लाख महिलायें इससे पीड़ित हो रही है और उसमें से 1.62 लाख से अधिक नये मामले सिर्फ भारत के होते हैं।

हरियाणा के झज्झर स्थित राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के मेडिकल ऑन्कोलॉजी के सहायक प्रोफेसर डाॅ़ आकश कुमार ने यह जानकारी देते हुये कहा है कि महिलाओं में कैंसर से होने वाली कम से कम 12 फीसदी मौतें स्तन कैंसर की वजह से होती हैं। उन्होंने इसके लिए जागरूकता बढ़ाये जाने की आवश्यकता बताते हुये कहा कि देश में 30 वर्ष आयु वर्ग की महिलाओं में यह बीमारी तेजी से बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि 2018 में भारत में 87,090 महिलाओं की मौत स्तन कैंसर से हुई। यह भारतीय शहरों में स्वास्थ्य की एक बड़ी समस्या बन गयी है। 2030 तक स्तन कैंसर के कारण होने वाली मौत की संख्या किसी भी अन्य कैंसर से होने वाली मौतों के मुकाबले बहुत ज्यादा होने की आशंका है। यदि स्तन कैंसर की पहचान समय रहते कर ली जाए, तो मरीज के बचने की संभावना बहुत ज्यादा होती है। अगर पहचान में देर हो जाती है तो मरीज के बचने की संभावना भी कम होती जाती है। स्तन कैंसर पूरी दुनिया में महिलाओं में पाया जाने वाला सबसे आम कैंसर है, लेकिन फिर भी स्तन कैंसर के कारणों के बारे में जानकारी तथा समझ बहुत कम है। स्तन कैंसर के अनेक कारण हो सकते हैं।

शेखर

वार्ता

More News
वेंकैया ने लोक सेवा परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं दी

वेंकैया ने लोक सेवा परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं दी

05 Aug 2020 | 1:55 PM

नयी दिल्ली 05 अगस्त (वार्ता) उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं देते हुए बुधवार को कहा कि उन्हें अपनी जड़ों को याद रखना चाहिए और गरीबों का कल्याण करना चाहिए।

see more..
देश में पहली बार सक्रिय मामलों में आयी गिरावट

देश में पहली बार सक्रिय मामलों में आयी गिरावट

05 Aug 2020 | 1:48 PM

नयी दिल्ली 05 अगस्त (वार्ता) देश में कोरोना संक्रमण से निजात पाने वालों की दर 67.19 पर पहुंचने से पहली बार सक्रिय मामलों में गिरावट आयी है और इनकी संख्या अब 5,86,244 रह गयी है।

see more..
घृणा और क्रूरता से प्रकट नहीं हो सकते राम: राहुल

घृणा और क्रूरता से प्रकट नहीं हो सकते राम: राहुल

05 Aug 2020 | 1:26 PM

नयी दिल्ली, 05 अगस्त (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या में भगवान राम मंदिर का शिलान्यास करने के तत्काल बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि राम मर्यादा पुरुषोत्तम है और वह घृणा तथा क्रूरता से कभी प्रकट नहीं होते।

see more..
नकवी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने की पहली वर्षगांठ पर दी बधाई

नकवी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने की पहली वर्षगांठ पर दी बधाई

05 Aug 2020 | 12:54 PM

नयी दिल्ली,05 अगस्त (वार्ता) केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों और धारा 35ए को खत्म किये जाने की पहली वर्षगांठ पर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को शुभकामनाएं दी हैं।

see more..
कोरोना से दक्षिण के पांच राज्यों में अब तक 9320 मरीजों की मौत

कोरोना से दक्षिण के पांच राज्यों में अब तक 9320 मरीजों की मौत

05 Aug 2020 | 12:21 PM

नयी दिल्ली 05 अगस्त (वार्ता) देश के दक्षिणी राज्यों में कोरोना वायरस (कोविड-19) का कहर बढ़ता ही जा रहा है और इस महामारी के कारण दक्षिण भारत के पांच राज्यों में अब तक 9320 मरीजों की मौत हो चुकी है, जो इस जानलेवा विषाणु के कारण देश में हुई कुल मौतों का 23.43 प्रतिशत है।

see more..
image