Thursday, Feb 20 2020 | Time 20:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हत्या के दोषी को आजीवन कारावास
  • थाइलैंड से लौटी महिला को रखा पृथकता वार्ड में
  • ऑस्ट्रेलिया में हाई-स्पीड ट्रेन पटरी से उतरी, दो मरे
  • दिव्या, पिंकी और सरिता ने रचा स्वर्णिम इतिहास
  • सीएए के खिलाफ नई याचिकाओं पर केंद्र से जवाब तलब
  • अकाली- भाजपा गठबंधन एनडीए की मजबूती के लिए कार्य करता रहेगा:बादल
  • श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों ने की माेदी से भेंट
  • ऑस्ट्रेलिया प्रबल दावेदार लेकिन भारत भी कम नहीं : मिताली
  • ऑस्ट्रेलिया प्रबल दावेदार लेकिन भारत भी कम नहीं : मिताली
  • बिहार में उद्योग को बढ़ावा देने के लिये सरकार सतत प्रयत्नशील: नीतीश
  • हरियाणा में शराब और बीयर हुई सस्ती, तीन शहरों में बार एक बजे तक खुलें रहेंगे
  • बागेश्वर में पुलिस ने किया तीन किलो से अधिक चरस बरामद
  • वुहान से सौ भारतीयों एवं विदेशियों को वापस लाएगा भारत
  • हैवेल्स ने लाँच किया स्मार्ट पंखा
  • अंतरराष्ष्ट्रीय मातृभाषा दिवस कार्यक्रम में 22 भाषाओं में बोले नायडू
भारत


सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को बेच रही है सरकार : कांग्रेस

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को बेच रही है सरकार : कांग्रेस

नयी दिल्ली, 9 अक्टूबर(वार्ता) कांग्रेस ने सरकार पर आर्थिक मंदी को लेकर बात करने से बचने का आरोप लगाते हुए कहा है कि वह इससे निपटने के उपाय पर नहीं कर रही है और उल्टे लाभ में चलने वाले सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को बेचने की तैयारी में जुटी है।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने बुधवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार निजी क्षेत्र से निवेश को जुटाने में असफल हो रही है और अब लाभ देने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की नवरत्न कंपनियों के विनिवेश की तैयारी कर रही है।

श्री खेड़ा ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी बीपीसीएल लाभ देने वाली कंपनी है और 31 मार्च तक इसका लाभ 31 फीसदी तक बढा है लेकिन सरकार की इस मुनाफा वाली कंपनी को 68 हजार करोड़ रुपए में बेचने की तैयारी है। सरकार की इसको बेचने की तैयारी पहले से ही थी इसलिए उसने 2016 में तीन अधिनियमों को संसद से निरस्त करवा दिया और इस कंपनी को बेचने का रास्ता साफ किया था।

उन्होंने कहा कि इसी तरह से कंटेनर कारपोरेशन ऑफ इंडिया भी लाभ देने वाली कंपनी है लेकिन इसे भी कमजोर किया जा रहा है ताकि इसके विनिवेश को आसान बनाया जा सके। इसी तरह से बीएसएनएल तथा एमटीएनएल जैसी कंपनियां पहले ही बंदी की कगार पर पहुंच चुकी हैं। सार्वजनिक क्षेत्र की इन कंपनियों को बंद कर सरकार लाखों लोगों को बेरोजगार करने की तैयारी कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि आर्थिक जानकारों के अनुसार नोटबंदी के बाद देश की विकास दर 2 से 3 प्रतिशत घटी है। सरकार जीडीपी के पांच प्रतिशत तक रहने का अनुमान लगा रही है लेकिन अर्थशास्त्री मानते हैं कि यह इससे भी कम है। बजट में सरकार का आकलन 7.44 लाख करोड़ रुपए था जो घटकर अब 6.44 लाख करोड रुपए रह गया है। निजी निवेश 16 साल में सबसे कम हुआ है। सरकार का कोई भी प्रयास मंदी से बाहर निकलने का नहीं हो रहा है।

अभिनव जितेन्द्र

वार्ता

More News
युवा सार्वजनिक जीवन में सक्रिय रुप से हिस्सा लें :वेंकैया

युवा सार्वजनिक जीवन में सक्रिय रुप से हिस्सा लें :वेंकैया

20 Feb 2020 | 7:59 PM

नयी दिल्ली 20 फरवरी (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम वेंकेया नायडू ने युवाओं से सक्रिय रुप से सार्वजनिक जीवन में हिस्सा लेने का आह्वान करते हुए गुरुवार को कहा कि राजनीति, जनसेवा और सामाजिक-आर्थिक बदलाव लाने का एक सशक्‍त माध्‍यम है।

see more..
शाहीन बाग का दूसरे दिन भी नहीं निकला समाधान

शाहीन बाग का दूसरे दिन भी नहीं निकला समाधान

20 Feb 2020 | 7:44 PM

नयी दिल्ली, 20 फरवरी (वार्ता) नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर तथा राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ शाहीन बाग में सत्तर दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को कालिंदी कुंज मार्ग से हटाने को लेकर गुरुवार को भी कोई समाधान नहीं निकला और प्रदर्शनकारी अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं।

see more..
image