Wednesday, Nov 13 2019 | Time 15:52 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सीजेआई का दफ्तर आरटीआई के दायरे में : सुप्रीम कोर्ट
  • वडोदरा में घर में घुसा मगरमच्छ
  • ब्रिक्समैथ ऑनलाइन प्रतियोगिता शुरू
  • वित्त विधेयक 2017 की वैधता का मसला वृहद कोर्ट के सुपुर्द
  • नारायणसामी ने नहीं ली थी सिंगापुर जाने की अनुमति: : किरण बेदी
  • कश्मीर में पटरी पर लौट रहा है जनजीवन
  • गुलाबी गेंद से खेलना होगा चुनौतीपूर्ण: विराट
  • गुलाबी गेंद से खेलना होगा चुनौतीपूर्ण: विराट
  • अफगानिस्तान में विदेशी सेना के वाहन में विस्फोट , सात मरे, 10 घायल
  • पुलवामा में कुल बजट का मात्र 9 37 प्रतिशत ही खर्च
  • महाराष्ट्र कांग्रेस विधायक मुम्बई रवाना
  • लिंगदोह बने पीडीएफ के कार्यवाहक अध्यक्ष
  • सोना 110 रुपये चमका, चांदी 300 रुपये उछली
  • आरएसएस का झंडा उतारना महंगा पड़ गया
भारत


हस्तशिल्प और हाथकरघा को बढ़ावा देने प्रदर्शनी का आयोजन

हस्तशिल्प और हाथकरघा को बढ़ावा देने प्रदर्शनी का आयोजन

नयी दिल्ली, 10 अक्टूबर (वार्ता) त्यौहारों के मौसम में छत्तीसगढ़ की हस्तशिल्प और हाथकरघा को बढ़ावा देने के लिए राज्य के बुनकर यहां छत्तीसगढ़ भवन में आयोजित प्रदर्शनी-सह-बिक्री में अपनी शिल्पकला का प्रदर्शन कर रहे हैं।

प्रदर्शनी में टसर सिल्क साड़ी, ब्लॉक प्रिंट, ट्राइबल आर्ट और अप्पेलिक वर्क, सिल्क ड्रेस मटेरियल, कॉटन बेड शीट, टेराकोटा बर्तन और बेल मेटल क्राफ्ट के स्टाल लगाये गये हैं। प्रदर्शनी का समापन 14 अक्टूबर को होगा।

छत्तीसगढ़ में बस्तर के बुनकरों ने हाथकरघे से बनी साड़ियों में आदिवासी जनजीवन और संस्कृति को उकेरा है। इसी तरह रायगढ़ के बुनकरों ने अनूठी डिजाइनों की साड़ियां प्रदर्शित की है।

प्रदर्शनी में हस्तशिल्प और हाथकरघा से बने वस्त्रों के अलावा छत्तीसगढ़ में उत्पादित सुगंधित चावल, दाल, बाजरा और स्थानीय खान-पान की वस्तुओं के स्टाल भी लगाये गये हैं।

टंडन, उप्रेती

वार्ता

image