Monday, Nov 19 2018 | Time 06:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सबरीमला : श्रद्धालु गिरफ्तार, विजयन के निवास के बाहर प्रदर्शन
  • विजयन के निवास के बाहर श्रद्धालुओं ने किया प्रदर्शन
  • सबरीमला में तनाव बरकरार, भक्ति गीत गाने पर श्रद्धालु गिरफ्तार
  • एचएएल बनायेगा स्वदेशी तेजस लड़ाकू विमान: भामरे
  • सबरीमला मेें मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन: केरल मानवाधिकार आयोग
  • कांग्रेस ने राजस्थान के लिए सभी उम्मीदवार किये घोषित
राज्य Share

पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल करेंगे रैली को संबोधित

पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल करेंगे रैली को संबोधित

मोगा ,12 सितंबर (वार्ता ) पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल तथा अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल 16 सितंबर को फरीदकोट में होने वाली पोलखोल रैली को संबोधित करेंगे ।

यह जानकारी शिअद के पूर्व मंत्री दलजीत चीमा ने आज यहां दी ।उन्होंने कहा कि रैली कांग्रेस सरकार की विफलताओं की पोल खोलने के लिये आयोजित की जा रही हैं । रैली को अन्य वरिष्ठ नेता भी संबोधित करेंगे ।

उन्होंने अमरिंदर सरकार से राज्य में जिला परिषद तथा पंचायत चुनाव स्वतंत्र ,निष्पक्ष तथा शांतिपूर्वक कराये जाने की मांग की ताकि लोगों का लोकतंत्र में भरोसा कायम रहे । पिछले कुछ दिनों में जिस तरीके से नामांकन पत्र भरे जाने के दौरान विपक्षी दल के उम्मीदवारों के साथ हाथापायी की गई उससे निराशा का माहौल बना है ।

श्री चीमा ने स्पष्ट किया कि अकाली दल पंथ का रक्षक रहा है तथा गुरू ग्रंथ साहिब की मर्यादा तथा गरिमा को सुरक्षित रखने के बारे में भली भांति जानता है ।उन्होंने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ पर बरसते हुये कहा कि उनका कहना था कि गांवों में अकालियों को घुसने नहीं दिया जायेगा ।हमने उनके इलाके अबोहर में पोलखोल रैली करके दिखाई ।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस बड़े बादल तथा छोटे बादल को निशाना बनाने की कोशिश में लगी है लेकिन श्री जाखड़ को उचित जवाब दिया जायेगा ।पार्टी कांग्रेस तथा कांग्रेस सरकार की कारगुजारी का पर्दाफाश करेगी ।उन्हें आशंका है कि कांग्रेस शांति तथा सांप्रदायिक सौहार्द को नुकसान पहुंचा सकती है ।

श्री चीमा ने कहा कि पंचायत चुनावों में जिस तरह का माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है उसे देखते हुये कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिये तथा निष्पक्ष ,स्वतंत्र और शांति पूर्व तरीके से चुनाव कराने के लिये केन्द्रीय बलों की तैनाती की मांग की ।

image