Saturday, Sep 21 2019 | Time 04:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इराक विस्फोट से नौ की मौत, 4घायल
  • इराक के कर्बला में विस्फोट, 5 की मौत
  • गिरिडीह से नक्सली गिरफ्तार
  • भारत-मंगोलिया सिर्फ रणनीतिक साझेदार ही नहीं, आध्यात्मिक पड़ोसी भी हैं: कोविंद
States » Uttar Pradesh


प्लास्टिक का विकल्प खोजें आईआईटी के छात्र :मोदी

प्लास्टिक का विकल्प खोजें आईआईटी के छात्र :मोदी

मथुरा 11 सितम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) के छात्रों से पशुओं के लिए हरे चारे की व्यवस्था और प्लास्टिक का सस्ता विकल्प देने की चुनौती स्वीकार करने की अपील की ।
श्री मोदी ने यहां स्टार्ट अप ग्रांड चैलेंज योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि आईआईटी के छात्र इस चुनौती से जुड़े और समस्या का समाधान दें । उन्होंने कहा कि छात्र नये विचारों के साथ आगे अायें। सरकार उस पर गंभीरता से विचार करेगी और जरुरी निवेश करेगी । इससे रोजगार भी मिलेगा ।
उन्होंने कहा कि प्लास्टिक की थैलियों का सस्ता और सुलभ विकल्प क्या हो सकता है । ऐसे अनेक विषयों का हल देने वाले स्टार्ट अप शुरू किए जा सकते हैं । देश के डेयरी सेक्टर को विस्तार देने के लिए हमें नई तकनीक की जरुरत है। ये नवाचार हमारे ग्रामीण समाज से भी आएं इसीलिए आज स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज की शुरुआत की जा रही है ।
प्रधानमंत्री ने कहा कि प्लास्टिक की समस्या समय के साथ गंभीर होती जा रही है । प्लास्टिक के खाने से पशुओं एवं जलीय जीवों के निगलने से उनका जिन्दा बचना मुश्किल हो रहा है । एक बार उपयोग किये जाने वाले प्लास्टिक से छुटकारा पाना ही होगा ।
उन्होंने लोगों से अपने घर , दफ्तर और कार्यक्षेत्र को प्लास्टिक मुक्त करने का अनुराेध करते हुए कहा कि इसमें गैर सरकारी संगठनों , स्कूलों , कालेजों , महिला संगठनों और अन्य संगठनों को इस अभियान से जुड़ना चाहिए । इससे संतानों का भविष्य उज्जवल होगा ।
श्री मोदी ने कहा कि प्लास्टिक कचरा संग्रह किये जाने के बाद उसका रिसाइकिल किया जरयेगा और जिसे ऐसा नहीं किया जायेगा उसे सीमेंट कारखानों और सड़क निर्माण में उपयोग में लाया जायेगा । उन्होंने कहा कि सरकारी कार्यक्रमों में प्लास्टिक की बोतलों का उपयोग नहीं किया जायेगा और उसके स्थान पर मिट्टी या धातुु के बर्तनों का उपयोग किया जायेगा ।
उन्हाेंने कहा कि डेयरी विस्तार और दूध उत्पादन बढाने के लिए नवाचार की जरुरत है । पशुओं में दूध उत्पादन बढाने के लए हरे चारे की जरुरत है ।
अरुण सत्या
वार्ता

More News
मध्यप्रदेश एवं राजस्थान से अचानक पानी छोड़ने से आयी यहां बाढ़:योगी

मध्यप्रदेश एवं राजस्थान से अचानक पानी छोड़ने से आयी यहां बाढ़:योगी

20 Sep 2019 | 10:01 PM

वाराणसी, 20 सितंबर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को यहां कहा कि मध्य प्रदेश एवं राजस्थान के चंबल और बेतवा एवं केन नदियों से अचानक पानी छोड़ने के कारण यहां बाढ़ आयी है।

see more..
image