Saturday, Jul 20 2019 | Time 08:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 21 जुलाई)
  • विदेश सचिव ने टैंकर जब्त करने को लेकर आपात बैठक बुलाई
  • चीन के गैस फैक्ट्री में विस्फोट,10 की मौत,19 घायल
  • अमेरिकी सेना की मेजबानी करने को तैयार सऊदी किंग
  • हंट ने ईरान को टैंकर मामले पर चेताया
  • आतंकवादी ने किया पुलिस टीम पर हमला, एक की मौत
  • अदालत से सम्मन मिलने के बाद कोसोवो के प्रधानमंत्री ने इस्तीफा दिया
  • बिना शर्त ईरान से बातचीत को तैयार : पोंपियो
  • चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता भाजपा में आएंगे : पाटिल
खेल


पदक देखकर सारा अपमान भूल गयी: दुती

पदक देखकर सारा अपमान भूल गयी: दुती

जकार्ता , 27 अगस्त (वार्ता) चार साल पहले की बात है जब ओड़िशा की एथलीट दूती चंद को जेंडर विवाद के चलते भारत की ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों की टीम से बाहर कर दिया गया था लेकिन जीवट और हौंसले की धनी इस एथलीट ने 18वें एशियाई खेलों में महिलाओं की 100 मीटर स्पर्धा का रजत जीतकर अपना खोया सम्मान वापिस पा लिया।

दुती ने अपने करियर में एक ऐसा दौर गुजारा था जब उन्हें हर पल अपमान भरे शब्दों से गुजरना पड़ता था। यह ऐसा समय था जो किसी भी खिलाड़ी को मनोवैज्ञानिक रूप से तोड़ सकता था। उनके अपने गांव के लोग पूछते थे कि क्या वह पुरूष हैं। किसी भी महिला एथलीट के लिये यह सबसे अपमानजनक शब्द हो सकते थे लेकिन दुती ने ऐसे प्रतिकूल हालात से निकलकर जो वापसी की और जैसा प्रदर्शन उन्होंने कल जकार्ता में 100 मीटर के फाइनल में किया वह भारतीय खेल इतिहास में स्वर्णाक्षरों में दर्ज हो गया।

22 साल की दुती को लंबे समय तक ऐसी परिस्थितियों में जीना पड़ा था जब स्वभाविक रूप से उनका टेस्टोस्टोरोन स्तर ऊंचा हो जाता था और उनपर पुरूष होने का आरोप लगा था जिसके चलते वह एक साल तक अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं ले पायी थीं। उनकी अपील पर लुसाने स्थित खेल मध्यस्थता अदालत ने उनपर लगा आईएएएफ का प्रतिबंध हटा दिया था जिससे वह 2016 के रियो ओलंपिक में हिस्सा ले पायी थीं।

दुती ने फाइनल में 11.32 सेकंड का समय लिया और स्वर्ण विजेता एडिडियोंग ओडियोंग के 11.30 सेकंड के समय से मामूली अंतर से पिछड़कर रजत जीता। स्पर्धा समाप्त होने के बाद विजेताओं के लिए फोटो फिनिश का सहारा लिया गया जिसमें दुती का नाम दूसरे स्थान पर आते ही भारतीय एथलीट ने तिरंगा अपने कंधों पर उठा लिया। दुती के लिए यह पदक गौरव का क्षण था।

दुती इस तरह देश की महान एथलीट पी टी उषा के 1986 के सोल एशियाई खेलों में 100 मीटर में रजत पदक जीतने के बाद यह कारनामा करने वाली पहली भारतीय एथलीट बनीं। उन्होंने अपनी स्पर्धा में पदक हासिल करने के बाद कहा,“ मैं अब आपको बता सकती हूं कि मैं कैसा महसूस कर रही हूं। जब मां एक बच्चे को जन्म देती है तो उस समय वह भूल जाती है कि वह कैसी पीड़ा से गुजरी थी। मेरे अंदर भी उसी तरह की अनुभूति है।”

उन्होंने कहा,“ इस पदक से मैं अपने सारे दर्द और अपमान को भूल चुकी हूं। मेरे लिये यह बहुत बड़ा क्षण है। वे कड़वी यादें मुझे इससे पहले तक बहुत परेशान किया करती थीं, लोग पता नहीं क्या क्या कहते थे लेकिन मैंने हर किसी को नज़रअंदाज़ किया और सिर्फ अपने अभ्यास पर ध्यान लगाया। मैंने ईश्वर पर से भरोसा नहीं खोया।”

ओड़िशा की इस एथलीट ने कहा,“ मैं रोजाना छह घंटे अभ्यास करती थी। मैंने स्वर्ण पाने के लिये अपना सबकुछ झोंक दिया लेकिन ईश्वर की मर्जी से मुझे रजत पदक मिला। मैं खुश हूं।” दूती 1980 के बाद से 2016 के रियो ओलंपिक में 100 मीटर में हिस्सा लेने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बनी थीं।

उन्होंने अपनी कानूनी टीम को भी इस पदक के लिये धन्यवाद किया जिन्होंने कैस में उनका मामला लड़ा था।

 

More News
उत्तर कोरिया ने जीता इंटरकांटिनेंटल कप

उत्तर कोरिया ने जीता इंटरकांटिनेंटल कप

20 Jul 2019 | 12:00 AM

अहमदाबाद, 19 जुलाई (वार्ता) उत्तर कोरिया ने दूसरे हाफ के एकमात्र गोल की बदौलत ताजिकिस्तान को शुक्रवार को 1-0 से हराकर इंटरकांटिनेंटल कप फुटबॉल टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया।

see more..
भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने जीते राष्ट्रमंडल टेटे खिताब

भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने जीते राष्ट्रमंडल टेटे खिताब

20 Jul 2019 | 12:00 AM

कटक, 19 जुलाई (वार्ता) भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए शुक्रवार को 21वीं राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस प्रतियोगिता में खिताब जीत लिए।

see more..
राजा रणधीर सिंह डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित

राजा रणधीर सिंह डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित

19 Jul 2019 | 10:32 PM

अमृतसर, 19 जुलाई (वार्ता) भारतीय ओलम्पिक संघ के पूर्व महासचिव और राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलों के प्रचार के लिए राजा रणधीर सिंह और डॉ गुरतेज सिंह संधू, सीनियर फेलो एंड वाइस प्रेसीडेंट माइक्रोन टेक्नॉलॉजी को उनके अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट उपलब्धियों और उत्कृष्ट सेवाओं के लिए गुरु नानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर ने शुक्रवार को डॉक्टर ऑफ साइंस की उपाधि प्रदान की।

see more..
गो कार्ट के राष्ट्रीय विजेता को मिलेगा अबू धाबी ग्रां प्री में उतरने का मौका

गो कार्ट के राष्ट्रीय विजेता को मिलेगा अबू धाबी ग्रां प्री में उतरने का मौका

19 Jul 2019 | 8:50 PM

नयी दिल्ली, 19 जुलाई (वार्ता) गो कार्ट टूर्नामेंट रेड बुल कार्ट फाइट के तीसरे संस्करण के विजेता को अबू धाबी ग्रां प्री में उतरने का मौका मिलेगा।

see more..
भारतीय महिला टीम ने राष्ट्रमंडल टेटे खिताब जीता

भारतीय महिला टीम ने राष्ट्रमंडल टेटे खिताब जीता

19 Jul 2019 | 8:50 PM

कटक, 19 जुलाई (वार्ता) भारतीय महिला टीम ने इंग्लैंड को शुक्रवार को 3-0 से पराजित कर 21वीं राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस प्रतियोगिता में खिताब जीत लिया।

see more..
image