Wednesday, Feb 20 2019 | Time 04:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सऊदी अरब के शाहजादे सलमान पहुंचे भारत, मोदी ने हवाई अड्डे पर की अगवानी
खेल Share

पदक देखकर सारा अपमान भूल गयी: दुती

पदक देखकर सारा अपमान भूल गयी: दुती

जकार्ता , 27 अगस्त (वार्ता) चार साल पहले की बात है जब ओड़िशा की एथलीट दूती चंद को जेंडर विवाद के चलते भारत की ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों की टीम से बाहर कर दिया गया था लेकिन जीवट और हौंसले की धनी इस एथलीट ने 18वें एशियाई खेलों में महिलाओं की 100 मीटर स्पर्धा का रजत जीतकर अपना खोया सम्मान वापिस पा लिया।

दुती ने अपने करियर में एक ऐसा दौर गुजारा था जब उन्हें हर पल अपमान भरे शब्दों से गुजरना पड़ता था। यह ऐसा समय था जो किसी भी खिलाड़ी को मनोवैज्ञानिक रूप से तोड़ सकता था। उनके अपने गांव के लोग पूछते थे कि क्या वह पुरूष हैं। किसी भी महिला एथलीट के लिये यह सबसे अपमानजनक शब्द हो सकते थे लेकिन दुती ने ऐसे प्रतिकूल हालात से निकलकर जो वापसी की और जैसा प्रदर्शन उन्होंने कल जकार्ता में 100 मीटर के फाइनल में किया वह भारतीय खेल इतिहास में स्वर्णाक्षरों में दर्ज हो गया।

22 साल की दुती को लंबे समय तक ऐसी परिस्थितियों में जीना पड़ा था जब स्वभाविक रूप से उनका टेस्टोस्टोरोन स्तर ऊंचा हो जाता था और उनपर पुरूष होने का आरोप लगा था जिसके चलते वह एक साल तक अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं ले पायी थीं। उनकी अपील पर लुसाने स्थित खेल मध्यस्थता अदालत ने उनपर लगा आईएएएफ का प्रतिबंध हटा दिया था जिससे वह 2016 के रियो ओलंपिक में हिस्सा ले पायी थीं।

दुती ने फाइनल में 11.32 सेकंड का समय लिया और स्वर्ण विजेता एडिडियोंग ओडियोंग के 11.30 सेकंड के समय से मामूली अंतर से पिछड़कर रजत जीता। स्पर्धा समाप्त होने के बाद विजेताओं के लिए फोटो फिनिश का सहारा लिया गया जिसमें दुती का नाम दूसरे स्थान पर आते ही भारतीय एथलीट ने तिरंगा अपने कंधों पर उठा लिया। दुती के लिए यह पदक गौरव का क्षण था।

दुती इस तरह देश की महान एथलीट पी टी उषा के 1986 के सोल एशियाई खेलों में 100 मीटर में रजत पदक जीतने के बाद यह कारनामा करने वाली पहली भारतीय एथलीट बनीं। उन्होंने अपनी स्पर्धा में पदक हासिल करने के बाद कहा,“ मैं अब आपको बता सकती हूं कि मैं कैसा महसूस कर रही हूं। जब मां एक बच्चे को जन्म देती है तो उस समय वह भूल जाती है कि वह कैसी पीड़ा से गुजरी थी। मेरे अंदर भी उसी तरह की अनुभूति है।”

उन्होंने कहा,“ इस पदक से मैं अपने सारे दर्द और अपमान को भूल चुकी हूं। मेरे लिये यह बहुत बड़ा क्षण है। वे कड़वी यादें मुझे इससे पहले तक बहुत परेशान किया करती थीं, लोग पता नहीं क्या क्या कहते थे लेकिन मैंने हर किसी को नज़रअंदाज़ किया और सिर्फ अपने अभ्यास पर ध्यान लगाया। मैंने ईश्वर पर से भरोसा नहीं खोया।”

ओड़िशा की इस एथलीट ने कहा,“ मैं रोजाना छह घंटे अभ्यास करती थी। मैंने स्वर्ण पाने के लिये अपना सबकुछ झोंक दिया लेकिन ईश्वर की मर्जी से मुझे रजत पदक मिला। मैं खुश हूं।” दूती 1980 के बाद से 2016 के रियो ओलंपिक में 100 मीटर में हिस्सा लेने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बनी थीं।

उन्होंने अपनी कानूनी टीम को भी इस पदक के लिये धन्यवाद किया जिन्होंने कैस में उनका मामला लड़ा था।

 

More News
अमित, निखत, मीना ने जीते स्वर्ण, पुलवामा के शहीदों को किये समर्पित

अमित, निखत, मीना ने जीते स्वर्ण, पुलवामा के शहीदों को किये समर्पित

19 Feb 2019 | 10:19 PM

नयी दिल्ली, 19 फरवरी (वार्ता) भारतीय मुक्केबाजों ने बुल्गारिया के सोफिया में 70वें स्ट्रांजा मेमोरियल मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में मंगलवार को कुल सात पदक अपने नाम किए जिनमें तीन स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक शामिल हैं।

 Sharesee more..
नासिर जमशेद पर ब्रिटेन में मुक़दमा चलेगा

नासिर जमशेद पर ब्रिटेन में मुक़दमा चलेगा

19 Feb 2019 | 9:53 PM

लंदन, 19 फरवरी (वार्ता) पाकिस्तान के प्रतिबंधित पूर्व सलामी बल्लेबाज नासिर जमशेद पर पाकिस्तान सुपर लीग में क्रिकेटरों को रिश्वत देने के आरोप में ब्रिटेन में मुक़दमा चलेगा।

 Sharesee more..
दूसरे सेमीफाइनल में भिड़ेंगे कोच्चि और चेन्नई

दूसरे सेमीफाइनल में भिड़ेंगे कोच्चि और चेन्नई

19 Feb 2019 | 9:35 PM

चेन्नई, 19 फरवरी (वार्ता) रूपे प्रो वॉलीबाल लीग के पहले संस्करण का दूसरा सेमीफाइनल यहां के नेहरू इंडोर स्टेडियम में बुधवार को मेजबान चेन्नई स्पार्टंस और कोच्चि ब्ल्यू स्पाइकर्स टीमों के बीच खेला जाएगा।

 Sharesee more..
निखत ने बुल्गारिया में जीता स्वर्ण

निखत ने बुल्गारिया में जीता स्वर्ण

19 Feb 2019 | 9:00 PM

नयी दिल्ली, 19 फरवरी (वार्ता) भारत की निखत जरीन ने बुल्गारिया में 70वें स्ट्रैंडजा मेमोरियल इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में 51 किग्रा वर्ग में मंगलवार को स्वर्ण पदक जीत लिया।

 Sharesee more..
स्कॉटलैंड के खिलाफ 24 पर ढेर हुई ओमान की टीम

स्कॉटलैंड के खिलाफ 24 पर ढेर हुई ओमान की टीम

19 Feb 2019 | 8:00 PM

अल अमेरात, 19 फरवरी (वार्ता) ओमान की टीम स्कॉटलैंड के खिलाफ लिस्ट ए मुकाबले में 17.1 ओवर में मात्र 24 रन पर ढेर हो गयी। स्कॉटलैंड ने 3.2 ओवर में बिना कोई विकेट खोये 26 रन बनाकर 10 विकेट से मैच जीत लिया।

 Sharesee more..
image