Wednesday, May 27 2020 | Time 13:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कर्नाटक में सामूहिक संघर्ष में चार लोगों की मौत
  • सोशल मीडिया पर 28 को कांग्रेस का ‘स्पीक अप इंडिया’ अभियान
  • नालंदा में आंधी में मकान की दीवार गिरने से महिला की मौत, दो घायल
  • कोरोना संक्रमण के नये मामलों में कमी, करीब चार हजार रोगमुक्त
  • झील के भराव में आ रहे अवरोधों को हटाने का काम शीघ्र शुुरु होगा
  • हरियाणा में कोरोना के छह नये मामले, कुल संख्या 1311 हुई, 17 लोगों की मौत
  • मोटरसाइकिल और कार की टक्कर में दो मरे
  • मोदी ने दी नेहरू को श्रद्धांजलि
  • पुणे से उत्तराखंड प्रवासी विशेष ट्रेन से लालकुआं पहुंचे
  • मध्यप्रदेश से ट्रक में चूरापोस्त ला रहे दो अंतरराज्जीय तस्कर गिरफ्तार
  • कोलंबिया में कोरोना के 1,022 नये मामले, संक्रमितों की संख्या 23,003 हुई
  • श्रमिक ट्रेन का टोकन लेने के लिए घंटों कतार में खड़ी महिला की मौत
  • दस हजार की रिश्वत लेते दो खाद्य निरीक्षक गिरफ्तार
  • कुलगाम में सुरक्षा बलों का तलाश अभियान
  • पालनपुर-जोरहाट टाउन के बीच पार्सल विशेष ट्रेन के दो फेरे
राज्य » उत्तर प्रदेश


वाराणसी में कोरोना प्रभावित चार कॉलोनियां सील,ड्रोन कैमरे से निगरानी

वाराणसी में कोरोना प्रभावित चार कॉलोनियां सील,ड्रोन कैमरे से निगरानी

वाराणसी, 06 अप्रैल (वार्ता) उत्तर प्रदेश मेंं वाराणसी के गंगापुर, लोहता, बजरडीहा एवं मदनपुरा क्षेत्रों मेंं कई लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि के बाद उन इलाकों को 'रेड जोन' घोषित कर सामान्य आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लगा कर स्वास्थ्य एवं सुरक्षा निगरानी और बढ़ा दी गई है।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सोमवार को यहां बताया कि जिन क्षेत्रों में कोरोनावायरस संक्रमण मामले की पुष्टि हुई है,वहां विशेष निगरानी की जा रही है । उन्होंने बताया कि उन क्षेत्रों को रेड जोन में तब्दील कर 72 घंटे के लिए सामान्य लोगों की आवाजाही पर वहां प्रतिबंध लगा दिया गया है। आवाजाही के सभी रास्तों को बंद किया गया है।

उन्होंने बताया कि दिल्ली में आयोजित जमात से होकर आए 02, मुरादाबाद मदरसे से पढ़ कर आये 01 तथा गंगापुर में कोरोना संक्रमण से एक व्यक्ति की मृत्यु होने पर इन चारों क्षेत्रों में पूर्व से ही लागू लॉकडाउन प्रतिबंध का दायरा कॉलोनी स्तर मजबूत किया गया । उन्होंने बताया कि जहां-जहां कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आए लोगों को अलग-थलग किया गया है। लोगों का घरों से निकलना बंद करने के साथ ही बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया है। उन क्षेत्रों में आधा घंटे सुबह और शाम रोजमर्रा की आवश्यकता के सामान की खरीद के लिए छूट दी गई है। सब्जी, आवश्यक वस्तु एवं दूध आदि का ठेला इन क्षेत्र में लगे बैरियर तक जाते हैं और लोग एक-एक कर आकर सामान खरीद सकते हैं हैं।

श्री शर्मा ने बताया प्रभावित क्षेत्रों में केवल स्वास्थ्य एवं सुरक्षा व्यवस्था जुड़े लोगों की आवाजाही की इजाजत दी गई है । एक-एक परिवार को घरों से बाहर निकाल कर सड़क पर उनकी स्कैनिंग की जाती है। कोरोना संदिग्धों एवं पीड़ित परिवारों के सभी सदस्य के नमूने लिए जाते हैं तथा उन्हें जांच के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय भेजा जाता हैं।

उन्होंने बताया कि कॉलोनियों में सुरक्षा निगरानी रूम कैमरा के मदद से की जा रही है ताकि समय रहते उचित कदम उठाए जा सकें। उन्होंने सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करने की अपील करते हुए अपने अपने घरों में रहने एवं स्वास्थ्य संबंधी एहतियात बरतने को कहा है।

वीरेन्द्र त्यागी

वार्ता

image